92.94 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने दी शिक्षक पात्रता परीक्षा

16 केंद्रों पर प्राथमिक के 7512 दूसरी पाली में 12 केंद्रों पर उच प्राथमिक के 5170 ने दी परीक्षा

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 06:41 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 06:41 PM (IST)
92.94 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने दी शिक्षक पात्रता परीक्षा

संतकबीर नगर: जनपद में उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) रविवार को 16 केंद्रों पर हुई। दोनों पाली में पंजीकृत में 13644 अभ्यर्थियों में 12682 ने परीक्षा दी। 962 अनुपस्थित रहे। कुल उपस्थिति 92.974 प्रतिशत रही। पहली पाली में सभी 16 केंद्रों प्राथमिक वर्ग के 8050 में 7512 ने परीक्षा दी। जबकि 538 ने परीक्षा छोड़ दी। दूसरी पाली में 12 केंद्रों पर उच्च प्राथमिक वर्ग के 5594 में 5170 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए, 424 अनुपस्थित रहे। सीसी कैमरा की निगरानी में हुई परीक्षा में सभी केंद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट व पर्यवेक्षक की तैनाती रही।

जिलाधिकारी दिव्या मित्तल, पुलिस अधीक्षक डा. कौस्तुभ व डीआइओएस गिरीश कुमार सिंह दोनों पाली में केंद्रों के हाल का पल-पल जानकारी लेते रहे। सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ तीन सचल दल भी सक्रिय रहा। जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआइओएस) गिरीश कुमार सिंह ने राजकीय कन्या इंटर कालेज खलीलाबाद, एचआरपीजी इंटर कालेज, नेहरु कृषक इंटर कालेज आदि स्थानों पर निरीक्षण किया। सचल दल में बीएसए दिनेश कुमार सिंह ने आचार्य रामबिलास इंटर कालेज मगहर, राजकीय कन्या इंटर कालेज आदि स्थानों पर निरीक्षण किया। अधिकारियों ने एचआरपीजी कालेज, प्रभादेवी पीजी कालेज खलीलाबाद, सूर्या इंटरनेशनल एकेडमी, जीपीएस पीजी कालेज, कूड़ीलाल इंटरमीडिएट कालेज, खलीलाबाद इंटर कालेज, हीरालाल रामनिवास इंटर कालेज, मौलाना आजाद इंटर कालेज खलीलाबाद, नेहरु कृषक इंटर कालेज मडया, आरपीएस बालिका इंटर कालेज, गन्ना विकास इंटर कालेज तितौवा, एबीएम इंटर कालेज में निरीक्षण किया। केंद्रों पर स्वास्थ्य कर्मियों के न पहुंचने से कोविड की जांच नहीं हो सकी। केंद्रों पर सुबह से ही लग गई कतार

परीक्षा में रविवार को प्रथम पाली सुबह 10 बजे से शुरू हुई। आठ बजे से पूर्व ही परीक्षार्थी व उनके स्वजन केंद्रों पर जुटने लगे है। 1.30 घंटा पूर्व अंदर जाने की अनुमति दी गई। यही हाल द्वितीय पाली में भी रहा। प्रथम पाली की परीक्षा छूटने के बाद से ही संख्या जुटने लगी। परिषदीय शिक्षक केंद्रों पर जिम्मेदारी मिलने से उत्साहित रहे। परेशान हुए अभ्यर्थी व स्वजन

परीक्षा में अनेक अभ्यर्थी दूर-दराज से आए और कई स्वजन के साथ पहुंचे थे। केंद्रों के सामने भीड़ लगने व वाहन आदि खड़ा करने के लिए कई लोगों को परेशान होना पड़ा। परीक्षार्थी के अंदर जाने के बाद स्वजन इधर-उधर ठौर तलाशते रहे। कुछ के साथ छोटे बच्चे भी थे। वाहनों की लगी कतार

शहर में वाहन खड़ा करने की समुचित व्यवस्था न रहने से लोगों को परेशान होना पड़ा। सड़क की पटरी पर वाहन खड़ा होने से जाम लग गया। वाहनों के खड़ा होने व अभ्यर्थियों के जुटने से बैंक चौराहा-गोला बाजार मार्ग पर जाम लगा। यही हाल हीरालाल रामनिवास इंटर कालेज, मौलाना आजाद इंटर कालेज, घोरखल मार्ग पर रहा। कंट्रोल रूम में बजता रहा फोन

जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में कंट्रोल रूम से सूचनाओं का आदान प्रदान हुआ। यहां दिन भर फोन आते रहे। डीआइओएस गिरीश कुमार सिंह मोबाइल पर सक्रिय रहे। कार्यालय में मनोज श्रीवास्तव, अजीत कुमार, दुर्गेश, नकुल गौतम, गुलाम मोहम्मद आदि ने जिम्मेदारी निभाई। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में जमा हुई ओएमआर सीट

कोषागार के डबल लाक में कड़ी सुरक्षा में सील बंद प्रश्नपत्र केंद्रों पर पहुंचा। कैमरे की निगरानी में कोड के अनुसार वितरण किया गया। परीक्षा समाप्ति के बाद ओएमआर सीट जमा करके सील किया गया। इसके बाद कोषागार में रखवाया गया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept