कायाकल्प भूल जाओ, सबेरे शराब की बोतल उठाओ

जिला मुख्यालय के परिषदीय विद्यालयों का बुरा हाल जिम्मेदार अनजान

JagranPublish: Mon, 13 Dec 2021 11:47 PM (IST)Updated: Mon, 13 Dec 2021 11:47 PM (IST)
कायाकल्प भूल जाओ, सबेरे शराब की बोतल उठाओ

सीतापुर (विनीत पांडेय):

ग्रामीण क्षेत्र की जानें दीजिए, जिम्मेदार मुख्यालय के परिषदीय विद्यालयों को नहीं सुधार सके हैं। कायाकल्प का शिलापट लगा है लेकिन, स्कूलों की स्थिति बुरी है। कहीं बच्चों और शिक्षकों का स्वागत शराब की बोतलें करती हैं तो कहीं जर्जर स्कूल में भविष्य संवारने के दावे हो रहे हैं।

समय दोपहर 12 बजे

कंपोजिट विद्यालय परेड में प्रधानाध्यापक मोजिज नुमां व सहायक अध्यापिका आफरीन जहरा मिलीं। बच्चे एमडीएम के लिए लाइन लगाए थे। छात्र गौरव व राहुल ने बताया अभी स्वेटर व जूते मोजे नहीं मिले हैं। शिक्षकों ने बताया डीबीटी के तहत 81 बच्चों का डाटा फीड करके भेज दिया है। अभी पैसे खातों में नहीं आए हैं। प्राथमिक विद्यालय नई बस्ती में शिक्षामित्र दीप्ति वैश्य थीं, जबकि प्रधानाध्यापक नेहा श्रीवास्तव अवकाश पर थीं। यहां 36 बच्चे पंजीकृत हैं। शिक्षामित्र ने बताया डीबीटी की सूची भेज दी गई है। अभी तक खातों में पैसा नहीं आया है। प्राथमिक विद्यालय गांधी नगर में शिक्षामित्र मनीष कुमार ने बताया यहां 94 बच्चे पंजीकृत हैं। यहां भी अधिकांश बच्चे बिना स्वेटर, जूते मोजे के थे। मनीष कुमार ने बताया डीबीटी का पैसा अभी तक खातों में नहीं पहुंचा है। प्रावि विजय लक्ष्मी नगर में भी बच्चों को स्वेटर, जूते मोजे नहीं मिले हैं। प्राथमिक विद्यालय नई बस्ती का संचालन किराये के भवन में हो रहा है। यहां एक कमरे व बरामदे में आफिस, रसोई, क्लासरूम सब कुछ है। विद्यालय में शौचालय तक की व्यवस्था नहीं है। प्रावि गांधी नगर के गेट पर बाइक खड़ी रहती हैं। शिक्षामित्र मनीष का कहना है कि 6 सितंबर को सिटी मजिस्ट्रेट को प्रार्थना पत्र लिखकर समस्या से अवगत कराया, लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकला है। प्राथमिक विद्यालय विजय लक्ष्मी नगर परिसर में शराब की बोतल पड़ी थी। दीवारों में पेड़ों की जड़ें निकल आईं हैं। छत की सरिया दिख रही है। मध्यावकाश में बच्चे जर्जर भवन के बरामदे में खेल रहे थे। विद्यालय में प्रावि अंबेडकर नगर के प्रशिक्षु शिक्षक शिवम कनौजिया व रसोइया कांति मिलीं। शिवम ने बताया यहां तैनात शिक्षिका संगीता अवकाश पर हैं, इसलिए मुझे विकल्प के तौर पर भेजा गया है। कांती ने बताया रात में अराजक तत्व आकर विद्यालय में शराब पीते हैं और परिसर को गंदा कर देते हैं।

शिलान्यास का लगा पत्थर काम शुरू नहीं

प्रावि विजय लक्ष्मी नगर में नगर पालिका का मिशन काया कल्प के तहत पांच लाख छह हजार रुपये से काम होने के शिलान्यास का पत्थर लगा है। अभी तक विद्यालय भवन का निर्माण कार्य शुरू ही नहीं हुआ है। प्रधानाध्यापक संगीता का मोबाइल नंबर बंद था।

वर्जन

बैंकों में धनराशि ही नहीं आई है, इसलिए बच्चों के खातों में नहीं गया है। प्रावि विजय लक्ष्मी नगर के जर्जर भवन को निष्प्रयोज्य किया जा चुका है, नीलामी होनी है। कायाकल्प के तहत निर्माण कार्य पालिका परिषद कराएगा। शीघ्र कार्य के लिए पालिका को पत्र लिखा गया है।

आराधना अवस्थी, बीईओ नगर

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept