बूंदाबांदी से लुढ़का तापमान,जनजीवन अस्त-व्यस्त

सर्द हवाओं से नहीं मिल पा रही गलन से निजात

JagranPublish: Sat, 22 Jan 2022 07:36 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 07:36 PM (IST)
बूंदाबांदी से लुढ़का तापमान,जनजीवन अस्त-व्यस्त

संतकबीर नगर : पिछले एक सप्ताह से ठंड का असर बढ़ता ही जा रहा है। सर्द हवाओं का दौर भी चल रहा है। शनिवार की सुबह घना कोहरा छाया रहा तो दिन में लगभग दो बजे से बूंदाबांदी भी होने लगी। मौसम के बदलते तेवर से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कभी कोहरा तो कभी बारिश समस्या बनकर सामने आ रहे हैं। ठिठुरन के बीच लोग अलाव अथवा अपने घरों में ही सिमटे रहे।

ठंड का असर घर से सड़कों और बाजारों तक दिखाई दिया। खरीदारों के नहीं आने से बाजार सूने रहे। सड़कों पर सामान्य आवागमन नहीं रहा। नगरपालिका खलीलाबाद द्वारा कुछ स्थानों पर अलाव की व्यवस्था की गई है। पूर्व में जिन प्रमुख स्थानों पर अलाव जलते थे वहीं इस बार अलाव की समुचित व्यवस्था नहीं की जा सकी है। बारिश के चलते सड़कों पर कीचड़ फैल गया है। बारिश ने ठंड भी बढ़ा दी है, जिसके चलते लोग ठिठुरते दिख रहे हैं। बढ़ी मरीजों की संख्या

ठंड बढ़ने से लोगों के बीमार होने के मामले भी सामने आ रहे हैं। इससे जिला चिकित्सालय समेत अधिकांश चिकित्सालयों में बड़ी संख्या में मरीज पहुंच रहे हैं। सर्दी, खांसी, बुखार, हाथ व पैर की अंगुलियों में सूजन की समस्या आम हो गई है। जिला चिकित्सालय के अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. मोहन झा ने कहा कि ठंड में सर्दी, खांसी और सांस के मरीजों की संख्या बढ़ जाती है। यदि सुरक्षा नहीं अपनाया तो ठंड लगना तय है। बूंदाबांदी से गलन बढ़ी

जनपद में शनिवार को दोपहर बाद रह-रहकर बूंदाबांदी होती रही। सड़कें कीचड़ से सराबोर हो गईं। हल्की बारिश से ठंड भी तेज हो गई। गांव, गली, चौराहों पर लोग अलाव के सहारे दिखाई दिए। बिजली का आना जाना भी लगा रहा। मेंहदावल, बेलहर, धर्मसिंहवा आदि स्थानों पर हल्की बारिश हुई। तेज ठंड के कारण सड़कों पर इक्का-दुक्का लोग ही दिखाई दिए। हल्की बारिश से बाजार भी काफी प्रभावित रहा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept