जमीनी विवाद में चाचा का साथ देना पड़ा भारी

चिल्हिया थाना क्षेत्र के कोलुहवा निवासी कमरूजमा धर्म के प्रति काफी लगाव रखते थे। वह नियमित मस्जिद में सुबह की नमाज अदा करने जाते थे। इस दौरान वह एकाग्रचित रहा करते थे। यह जानकारी लगभग सभी को थी।

JagranPublish: Fri, 08 Oct 2021 12:33 AM (IST)Updated: Fri, 08 Oct 2021 03:21 PM (IST)
जमीनी विवाद में चाचा का साथ देना पड़ा भारी

सिद्धार्थनगर: चिल्हिया थाना क्षेत्र के कोलुहवा निवासी कमरूजमा धर्म के प्रति काफी लगाव रखते थे। वह नियमित मस्जिद में सुबह की नमाज अदा करने जाते थे। इस दौरान वह एकाग्रचित रहा करते थे। यह जानकारी लगभग सभी को थी। घटना को अंजाम देने वालों ने इसी बात का फायदा उठाया। जब वह नमाज अदा करने में व्यस्त हुए तो घटना में शामिल पिता और उसके दोनों पुत्रों ने पीछे से गर्दन पर सटाकर असलहे से गोली मार दी। हत्या के पीछे चाचा मोहम्मद कैश के जमीन के विवाद में मृतक का साथ देना था। आरोपितों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उनके साथ मृतक के चाचा ने जमीन खरीदी थी। इसके रास्ते को लेकर विवाद चल रहा था।

एएसपी के कहने पर आया डाग स्क्वाड

घटना स्थल पर पहुंचे एएसपी सुरेश चंद्र रावत ने एसएसबी के सहायक कमांडेंट अमित सिंह से डाग स्क्वाड उपलब्ध कराने में मदद मांगी। जवान अलीगढ़वा से डाग स्क्वाड लेकर गांव में पहुंची। मस्जिद में मौजूद खून को सूंघकर श्वान गांव में पकड़े गए आरोपित के घर के पास पहुंचा। वापस आकर फिर पोखरे के किनारे पहुंचा। वहां खून से सना पैंट सूंघकर एक निर्जन स्थान पर गया। फिर वह आरोपित के घर पर जाकर रूक गया। पैंट क्यूम का था। इसी दौरान तीनों आरोपित पुलिस की गिरफ्त में आ गए। घटना के बाद मौके पर पहुंचे एसओ समेत अन्य पुलिसकर्मियों को स्वजन ने घटना में शामिल आरोपितों के ऊपर शक जाहिर किया था। डाग स्क्वाड के पहुंचने के पश्चात पूरा मामला परत-दर परत खुल गया।

पांच थानों की पुलिस तैनात

गांव में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पांच थानों की पुलिस फोर्स लगी है। चिल्हिया एसओ यसवंत सिंह, ढेबरुआ प्रभारी ब्रह्मानंद गौड़, कपिलवस्तु प्रभारी महेश सिंह, मोहाना जयप्रकाश दुबे, शोहरतगढ़ राजेन्द्र बहादुर सिंह दलबल के साथ मौजूद रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept