काशी में राष्ट्रीय चिकित्सा विज्ञान अकादमी ने की पीएम मोदी को मानद फेलोशिप देने की घोषणा

आयोजन चिकित्सा विज्ञान संस्थान बीएचयू की ओर से 28 नवंबर तक हो रहा है। इसकी मुख्य अतिथि तेलंगाना की राज्यपाल व पुडुचेरी की उपराज्यपाल डा. तमिलिसाई सौन्दराराजन हैं। इस बाबत उन्‍होंने आयोजन में शामिल होने को लेकर इंटरनेट मीडिया में भी जानकारी साझा की है।

Abhishek SharmaPublish: Sat, 27 Nov 2021 04:02 PM (IST)Updated: Sat, 27 Nov 2021 04:33 PM (IST)
काशी में राष्ट्रीय चिकित्सा विज्ञान अकादमी ने की पीएम मोदी को मानद फेलोशिप देने की घोषणा

वाराणसी, जागरण संवाददाता। राष्ट्रीय चिकित्सा विज्ञान अकादमी के 61वां वार्षिक सम्मेलन की शुरुआत शनिवार की शाम को कृषि विज्ञान संस्थान के शताब्दी सभागार में हुई। वैसे इसकी औपचारिक शुरूआत शुक्रवार को ही हो गई थी। यह आयोजन चिकित्सा विज्ञान संस्थान, बीएचयू की ओर से 28 नवंबर तक हो रहा है। इसकी मुख्य अतिथि तेलंगाना की राज्यपाल व पुडुचेरी की उपराज्यपाल डा. तमिलिसाई सौन्दराराजन हैं। इस बाबत उन्‍होंने आयोजन में शामिल होने को लेकर इंटरनेट मीडिया में भी जानकारी साझा की है। इस दौरान काशी में राष्ट्रीय चिकित्सा विज्ञान अकादमी ने की पीएम मोदी को मानद फेलोशिप देने की घोषणा भी की गई है। 

करीब दो दशक बाद यहां पर यह कार्यक्रम हो रहा है। इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मानद फेलोशिप देने की घोषणा की जानी है। अकादमी की ओर से पीएम को यह सम्मान देश में स्वास्थ्य सेवाओं के उत्थान व कोरोना महामारी के खिलाफ सफल लड़ाई में उनके अग्रणी योगदान के लिए दिया जाना है। सम्मेलन के आयोजक व आइएमएस के डीन (रिसर्च) प्रो. अशाेक कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय चिकित्सा विज्ञान अकादमी 1961 में स्थापित की गई थी। अकादमी देश में स्वास्थ्य सेवाओं की योजना व प्रबंधन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

बताया कि पीएम को यहां से मानद फैलोशिप प्रदान करने की घोषणा की जाएगी। कार्यक्रम के सम्मानित अतिथि केंद्रीय राज्य वित्तमंत्री डा. भागवत कराड आनलाइन कार्यक्रम में शामिल होंगे। कार्यक्रम के संरक्षक कार्यवाहक कुलपित प्रो. वीके शुक्ला व संस्थान के निदेशक प्रो. बीआर मित्तल संरक्षक हैं। सम्मेलन में दिनों में कुल 10 वैज्ञानिक सत्र होंगे। सात व्याख्यान, सात पुरस्कार पत्र व 48 पोस्टर प्रस्तुत किए जाएंगे। इस दौरान 52 चिकित्सकों, वैज्ञानिकों को फेलोशिप व 106 युवा डाक्टरों को सदस्यता दी जाएगी। इसमें गैस्ट्रोएंट्रोलाजी विभाग के प्रो. वीके दीक्षित, बाल रोग विभाग के प्रो. राजनीति प्रसाद व जनरल सर्जरी विभाग के प्रो. राहुल खन्ना को फेलोशिप के लिए चुना गया है। उनको यह सम्मान चिकित्सा क्षेत्र में बेहतर कार्य करने पर दिया जाना है। सवागत चिकित्सा विज्ञान संस्थान के निदेशक प्रो. बीआर मित्तल ने किया।

Edited By Abhishek Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम