This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

एक जुलाई से लौटेगी छपरा- लखनऊ स्पेशल ट्रेन, यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने लिया निर्णय

यात्रियों की सुविधा के मद्देनजर गाड़ी संख्या - 05053/54 छपरा -लखनऊ स्पेशल ट्रेन का संचलन एक जुलाई से बहाल किया जा रहा है। यह गाड़ी पूर्व निर्धारित समय और दिन से ही चलाई जाएगी। पूर्वोत्तर रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार ट्रेन के रैक संरचना में भी परिवर्तन किया गया।

Saurabh ChakravartyWed, 16 Jun 2021 11:10 PM (IST)
एक जुलाई से लौटेगी छपरा- लखनऊ स्पेशल ट्रेन, यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने लिया निर्णय

वाराणसी, जेएनएन। यात्रियों की सुविधा के मद्देनजर गाड़ी संख्या - 05053/54 छपरा -लखनऊ स्पेशल ट्रेन का संचलन एक जुलाई से बहाल किया जा रहा है। यह गाड़ी पूर्व निर्धारित समय और दिन से ही चलाई जाएगी। पूर्वोत्तर रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी अशोक कुमार के अनुसार ट्रेन के रैक संरचना में भी परिवर्तन किया गया है। ट्रेन में दो एसएलआरडी श्रेणी के कोच, आठ शयनयान, आठ साधारण, दो एसी तृतीय श्रेणी, एक दितीय श्रेणी का एसी कोच लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि एक जुलाई से गाड़ी संख्या - 05083/84 छपरा -फर्रुखाबाद स्पेशल का भी संचालन किया जाएगा।

विशेष ट्रेन के फेरो में विस्तार

यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने विभिन्न ट्रेनों के संचलन में विस्तार करने का निर्णय लिया है। इसके तहत गाड़ी संख्या -05018/17 गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्मिनल स्पेशल 30 जून तक चलाई जाएगी। गाड़ी संख्या -02581/82 मंडुआडीह सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन का फेरा 30 जून तक बढ़ाया जाएगा। गाड़ी संख्या -05120/19 मंडुआडीह -रामेश्वरम स्पेशल 30 जून तक अगले आदेश तक चलाई जाएगी।

जनता और पंजाब मेल रद

उत्तर रेलवे के जायस, फुरसतगंज व रूपापुर स्टेशन पर प्रस्तावित नॉन इंटरलॉकिंग के चलते कैंट स्टेशन से गुजरने वाली गाडियां प्रभावित रहेंगी। रेलवे प्रशासन के अनुसार गाड़ी संख्या-03005/06 पंजाब मेल स्पेशल ट्रेन 16 से 26 जून तक अस्थाई रूप से निरस्त रहेगी। वही गाड़ी संख्या - 04265/66 का संचालन 16 से 26 जून तक रद रखा गया है।

रेलवे पटरी के किनारे हटाए गए अवरोध

मानसून की आहट के बाद रेल महकमा तैयारियों में जुट गया है। मुंबई की बारिश से सबक लेते हुए कैच ड्रेन वाटर की सफ़ाई कराई जा रही है, वही बोल्डर फॉलिंग एरिया को चिन्हित कर उस स्थान को सुरक्षित किया जा रहा है। रेलवे इंजिनियरिंग विभाग की इस कवायद से ट्रेनों के परिचालन में मूसलाधार बारिश और आंधी बाधा उत्पन्न नही करेगी।

कुछ दिनों पहले रेलवे मंत्री पियूष गोयल ने मानसून की तैयारियों के बाबत रेलवे बोर्ड के अफसरों संग समीक्षा की थी। मुम्बई में बारिश से उत्पन्न परिचालन से जुड़ी समस्याओं पर गंभीरता से विचार किया गया था। इस बाबत संयुक्त प्लान बनाकर उसे भारतीय रेलवे में लागू करने का निर्देश दिया था। जिसके अनुपालन में क्षेत्रीय रेलवे ने योजनाबद्ध तरीके से कार्य कराना शुरु कर दिया। इसके तहत ट्रैक के किनारे पेड़ की शाखाओं और टहनियों की छटाई कराई गई। मर्ड पंपिंग की निगरानी बढ़ा दी गई है। ट्रैकमैन को पूरी तरह से अलर्ट कर दिया गया है। लखनऊ मंडल के एईएन पियूष पाठक ने बताया कि संरक्षा संगोष्ठी के जरिए पेट्रोल मैन को प्रशिक्षित किया जा रहा है। मानसून में काम करने के तौर तरीको की जानकारी दी जा रही है।

Edited By: Saurabh Chakravarty

वाराणसी में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
 
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner