तीतरों में जान ले रही पुलिया, सिस्टम खामोश

तीतरो में कच्ची गढ़ी मार्ग स्थित रजवाहे पर बना मखरज पुलिया पर दो माह के अंदर आधा दर्जन लोग दुर्घटना का शिकार हो चुके हैं बावजूद इसके संबंधित विभाग सुध नहीं ले रहा है।

JagranPublish: Tue, 30 Nov 2021 07:09 PM (IST)Updated: Tue, 30 Nov 2021 07:09 PM (IST)
तीतरों में जान ले रही पुलिया, सिस्टम खामोश

सहारनपुर, जेएनएन। तीतरो में कच्ची गढ़ी मार्ग स्थित रजवाहे पर बना मखरज पुलिया पर दो माह के अंदर आधा दर्जन लोग दुर्घटना का शिकार हो चुके हैं बावजूद इसके संबंधित विभाग सुध नहीं ले रहा है।

असल में रजवाहे के नीचे से बरसाती नाला निकल रहा है और उसके ऊपर वर्षो से घुमावदार बना पुल जान लेवा बन गया है। आलम यह है कि इसकी रेलिग व दीवार दोनों तरफ से टूट चुकी है। यहां दुर्घटना संकेत चिह्न भी नहीं बनाए गए हैं, जिससे यहां से रात्रि में गुजरने वाले वाहन चालक भ्रम में आकर सीधे नीचे 20 फुट गहरे बरसाती नाले में वाहन सहित जा गिरते है। नागरिक राजकुमार सिंह, बाबर, आसिम, रामकुमार, देवराज, शराफत, ओमबीर सिंह आदि का आरोप है कि कई बार सिचाई विभाग के अधिकारियों को इस समस्या से अवगत कराया गया, लेकिन किसी ने कोई ध्यान नहीं दिया।

ये लोग गंवा चुके है दुर्घटना में अपनी जान

26 नवंबर को कांधला जिला मुजफ्फरनगर निवासी उम्मेद की बाइक रात्रि में इसमे गिर गई थी, बाद में अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया। 21 नवंबर को सलीम उर्फ सोनू, निवासी गांव मोहकमपुर जिला शामली वाहन सहित इसमे गिरा था। घायल होकर उसकी जान चली गई थी। इससे कुछ दिन पहले आर्यपुरी कैराना निवासी सलमान भी दुर्घटना का शिकार होकर चल बसा था। नानौता के वीरपाल सिंह और एक महिला मंजू देवी भी कुछ दिन पहले यही पर गिरने के बाद अपनी जान गवा बैठे, तीन दिन पहले गंगोह निवासी राजपाल भी यही पर बाइक से घायल होने के बाद चिकित्सालय में भर्ती है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept