This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

लाकडाउन की भनक से जमाखोरी तेज

कोविड 19 संक्रमण के चलते पिछले साल पूरे भारत में लाकडाउन होने से छोटे व्यापारियों की कमर टूट गई। वहीं बड़े व्यापारियों ने दोबारा कोरोना अटैक व लाकडाउन की भनक से सामान की जमाखोरी शुरू कर दी है। मनमाने रेट पर ग्राहकों को सामान बेंचा जा रहा है।

JagranSat, 17 Apr 2021 11:17 PM (IST)
लाकडाउन की भनक से जमाखोरी तेज

सिद्धार्थनगर : कोविड 19 संक्रमण के चलते पिछले साल पूरे भारत में लाकडाउन होने से छोटे व्यापारियों की कमर टूट गई। वहीं बड़े व्यापारियों ने दोबारा कोरोना अटैक व लाकडाउन की भनक से सामान की जमाखोरी शुरू कर दी है। मनमाने रेट पर ग्राहकों को सामान बेंचा जा रहा है। शनिवार को इसकी हकीकत जानने की कोशिश की गई तो यह बात सामने आई कि बाजार से ब्रांडेंड सामान नदारद है। या फिर मनमाने दाम पर उपलब्ध हो रहे है। इसमें ब्रांडेड कंपनियों का आटा, तेल, नमक, शक्कर, पान मसाला, घी, तेल, दाल जैसी वस्तुएं शामिल हैं। लोकल कंपनियों का माल भी खपाया जा रहा है। कुछ लोगों ने शिकायत भी किया कि मांगने पर ब्रांडेड सामान की कमी बताई जाती है या फिर वह महंगे दाम पर दिया जा रहा है। शक्कर भी थोक में 38 रुपये है जो 40 तक बिक रही है। इसे कुछ व्यापारी 40 से 45 रुपये किलो बेंच रहे हैं। इसी तरह दाल के दाम भी 95 रुपये के आसपास होने के बावजूद 120 से ऊपर ग्राहकों से वसूला जा रहा है। छोटे दुकानदारों का कहना है कि हमे बड़े दुकानदार महंगे रेट में सामान देते हैं तो हमारी भी मजबूरी होती है, उससे अधिक दाम वसूलने की। दोबारा लाकडाउन होने की अफवाह से बढ़े दुकानदार जमाखोरी कर मंहगे दाम वसूल रहे हैं। संजय, मुन्नु, विजय, शेषमणि, भदई, नीरज, प्रदीप, विकास, राहुल आदि ने प्रशासन से कहा कि दामों पर नियंत्रण रखना जरूरी है। इसके लिए छापामारने की कार्रवाई की जानी चाहिए। एसडीएम त्रिभुवन ने कहा कि अधिक रेट वसूलता कोई दुकानदार मिला तो कठोर कार्रवाई होगी। बगैर मास्क के बैखोफ बाजार में खरीदारी कर रहे हैं लोग सिद्धार्थनगर: कोरोना का संक्रमण बहुत ही तेजी से अपना पांव पसार रहा है। ग्रामीण क्षेत्र व नगर के लोग इस महामारी को लेकर पूरी तरह से लापरवाह दिख रहे हैं। लोग बगैर मास्क के सार्वजनिक स्थानों पर घूम रहे हैं।

कस्बा मे दो दिन सोमवार व शुक्रवार को बाजार लगती है। हजारों लोग अपने जरूरत का सामान खरीदने बाजार आते हैं। लोगों को जागरूक करने के लिए नगर पंचायत प्रशासन लाउडस्पीकर के माध्यम से बराबर प्रचार कर रहा है। इसको अनसुनी कर बाजार में बिना मास्क के खरीददार व विक्रेता खरीद व बिक्री कर रहे हैं। यह स्थिति देख जागरूक लोगों ने कहा कि इस पर कड़ी कार्रवाई नहीं हुई तो स्थिति भयावह हो जाएगी।

कस्बा के वरिष्ठ समाजसेवी रामदेव कसौधन, जेजे खां, रामसेवक गुप्ता, शारदा प्रसाद वर्मा, प्रेम चंद वर्मा आदि ने कहा कि शारीरिक दूरी का पालन और मास्क पहनना बहुत ही जरूरी है। कोविड नियमों का पालन करना हम सभी का दायित्व है। इसका कड़ाई से पालन नहीं किया गया तो संक्रमण बढ़ते देर नही लगेगी। सीओ प्रदीप कुमार यादव ने कहा बिना मास्क घूमते मिलने पर चालान किया जाएगा। जुर्माना की वसूली भी होगी।

सिद्धार्थ नगर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!