चार चिकित्सकों समेत 14 के खिलाफ एफआइआर दर्ज

रायबरेली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक और युवकों के बीच बुधवार की सुबह हुई मारपी

JagranPublish: Thu, 30 Jun 2022 11:36 PM (IST)Updated: Thu, 30 Jun 2022 11:36 PM (IST)
चार चिकित्सकों समेत 14 के खिलाफ एफआइआर दर्ज

रायबरेली: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक और युवकों के बीच बुधवार की सुबह हुई मारपीट के मामले में दोनों पक्षों की तहरीर पर एफआइआर दर्ज की गई है। एक तरफ से चार चिकित्सक समेत 11 और दूसरी तरफ से तीन लोग नामजद हुए हैं। अधीक्षक ने एहतियातन सीएचसी में आठ सीसी कैमरे लगवा दिए हैं।

बुधवार को सीएचसी में डा. जितेंद्र की इमरजेंसी ड्यूटी थी। अतरथरिया ग्राम प्रधान से हुई मारपीट के मामले में वह मेडिको लीगल कर रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान अनुभव शुक्ला, कपिल तिवारी व बृजेश तिवारी इमरजेंसी पहुंचे और चिकित्सक से बहस करने लगे। मना करने पर इन लोगों ने मारपीट शुरू कर दी। सीएचसी का स्टाफ भी वहां आ गया। अस्पताल के भीतर काफी देर तक मारपीट और तोड़फोड़ होती रही। पुलिस के पहुंचने के बाद मामला शांत कराया गया। चिकित्सक ने ये भी आरोप लगाया कि इन लोगों ने कमरे में रखी दवाइयां फेंक दी और रजिस्टर फाड़ डाले।मारपीट में सीएचसी प्रभारी डा. रूपेश जायसवाल, डा. अमित सचान के हाथ फ्रैक्चर हो गए। डा. जितेंद्र की तहरीर पर अनुभव, कपिल और बृजेश के खिलाफ संगीन धाराओं में मामला पंजीकृत किया गया। दूसरे पक्ष से अनुभव ने चिकित्सक पर अभद्रता करने, बंधक बनाकर मारपीट करने का आरोप लगाया। उसकी तहरीर पर डा. रूपेश जायसवाल, डा. जितेंद्र कुमार, डा. अमित सचान, डा. सतेंद्र त्रिपाठी सहित अस्पताल के 11 लोगों के खिलाफ मामला पंजीकृत किया गया। कोतवाल संजय त्यागी ने बताया कि मामले की विवेचना की जा रही है। जो भी दोषी होगा, उसके ऊपर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept