यूपी विधानसभा चुनाव : वोटिंग से पहले सभी मतदाताओं और कार्मिकों की सुरक्षा करेगा वैक्सीन का कवच

UP Chunav 2022 यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर इन दिनों तैयारियों का क्रम तेज है। चंदौली में इन दिनों कोरोना संक्रमण के तहत गाइड लाइन को ध्‍यान में रखते हुए मतदान और चुनाव की अन्‍य तैयारियों के पक्षों को ठीक किया जा रहा है।

Saurabh ChakravartyPublish: Thu, 20 Jan 2022 09:45 PM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 09:45 PM (IST)
यूपी विधानसभा चुनाव : वोटिंग से पहले सभी मतदाताओं और कार्मिकों की सुरक्षा करेगा वैक्सीन का कवच

चंदौली, जागरण संवाददाता। विधानसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। कोरोना संक्रमण काल में सकुशल मतदान कराना प्रशासन के लिए चुनौती है। चंदौली में सातवें चरण में सात मार्च को वोट डाले जाएंगे। इसके पूर्व प्रत्येक वोटर व मतदान कार्मिकों को वैक्सीन के कवच से सुरक्षित करने की मुहिम शुरू हो चुकी है। मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए मतदाताओं को वोट की महत्ता बताई जा रही है। उन्हें पूरे उत्साह के साथ लोकतंत्र के महापर्व में योगदान देने के लिए प्रेरित किया जा रहा। इन्हीं मुद्दों पर चंदौली के जिलाधिकारी संजीव सिंह से वरिष्ठ संवाददाता विजय सिंह जूनियर ने बातचीत की। प्रस्तुत हैं प्रमुख अंश...।

- कोरोना संक्रमण काल में बूथों पर सुरक्षित मतदान को लेकर प्रशासन की क्या तैयारी है?

- संक्रमण से बचाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने गाइडलाइन जारी की है। इसका अनुपालन कराया जाएगा। प्रत्येक बूथ पर ग्लब्स, सैनिटाइजर समेत संक्रमण से बचाव के मुकम्मल इंतजाम किए जाएंगे। मतदाता मास्क लगाकर, ग्लब्स पहनकर सैनिटाइज्ड हाथों से ही ईवीएम का बटन दबाएंगे। स्वास्थ्य विभाग बूथों से निकलने वाले मेडिकल वेस्टेज का सही ढंग से निस्तारण कराएगा।

- मतदान कार्मिकों की हिफाजत के लिए क्या इंतजाम किए जाएंगे?

- आयोग के निर्देशानुसार कार्मिकों को कोरोना से बचाव के लिए पीपीई किट, फेस शील्ड, मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स आदि की व्यवस्था रहेगी। सभी को बूस्टर डोज लगवाई जा रही है। पोलिंग पार्टियों की रवानगी से पूर्व सभी की थर्मल स्कैनिंग कराई जाएगी।

- मतदाताओं को बूथों तक लाने के लिए क्या विशेष प्रयास होंगे?

- 2017 के विधानसभा चुनाव में जिले में 63.09 फीसद मतदान हुआ था। महिलाओं के मतदान का आंकड़ा 65.58 प्रतिशत रहा। इस बार भी मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए स्वीप कार्यक्रम के तहत मतदाताओं को जागरूक किया जा रहा है। पिछले चुनाव में कम पोलिंग वाले बूथों को चिह्नित किया जा रहा है। मोबाइल वैन का भ्रमण, ईवीएम माक पोल समेत अन्य गतिविधियां आयोजित कराई जाएंगी। स्कूलों में मतदाता जागरूकता रैलियां, रंगोली और निबंध प्रतियोगिता का आयोजन कर लोगों को लोकतंत्र में मताधिकार का महत्व समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

- अशक्त व दिव्यांग मतदाताओं के मतदान के लिए क्या इंतजाम हैैं?

आयोग ने अशक्त व दिव्यांग मतदाताओं के मतदान के लिए पहली बार पोस्टल बैलेट की सुविधा शुरू की है। ऐसे लोगों को चिह्नित कर फार्म 12 डी भरवाया जाएगा। इन्हें घर से ही मतदान की सुविधा प्रदान की जाएगी।

- मतदान केंद्रों पर क्या-क्या तैयारियां चल रही हैं?

- विधानसभा चुनाव के लिए 925 मतदान केंद्रों के 1,694 मतदेय स्थलों पर वोट डाले जाएंगे। आयोग के मानक के अनुरूप सभी बूथों पर सफाई, पेयजल, शौचालय, प्रकाश आदि की व्यवस्था कराई जा रही है। मतदान केंद्रों पर जाने वाले मार्गों की मरम्मत कराई गई है। दिव्यांग मतदाताओं की सुविधा के लिए रैंप व ह्वील चेयर की व्यवस्था रहेगी। दिव्यांगजन सहायक के साथ बूथ पर जाकर मतदान कर सकेंगे।

जिलाधिकारी की जनता से अपील

लोकतंत्र सभी नागरिकों को अपना प्रतिनिधि चुनने का अवसर देता है। इस अवसर को घर बैठकर न गंवाएं, बल्कि मतदान के दिन बूथों पर जाकर मतदान कर जिम्मेदार नागरिक होने का फर्ज निभाएं। सभी जन वैक्सीन की दोनों डोज लगवाएं। बूथों पर भी वैक्सीनेशन किया जा रहा है।

Edited By Saurabh Chakravarty

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept