सकारपार में बेसहारा पशुओं का ठिकाना नहीं

कृषि सुरक्षा व गोरक्षा के लिए गोशालाओं में बेसहारा पशुओं को रखने की सरकारी मंशा तार तार हो रही है। सरकार की तमाम प्रयास के बाद भी बेसहारा पशु सड़कों पर अपना ठिकाना बनाए हुए हैं। इससे किसान तो परेशान हो ही रहे साथ ही मार्ग भी अवरूद्ध होने के साथ राहगीरों के लिए खतरा भी बना हुआ है।

JagranPublish: Fri, 22 Oct 2021 10:52 PM (IST)Updated: Fri, 22 Oct 2021 10:52 PM (IST)
सकारपार में बेसहारा पशुओं का ठिकाना नहीं

सिद्धार्थनगर : कृषि सुरक्षा व गोरक्षा के लिए गोशालाओं में बेसहारा पशुओं को रखने की सरकारी मंशा तार तार हो रही है। सरकार की तमाम प्रयास के बाद भी बेसहारा पशु सड़कों पर अपना ठिकाना बनाए हुए हैं। इससे किसान तो परेशान हो ही रहे साथ ही मार्ग भी अवरूद्ध होने के साथ राहगीरों के लिए खतरा भी बना हुआ है।

शुक्रवार को इनकी धमाचौकड़ी ने अजगरा गांव के पास राप्ती नदी पर बने पुल को पूरी तरह अवरूद्ध कर दिया है।

बेसहारा पशुओं का हाल खेसरहा विकास खंड में काफी बुरा है। यहां 99 ग्राम पंचायतों के सापेक्ष मात्र दो गोशालाओं का ही निर्माण हुआ है। जबकि मुख्यमंत्री ने एक वर्ष पूर्व में यह आदेश किया था कि प्रत्येक न्याय पंचायत में एक गोशाला का निर्माण कराया जाएगा। लेकिन निर्माण नहीं हो सका। बेसहारा पशुओं की संख्या दिन प्रतिदिन बढ रही है। जिसका परिणाम है कि सकारपार चौराहा सहित, पेड़ारी बाजार, कोटिया आदि सड़कों पर प्रतिदिन बेसहारा पशुओं का झुंड मौजूद रहता है।

खेसरहा के बीडीओ सुशील कुमार पांडेय ने कहा कि बरसात के कारण इन्हें संरक्षित नहीं किया गया था। जो भी पशु इधर-उधर घूम रहे हैं, उनको अब गोशाला में संरक्षित किया जा रहा है। गोशाला का बजट आने पर न्याय पंचायत वार इनका निर्माण कराया जाएगा।

प्रशिक्षण में दी गई जानकारी

सिद्धार्थनगर : ब्लाक संसाधन केंद्र पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से आयोजित शिक्षकों के चार दिवसीय प्रशिक्षण के दूसरे दिन शुक्रवार को प्रशिक्षणार्थियों को महत्वपूर्ण बिदुओं पर जानकारी दी गई। प्रशिक्षक डा. अजीत कुमार त्रिपाठी व डा. हनुमंत मिश्रा ने बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति किन-किन बिदुओं पर ध्यान रखना है, इसके प्रति शिक्षकों को जागरूक किया। कहा गया कि बच्चों में यदि किसी प्रकार की बीमारी के लक्षण दिखाई दें, तो उनके अभिभावकों को इसकी सूचना दें और उन्हें अस्पताल में ले जाकर चिकित्सकों से परामर्श लेने की सलाह दें। प्रशिक्षण में परिषदीय विद्यालयों के 32 शिक्षक मौजूद रहे।

मानदेय प्रपत्र जमा करें शिक्षामित्र

सिद्धार्थनगर : विकास खंड क्षेत्र के सभी शिक्षा मित्र माह अक्टूबर का मानदेय प्रपत्र 25 अक्टूबर तक ब्लाक संसाधन केंद्र पर अवश्य जमा कर दें। जिससे उसको समय से जिले पर भेजा जा सके और मानदेय भुगतान खाते में आ सके। यह जानकारी संगठन के ब्लाक अध्यक्ष कसेरी नंदन ने जारी विज्ञप्ति के माध्यम से दी।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम