This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Varanasi जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव की बजी घंटी, 15 जून से तीन जुलाई के बीच चुनाव

वाराणसी के जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी किसी भी पार्टी के लिए आसान नहीं होगी। हालांकि सोमवार को एक रिक्त जिला पंचायत सदस्य की सीट का परिणाम सपा के पक्ष में आना उसके मनोबल को और बढ़ाने में काम करेगा।

Saurabh ChakravartyTue, 15 Jun 2021 01:14 PM (IST)
Varanasi जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव की बजी घंटी, 15 जून से तीन जुलाई के बीच चुनाव

वाराणसी, जेएनएन। राज्य निर्वाचन आयोग जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर शीघ्र अधिसूचना जारी कर सकता है। राज्यपाल ने 15 जून से तीन जुलाई के बीच चुनाव कराने की तिथि निर्धारित कर दी है। इधर राजनीति पार्टियां भी सक्रिय हो गई हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी किसी भी पार्टी के लिए आसान नहीं होगी। हालांकि सोमवार को एक रिक्त जिला पंचायत सदस्य की सीट का परिणाम सपा के पक्ष में आना, उसके मनोबल को और बढ़ाने में काम करेगा।

सपा जिला पंचायत सदस्य की 40 सीटों में से सर्वाधिक पर जीत का दावा पहले ही कर चुकी है। हालांकि भाजपा भी पीछे नहीं है। यह तय है कि प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी हासिल करने के लिए भाजपा मजबूती के साथ ताना बाना बुनेगी। सपा के लिए भी यह सीट सम्मान सरीखा होगा। पार्टी हर संभव कोशिश में जुटेगी कि जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी सपा के पाले में ही आए। बहरहाल, समय का इंतजार करना होगा।

जिला पंचायत सदस्य की रिक्त सीट पर सपा समर्थित नीलम सोनकर विजयी

चिरईगांव ब्लाक के सेक्टर -4 के रिक्त जिला पंचायत सदस्य की सीट पर सपा समर्थित नीलम सोनकर 4914 वोट पाकर विजयी रहीं। प्रतिद्वंद्वी भाजपा समर्थित रामदुलारी मात्र 1816 वोट ही पा सकीं। हालांकि इस सीट को जीतने के लिए दोनों पार्टियों की ओर से जी जान से प्रयास किए गए थे लेकिन भाजपा बूथ तक वोट पहुंचाने में सफल नहीं रही। लिहाजा सपा कामयाब रही। ब्लाक पर जिला पंचायत सदस्य के लिए वोटों की गिनती सुबह आठ बजे शुरू हुई। शाम तक परिणााम घोषित कर दिया गया। आरओ के मुताबिक आरक्षित एससी महिला इस सीट पर 13 प्रत्याशी मैदान में थीं। कुल 14970 वोट पड़े थे।

गिनती के दौरान 383 मतपत्र अवैध घोषित कर दिए गए। भंदहाकला कैथी की नीलम सोनकर 4914 वोट पाकर विजयी रहीं। प्रतिद्वंद्वी राम दुलारी को 1816 वोट मिले। इसी क्रम में गुंजन देवी को 1660, मनाेरमा को 1419, उषा देवी को 1100, उषा सोनकर 580, माधुरी देवी को 855, रमला को 637, बबिता को 587, मधुबाला को 348, नीतू देवी को 235, चंपा को 199 व माधुरी कुमारी 90 वोट हासिल हुए। सपा समर्थित नीलम सोनकर की जीत से सपाई खुश नजर आए। परिणाम आने के बाद सपा जिलाध्यक्ष सुजीत यादव, सपा नेता अवधेश पाठक, आनंद मोहन गुड्डू आदि ने कार्यालय गेट के सामने बधाई दी। नीलम ने यह सीट अपनी माता व जिला पंचायत सदस्य सुशीला सोनकर की मृत्यु के उपरांत हुए उपचुनाव में जीती हैं।

 

वाराणसी में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!