सालों से जलभराव से कारण गंदे पानी से गुजरने को मजबूर हैं ग्रामीण

लोक निर्माण विभाग को सालों से की जा रही शिकायत के बावजूद भी ग्रामीणों की समस्या का समाधान नहीं हुआ है जिससे ग्रामीण व छात्र गंदे पानी से गुजरने को मजबूर हैं।

JagranPublish: Thu, 28 Oct 2021 06:20 PM (IST)Updated: Thu, 28 Oct 2021 06:20 PM (IST)
सालों से जलभराव से कारण गंदे पानी से गुजरने को मजबूर हैं ग्रामीण

जेएनएन, सहारनपुर। लोक निर्माण विभाग को सालों से की जा रही शिकायत के बावजूद भी ग्रामीणों की समस्या का समाधान नहीं हुआ है, जिससे ग्रामीण व छात्र गंदे पानी से गुजरने को मजबूर हैं। गांव कलसी के गुरुदेव, शिमला मोहिनी,ऋषिराम, अनुज, रेशमा आदि का कहना है, कि फतेहपुर ढोला से कलसी जा रहे मुख्य मार्ग पर जलभराव की समस्या बनी हुई हैं, जिससे बीमारी भी फैल रही हैं। वहीं ग्रामीण बुखार की चपेट में आ रहे है। लेकिन लोक निर्माण विभाग को अनेकों बार शिकायत के बावजूद भी समस्या का समाधान नही हुआ है। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी शिकायत की गई है, लेकिन अधिकारी स्टीमेट बन रहा है आदि लिखकर शिकायत का निस्तारण कर देते है। उन्होंने त्योहारों को देखते हुए जिलाधिकारी से समस्या का निराकरण करने की मांग की है। समिति पर 15 दिनों से डीएपी खाद न होने किसान परेशान

आजकल गन्ना व सरसों की बुआई का काम चल रहा है। समिति पर डीएपी खाद न होने से किसानो को फसलों बुआई करने में दिक्कत आ रही है। क्षेत्र के किसानों विभाग से समिति पर डीएपी खाद मगवाने की मांग की है।

थाना क्षेत्र के गांव जडौदापाण्डा में स्थित किसान सेवा सहकारी समिति मोरा में 15 दिनों से डीएपी खाद उपलब्ध नही है। जिसके चलते गन्ना सरसों की बुआई प्रभावित हो रही है। जिस कारण बुआई करने में किसानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र के अनेक गांव के किसान सतीश भगत ,अनिल ,अरविद ,सुरेन्द्र ,नवीन त्यागी ,बृहमदत्त त्यागी ,सुमित त्यागी ,मुनेश ,चंचल ,जगदीप ,ग्राम प्रधान शालू त्यागी का कहना है कि इन दिनो गेहूं,गन्ना व सरसों की बुवाई का काम बडे स्तर पर चल रहा है। गेहूं सरसों व गन्ना बुआई के लिए डीएपी की अत्यधिक जरूरत पड़ती है। डीएपी के बिना बुवाई करना मुश्किल है। समिति पर 15 दिनो से डीएपी खाद खत्म होने से किसान परेशान है। किसान प्राईवेट दुकानों से मंहगे दामों डीएपी खरीदने के लिए मजबूर है। क्षेत्र के किसानों ने समिति के उच्च अधिकारियों से समिति पर जल्द डीएपी खाद मगवाएं जाने की मांग की हैं । इस मामले में समिति के प्रभारी योगेश चौहान का कहना हैं इस समिति पर ही नहीं पूरे जिले में डीएपी खाद नही है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept