This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

तीन दिनों से विद्युत आपूर्ति बंद, अंधेरे में है 50 हजार आबादी

उपभोक्ताओं को तीन दिनों से विद्युत कटौती का दंश झेलना पड़ रहा है। ग्रामीणों को पेयजल समेत अन्य समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। इसको लेकर रहवासियों में विभाग के खिलाफ आक्रोश देखा जा रहा है। चेतावनी दी अगर शीघ्र ही समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो आंदोलन किया जाएगा।

JagranThu, 16 Sep 2021 04:53 PM (IST)
तीन दिनों से विद्युत आपूर्ति बंद, अंधेरे में है 50 हजार आबादी

जागरण संवाददाता, गुरमा(सोनभद्र) : जिले में लगातार तीन दिनों से हो रही बारिश के चलते विद्युत आपूर्ति व्यवस्था भी चरमरा गई है। गुरमा विद्युत फीडर से जुड़े 50 हजार उपभोक्ताओं को तीन दिनों से विद्युत कटौती का दंश झेलना पड़ रहा है। ग्रामीणों को पेयजल समेत अन्य समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। इसको लेकर रहवासियों में विभाग के खिलाफ आक्रोश देखा जा रहा है। चेतावनी दी अगर शीघ्र ही समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो आंदोलन किया जाएगा।

विद्युत कटौती का दंश मारकुंडी घाटी से लेकर सोन नदी के किनारे तक दर्जनों गांवों के उपभोक्ताओं को झेलना पड़ रहा है। विद्युत आपूर्ति बंद होने से गुरमा, मारकुंडी, मकरीबारी, केवटा, सलखन, बेलछ, रुदौली, महुआव, रजधन, पईका, गगटी, करगरा, भभाईच, मीतापुर, रेडिया, बंधवा, कुरुहुल, अदलगंज, बेलकप, पटवध, कनछ, कन्हौरा से लेकर चकरिया तक अंधेरा छाया हुआ है। तीन दिन से अनरवत बारिश के चलते विद्युत आपूर्ति बंद होने से आम जनमानस में आक्रोश व्याप्त है। रहवासी अमित सिंह, चंदन सिंह, सुबाष, रामलखन, अशोक निषाद, शिवरतन सिंह गोंड़ आदि ने बताया कि गुरमा विद्युत फीडर के अंतर्गत पिछले वर्षों से ही अवई फासिल्स पार्क व चकरिया में सब स्टेशन का निर्माण कराकर लोगों को निर्बाध आपूर्ति देनी थी, लेकिन अभी तक दोनों उपकेंद्र विभागीय अधिकारियों के उदासीनता के चलते अधर में लटका है। इसका खामिया गुरमा विद्युत फीडर के उपभोक्ताओं को झेलना पड़ रहा है।

Edited By Jagran

सोनभद्र में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!