काशी-अयोध्या ट्रैक पर 130 की रफ्तार से ट्रेन दौड़ाने की तैयारी, सीसीआरएस ने निरीक्षण कर दिए निर्देश

भगवान शिव व श्रीराम की नगरी यानी काशी और अयोध्या के बीच ट्रेनों की रफ्तार तेज करने के साथ ही मिशन रफ्तार को गति देनेसुरक्षित एवं संरक्षित यात्रा पर जोर देते हुए सीसीआरएस शैलेष पाठक ने सोमवार को वाराणसी से अयोध्या तक विंडो निरीक्षण कर अधिकारियों को कई निर्देश दिए।

saurabh chakravartiPublish: Mon, 23 Nov 2020 09:45 PM (IST)Updated: Mon, 23 Nov 2020 09:45 PM (IST)
काशी-अयोध्या ट्रैक पर 130 की रफ्तार से ट्रेन दौड़ाने की तैयारी, सीसीआरएस ने निरीक्षण कर दिए निर्देश

वाराणसी, जेएनएन। भगवान शिव व श्रीराम की नगरी यानी काशी और अयोध्या के बीच ट्रेनों की रफ्तार तेज करने के साथ ही मिशन रफ्तार को गति देने, सुरक्षित एवं संरक्षित यात्रा पर जोर देते हुए रेलवे के मुख्य संरक्षा आयुक्त (सीसीआरएस) शैलेष पाठक ने सोमवार को वाराणसी से अयोध्या तक विंडो निरीक्षण कर अधिकारियों को कई निर्देश दिए।

वाराणसी से फरक्का एक्सप्रेस में जोड़े गए कैरेज से अधिकारियों के साथ ङ्क्षवडो निरीक्षण करते सीसीआरएस शिवपुर, जफराबाद, जौनपुर, अकबरपुर, मालीपुर, शाहगंज होते हुए अयोध्या पहुंचे। रास्ते भर उन्होंने ट्रेैक पर हो रहे कार्याे का बारीकी से निरीक्षण किया। कई स्थान पर दिखे बेहतर कार्यों की उन्होंने सराहना की तो कई कार्यों के प्रति अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया। मुख्य संरक्षा आयुक्त शैलेष पाठक ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि रेलवे मिशन रफ्तार पर जोर दे रहा है ताकि ट्रैक पर ट्रेनों की रफ्तार 130 किलो मिटर प्रति घंटे तक किया जा सके। इसमें यात्रियों की सुरक्षा व संरक्षा को भी ध्यान में रखा जाएगा। ट्रैक की सेफ्टी पर जोर देते हुए उन्होंने अधिकारियों को कई टिप्स भी दिए। अयोध्या तक विंडो निरीक्षण कर दिल्ली रवाना हो गए। निरीक्षण के दौरान उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल के एडीआरएम इंफ्रा विकास पांडेय, सीनियर डीईएम तृतीय व पंचम, एईएन जौनपुर, एईएन वाराणसी पियूष पाठक, चीफ पीडब्ल्यूआइ सहित अन्य अधिकारी शामिल थे।

 

Edited By saurabh chakravarti

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept