खेतों में गन्ना, मिल बंद होने की सूचना

किसानों को प्रशासन ने दिया अल्टीमेटम 24 फरवरी से चीनी मिल में पेराई का पहिया थम जाएगा।

JagranPublish: Sun, 21 Feb 2021 11:20 PM (IST)Updated: Sun, 21 Feb 2021 11:20 PM (IST)
खेतों में गन्ना, मिल बंद होने की सूचना

सुलतानपुर : आगामी 24 फरवरी को सैदपुर स्थित चीनी मिल का पहिया थम जाएगा। किसानों से कोई गन्ना नहीं खरीदा जाएगा, जिससे उनकी चिता बढ़ गई है। दरअसल, काफी किसानों के खेतों में गन्ना खड़ा है। ऐसे में मजबूरी का लाभ बिचौलिए उठा रहे हैं।

गन्ना पर्ची से लेकर कर्मियों की लापरवाही तो कभी टरबाइन में खराबी से पेराई नहीं हो पा रही है। उद्घाटन के 15 दिनों के भीतर ही छह बार चीनी मिल का पहिया ठप हुआ। अब तक दर्जनों बार यांत्रिक खराबी के चलते मिल बंद हुई। मिल की मरम्मत के लिए शासन ने 80 लाख रुपये अवमुक्त किए थे। लेकिन, स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ। जर्जर सयंत्र के चलते आए दिन मिल का पहिया थम रहा है, जिसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है। चीनी मिल प्रबंधक प्रताप नारायण ने बताया कि जब तक किसानों का गन्ना खेत में है, तब तक मिल बंद नहीं होगी। पेराई का काम जारी रहेगा।

हॉयल पर्चियों ने बढ़ाई मुसीबत :

जिले के पटना क्रय केंद्र के किसानों की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। हॉयल पर्ची पर तौल न होने से गन्ना किसान परेशान है उनका गन्ना खेतों में कटा सूख रहा है। उनका कहना है कि कभी वाहन नहीं तो कभी कर्मी नहीं, जिससे लगातार तौल नहीं हो पाई। क्षेत्र के सभी किसानों का गन्ना नहीं लिया जा सका। किसानों का आरोप है कि अयोध्या से संबद्ध संबद्ध मसोधा चीनी मिल के किसानों को पटना क्रय केंद्र के दूसरे सेंटर पर तनिक भी मुश्किलें नहीं हुई।

सुने इनकी पीड़ा :

बिसेना के त्रिभुवन वर्मा, नेवरी के पंकज वर्मा व धंजई के अनंत बहादुर सिंह सहित ऐसे कई किसान हैं, जिनके खेतों में अभी गन्ना खड़ा हुआ है। इनकी पर्ची कटी थी, मगर समय से तौल न हो पाने की स्थिति में हॉयल हो गईं। वहीं, प्रबंधन मिल बंद होने की नोटिस जारी कर रहा है। इससे किसानों के सामने समस्या खड़ी हो गई है।

धान की सरकारी खरीद बंद होने से किसान परेशान :

विकास खंड प्रतापपुर कमैचा के विपणन गोदाम पर धान की खरीद पखवारा पूर्व ही बंद कर दी गई, जिससे किसान धान का समर्थन मूल्य पाने के लिए परेशान हैं। आरोप है कि गोदाम प्रभारी रात में बिचौलियों के माध्यम से धान की खरीद कर रहे हैं। पीड़ित किसानों के साथ भाजपा मंडल अध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह ने मामले की शिकायत जिलाधिकारी से की है।

शासन ने एक नवंबर से 28 फरवरी तक धान खरीदने के लिए सभी क्रय केंद्र प्रभारियों को आदेश दिया था। केंद्र पर अव्यवस्था न हो इसके लिए टोकन की व्यवस्था तय की गई थी। बावजूद इसके विकास खंड पीपी कमैचा के खाद्यान्न गोदाम पर धान खरीद में मनमानी हावी रही।

किसान माधवश्याम, रामसुमेर व शेषमणि समेत दर्जनों किसानों ने मंडल अध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में मामले की शिकायत जिलाधिकारी से की है। उपजिलाधिकारी लम्भुआ राम अवतार ने बताया कि मामले की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि 28 फरवरी तक धान की खरीद होगी। इस दौरान किसान अपना धान क्रय केंद्र पर ले जाकर तौल करा सकते हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम