वाराणसी में अभी तीन दिन और कंपाएंगी बर्फीली हवाएं, वसंती होने की ओर प्रदेश का मौसम

Varanasi Weather Report मौसम विज्ञानियों का मानना है कि बस दो-तीन दिन और बर्फीली हवाओं का प्रभाव रहेगा। इसके बाद फरवरी की शुरुआत से ही मौसम वासंती होने लगेगा। दो-तीन दिन बाद लाेगों को ठंड से निजात मिल जाएगी।

Abhishek SharmaPublish: Sat, 29 Jan 2022 10:35 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 10:35 AM (IST)
वाराणसी में अभी तीन दिन और कंपाएंगी बर्फीली हवाएं, वसंती होने की ओर प्रदेश का मौसम

वाराणसी, जागरण संवाददाता। पश्चिम की ओर से आ रही बर्फीली हवाओं ने मौसम में गलन बढ़ा रखी है। खिलकर धूप होने के बाद भी न्यूनतम तापमान में निरंतर कमी आ रही है, इससे ठंड का असर कम होने का नाम नहीं ले रहा। सुबह-शाम गलन बढ़ जाने से लोगों की मुश्किलें कम नहीं हो रहीं, हालांकि अब ऐसा ज्यादा दिन नहीं रहने वाला। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि बस दो-तीन दिन और बर्फीली हवाओं का प्रभाव रहेगा। इसके बाद फरवरी की शुरुआत से ही मौसम वासंती होने लगेगा। अब तक गिर चुका न्यूनतम तापमान भी अब और नहीं गिरेगा। दो-तीन दिन बाद लाेगों को ठंड से निजात मिल जाएगी।

शनिवार की सुबह से ही खिलकर धूप निकली है, फिर भी हवाओं के जोर से छायादार स्थानों तक उसका प्रभाव नहीं पहुंच पा रहा है। धूप में रहते हुए तो ठंड नहीं महसूस हो रही लेकिन छाया में पहुंचते ही दिन छह किमी प्रति घंटा के वेग से चल रही हवाओं के चलते गलन कंपकंपा दे रही है। ठंड कपड़ों के भीतर तक महसूस हो रही है। अभी हालांकि हल्के-हल्के बादल कहीं-कहीं हैं, उम्मीद है कि दोपहर बाद वे छंट जाएंगे और आसमान पूरी तरह से साफ हो जाएगा, धूप का प्रभाव बढ़ेगा, हवाओं के चलते अधिकतम तापमान कुछ कम जरूर होगा लेकिन न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होगी। शनिवार को अधिकतम तापमान जहां 21 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है, वहीं न्यूनतम तापमान घटकर 7.1 डिग्री सेल्सियस से बढ़कर 8.00 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है।

बीएचयू के मौसम विज्ञानी प्रो. मनोज कुमार श्रीवास्तव बताते हैं कि पहाड़ों पर हुई बर्फबारी और पश्चिमी हिस्से में हुई जोरदार बारिश के चलते उधर से ठंडी हवाएं आ रही हैं। अब चूंकि बादल हट रहे हैं और फिलहाल कोई विक्षोभ नहीं दिख रहा है, इसलिए इन हवाओं की तासीर अब कम होगी, इनका वेग भले बहुत न घटे लेकिन गलन में कमी आएगी। फिलहाल दो-तीन दिनों तक इनका प्रभाव बना रहेगा। मौसम में व्याप्त आर्द्रता भी 97 फीसद है, इसकी वजह से ये हवाएं ठंड का कहर ढा रही हैं। लगातार धूप खिलने से आर्द्रता में भी कमी आएगी तो ये सारी परिस्थितियां मिलकर मौसम को सुधार की ओर ले जाएंगी। इसलिए ठंड का मुकाबला दो-तीन दिन और करना हाेगा। इसके बाद मौसम वासंती होने लगेगा।

Edited By Abhishek Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept