ईयरफोन लगाकर जा रहे बाइक सवार को पिकअप ने रौंदा

ईयरफोन लगाकर जा रहे बाइक सवार को सोमवार को पिकअप ने रौंद दिया। हादसे के बाद चालक पिकअप लेकर चला गया। सड़क पर शव पड़ा होने की वजह से शाहजहांपुर-पीलीभीत राज्य राजमार्ग पर जाम लग गया। मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दी

JagranPublish: Tue, 23 Nov 2021 12:22 AM (IST)Updated: Tue, 23 Nov 2021 12:22 AM (IST)
ईयरफोन लगाकर जा रहे बाइक सवार को पिकअप ने रौंदा

जेएनएन, शाहजहांपुर : ईयरफोन लगाकर जा रहे बाइक सवार को सोमवार को पिकअप ने रौंद दिया। हादसे के बाद चालक पिकअप लेकर चला गया। सड़क पर शव पड़ा होने की वजह से शाहजहांपुर-पीलीभीत राज्य राजमार्ग पर जाम लग गया। मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दी। करीब एक घंटे बाद यातायात शुरू हो सका।

मीरानपुर कटरा थाना क्षेत्र के सैदापुर गांव निवासी नरेंद्र कुमार गंगवार सोमवार को निगोही थाना क्षेत्र के मूड़ाकला गांव निवासी बहन चंपा के घर बाइक से जा रहे थे। क्षेत्र के बनासदेवी गांव के पास सामने से आ रही पिकअप नरेंद्र को कुचलते हुए चली गई। हादसे के बाद जब ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो नरेंद्र के कान में ईयरफोन लगा था। जबकि हेलमेट भी नहीं था। लोगों ने पिकअप का पीछा करने का भी प्रयास किया लेकिन तब तक वह चला गया। डायल 112 की पुलिस सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंची जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने घटना की जानकारी नरेंद्र के स्वजन को फोन पर दी। उनके बहनोई रंजीत गंगवार ने बताया कि वह दिल्ली में कबाड़ की दुकान पर काम करते थे। उनकी एक वर्षीय बेटी अपेक्षा हैं। एसओ दिलीप सिंह ने बताया कि पिकअप चालक को जल्द पकड़ लिया जाएगा। स्वजन जो तहरीर देंगे उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। तीन माह पहले हुआ था तलाक

रंजीत ने बताया कि नरेंद्र की शादी के तीन साल हो गए हैं। पत्नी सुनीता से उनका विवाद चल रहा रहा था। तीन माह पहले ही उनका तलाक हो गया था। इनका रखें ध्यान

- हेलमेट लगाकर ही बाइक, स्कूटी चलानी चाहिए।

- ईयरफोन व मोबाइल लगाकर कोई भी वाहन न चलाएं।

- शराब पीकर वाहन नहीं चलाने चाहिए।

- नींद की हालत में वाहन किसी भी परिस्थिति में न चलाएं।

- वाहन मोड़ते समय आगे व पीछे आने वाली सवारी का ध्यान रखें।

- निर्धारित गति से अधिक पर वाहन नहीं चलाना चाहिए।

ईयरफोन लगाकर वाहन चलाने से अक्सर लोग अपना नियंत्रण वाहन पर खो देते हैं। जो हादसों का सबसे ज्यादा कारण बन रहे हैं। नियमों का पालन कराने के लिए लगातार लोगों को जागरूक किया जा रहा हैं। अनदेखी करने वालों पर सख्ती भी की जा रही हैं।

आरपी सिंह, यातायात निरीक्षक

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept