मंडी में गेहूं खरीद, शहर में देखा राशन वितरण

श्च द्यद्ब म् ख्द्धद्बह्लद्ग-ह्यश्चड्डष्द्ग श्चह्मद्ग-ख्ह्मड्डश्च; 8 खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा ने रोजा मंडी में गेहूं खरीद केंद्रों का निरीक्षण किया।

JagranPublish: Thu, 19 May 2022 11:33 PM (IST)Updated: Thu, 19 May 2022 11:33 PM (IST)
मंडी में गेहूं खरीद, शहर में देखा राशन वितरण

मंडी में गेहूं खरीद, शहर में देखा राशन वितरण

जेएनएन, शाहजहांपुर : प्रदेश के खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा ने बुधवार को रोजा मंडी में गेहूं खरीद केंद्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान मूल्य भुगतान के साथ ही किसानों व पल्लेदारों से बातचीत कर गेहूं खरीद की स्थिति को समझा। मुहल्ला रेती में राशन की दुकान का निरीक्षण कर वहां कार्डधारकों से बातचीत कर राशन की वितरित की जा रही मात्रा की जानकारी ली। अधिकारियों को आगाह किया राशन कार्ड सरेंडर के लिए अफरा तफरी का माहौल न बनाए। खाद्य एवं रसद मंत्री गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे मंडी रोजा मंडी पहुंचे। क्षेत्रीय खाद्य नियंत्रक बरेली जोगेंद्र सिंह, उपायुक्त खाद्य एवं रसद राजन गोयल, मंडलीय खाद्य एवं विपणन अधिकारी राममूर्ति वर्मा, जिला खाद्य विपणन अधिकारी कमलेश कुमार पांडेय उनकी अगवानी को पहले से ही खड़े थे। मंत्री ने सभी अधिकारियों के साथ क्रय केंद्रों का निरीक्षण किया। आरएफसी के क्रय केंद्र पर प्रभारी श्रवण कुमार वर्मा से गेंहू खरीद और किसानों की संख्या भुगतान के बारे में पूछा। प्रभारी ने बताया कि क्रय केंद्र एक पर नौ किसानों से 381 क्विंटल, क्रय केंद्र चार पर सात किसानों से 425 क्विंटल की खरीद की गई है। भुगतान के बारे में भी पूछा। केंद्र प्रभारी ने बताया राहुल वर्मा के बैंक खाता में समस्या की वजह से भुगतान नहीं हो सका। बाकी सभी का भुगतान हो गया है। केंद्र प्रभारी रवि कांत मिश्र, रामकृष्ण गेहूं विक्रय के पंजीयन तथा दर्ज मोबाइल नंबर दिखाए। बताया कि मई माह में मात्र साढ़े पांच क्विंटल गेहूं की खरीद की गई है। जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी से मंडी भाव पूछा, उन्होंने बताया गुरुवार सुबह 2080 रुपये प्रति क्विंटल के भाव गेहूं नीलाम हुआ। एमएसपी के सापेक्ष मंडी भाव बेहतर होने पर उन्होंने किसानों के लिए हितकर बताया। मंडी में उन्होंने पल्लेदार फूलचंद्र से पूछा , कितना गेहूं मिलता है। प्रति यूनिट पांच किलो राशन मिलने की जानकारी पर राज्यमंत्री हकीकत जानने रेती स्थित विजय शुक्ला की दुकान पर पहुंच गए। रास्ते में उन्हें महिला राशन ले जाती मिली। उन्होंने काफिला रोककर महिला से राशन मात्रा की जानकारी ली। राशन दुकान पर कतार में खड़े कार्डधारकों से मिलने वाली वस्तुओं के नाम व मात्रा की जानकारी ली। इसके बाद अधिकारियों की बैठक ली। अपराह्न मंत्री पीलीभीत निरीक्षण के लिए रवाना हो गए। इस मौके पर उपनिदेशक मंडी बरेली, मंडी सचिव प्रवीण कुमार अवस्थी, विक्रम वाजपेयी, राहुल सिंह, धमेंद्र भारती, विकास पाठक आदि मौजूद रहे। 15 जून तक हो गेहूं खरीद, वापस न जाएं किसान खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा ने मंडलीय समीक्षा बैठक में राशन वितरण, गेहूं खरीद की समीक्षा की। इस दौरान मंत्री ने दो टूक कहा कि राशन कार्ड सरेंडर करना स्वैच्छिक है, इसलिए किसी भी कार्ड धारक पर दबाव न बनाए। उन्होंने 15 जून तक गेहूं खरीद के निदेश दिए, ताकि किसान वापस न जाएं। कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में राज्यमंत्री ने आपूर्ति से जुड़े अधिकारियों को घटतौली रोकने के निर्देश दिए। समय से राशन वितरण पर भी जोर दिया। संभागीय खाद्य नियंत्रक जोगिंदर सिंह ने मंडल में 7853 मीट्रिक टन गेहूं खरीद की जानकारी दी। बताया बाजार भाव अधिक होने की वजह से खरीद लक्ष्य से कम रही। राज्यमंत्री ने आगामी धान खरीद के लिए किसी भी दागी संस्था को नामित न किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने भंडारण क्षमता, एफसीआई गोदामों से सीधे राशन की दुकानों तक राशन पहुंचाने की व्यवस्थ की भी जानकारी ली। घटतौली की शिकायत पर त्वरित व कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। तेल की आपूर्ति में विलंब पर कहा कि मामला संज्ञान में है। नैफेड संस्था आठ दिन के भीतर आपूर्ति सुनिश्चित करेगी। राशनकार्ड की जिलेवार समीक्षा राज्यमंत्री ने राशन कार्ड की जिलेवार समीक्षा की। शाहजहांपुर डीएसओ ओमहरि उपाध्याय ने बताया कि जनपद में 984 लोगों ने कार्ड समर्पित किये हैं। इनमें तिलहर में 82, जलालाबाद में 110, कलान में 52, पुवायां में 152, सदर में 236 व शाहजहांपुर नगर में 352 कार्ड सरेंडर हुए हैं। अप्रैल माह में 437 व मई माह में 977 अपात्र लोगों की जगह 1311 नए कार्ड जारी हुए हैं। राज्यमंत्री ने कहा कि घर में टीवी, मोटरसाइकिल जैसी जरूरत की वस्तुओं को देख कर कार्ड निरस्तीकरण न हो, अनावश्यक दवाब न बनाएं। उन्होंने संवाद कर स्वेच्छा से कार्ड समर्पित कराने के निर्देश दिए। राजयमंत्री ने बताया कि प्रदेश स्तर पर एक लाख नए जरूरतमंद व गरीब लोगों के नए कार्ड बने हैं, जो कि बड़ी उपलब्धि है। बैठक में क्षेत्रीय खाद्य नियंत्रक जोगेंद्र सिंह, उपायुक्त खाद्य राजन गोयल, जिला खाद्य विपणन अधिकारी कमलेश कुमार पांडेय, जिला आपूर्ति अधिकारी ओमहरी उपाध्याय समेत, डीएसओ बदायूं विकास कुमार, डीएसओ पीलीभीत नीरज सिंह समेत ज्ञान वर्मा, अतुल वशिष्ट सुनील कुमार भारती आदि मौजूद रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept