पुलिस ने लूट का राजफाश, तीन गिरफ्तार

नगर में दो माह पूर्व कच्ची गढ़ी मार्ग निवासी मुफ्ती मोबिन के यहां अंजाम दी गई डकैती की घटना का बुधवार को पुलिस ने क्राइम ब्रांच के सहयोग से राजफाश कर लूट की रकम के साथ तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

JagranPublish: Wed, 24 Nov 2021 11:11 PM (IST)Updated: Wed, 24 Nov 2021 11:11 PM (IST)
पुलिस ने लूट का राजफाश, तीन गिरफ्तार

सहारनपुर, जेएनएन। नगर में दो माह पूर्व कच्ची गढ़ी मार्ग निवासी मुफ्ती मोबिन के यहां अंजाम दी गई डकैती की घटना का बुधवार को पुलिस ने क्राइम ब्रांच के सहयोग से राजफाश कर लूट की रकम के साथ तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

तीतरों कोतवाली के प्रभारी बृजेश शर्मा ने बताया कि दो माह पूर्व कच्ची गढ़ी मार्ग निवासी मुफ्ती मोबीन के घर झाड़-फूंक से इलाज कराने के बहाने आए अज्ञात बदमाशों ने लूट को अंजाम देते हुए 70 हजार से अधिक की नकदी के अलावा जेवर भी लूट लिए थे। इस दौरान बदमाशों ने मारपीट भी की थी।

घटना के कई दिन बाद पीड़ित ने पुलिस को शिकायत पत्र भी दिया था। नए कोतवाल ने उक्त मामले में कार्रवाई करते हुए नगर के मोहल्ला अफगान कला निवासी इमरान, शाहजेब, और शेख जादगान निवासी सूफीयान को पकड़कर उनके कब्जे से लूटी गई रकम में से 16 हजार रुपये के अलावा एक तमंचा और तीन कारतूस बरामद किए हें, तीनों को पुलिस ने जेल भेज दिया। दोहरा हत्या कांड : एक सप्ताह बीता लेकिन पुलिस के हाथ खाली

गंगोह : मैनपुरा निवासी दो सगे भाइयों की हत्या के मामले में पुलिस के हाथ एक सप्ताह बाद भी कुछ नहीं आया है। पुलिस ने अनेक लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की लेकिन नतीजा शून्य ही रहा।

बृहस्पतिवार को सुबह ही गांव मैनपुरा निवासी दो सगे भाइयों पुन्नु व लील्लू पुत्र दाता राम की उनके भोगी वाला स्थित खेत में हत्या कर दी गई थी। मृतक के भाई मुन्नु ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तब से ही कई दिन तक एसपी देहात अतुल शर्मा यहां डेरा डाले रहे लेकिन हर पूछताछ का नतीजा सिफर पर ही खत्म हो गया। दोनों की हत्या के रहस्य से पर्दा न उठने के कारण ग्रामीण भी निराश होने लगे हें। मौके पर आए पुलिस अधिकारियों ने मामले का शीघ्र ही राजफाश होने की उम्मीद जताई थी लेकिन जांच का हर बिदु फिलहाल बिना किसी नतीजे के खत्म हो गया। दोनों मृतक झाड-फूंक का काम करते थे जिसे लेकर भी पुलिस ने जांच पड़ताल की कि कहीं घटना के सूत्र शायद निकल जाएं लेकिन यहां का नतीजा भी हवा में तीर चलाने जैसा ही रहा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept