कुशीनगर और श्रावस्ती के लोगों ने रैन बसेरे का लिया सहारा

अंचल के अलावा तमाम ऐसे लोग हैं जो गैर जिलों से जनपद में कामकाज निपटाने आते हैं। कामकाज न होने पर वह शहर के बाबागंज स्थित हादीहाल में बने रैन बसेरे का सहारा लेते हैं। रुकने के दौरान उनको पालिका प्रशासन पहले सैनिटाइज करती है। इसके बाद कंबल व बिस्तर की व्यवस्था दी जाती है। कुशीनगर जिले के गंगा सागरश्रावस्ती जिले के गोविदपुर के सर्वेश मिश्रा बहराइच के अमरई के चंद्रमोहन कानपुर के हेमंत कुमार अमेठी के नरेंद्र कुमार रायबरेली के रुद्रपुर के विवेका नंद कानपुर नगर के रविषेक फैजाबाद के रवींद्र अयोध्या के संजीव देवरिया के विवेका नंद यहां पर रात गुजार चुके हैं।

JagranPublish: Wed, 19 Jan 2022 10:49 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 10:49 PM (IST)
कुशीनगर और श्रावस्ती के लोगों ने रैन बसेरे का लिया सहारा

संवाद सूत्र, प्रतापगढ़ : अंचल के अलावा तमाम ऐसे लोग हैं जो गैर जिलों से जनपद में कामकाज निपटाने आते हैं। कामकाज न होने पर वह शहर के बाबागंज स्थित हादीहाल में बने रैन बसेरे का सहारा लेते हैं। रुकने के दौरान उनको पालिका प्रशासन पहले सैनिटाइज करती है। इसके बाद कंबल व बिस्तर की व्यवस्था दी जाती है। कुशीनगर जिले के गंगा सागर,श्रावस्ती जिले के गोविदपुर के सर्वेश मिश्रा, बहराइच के अमरई के चंद्रमोहन, कानपुर के हेमंत कुमार, अमेठी के नरेंद्र कुमार, रायबरेली के रुद्रपुर के विवेका नंद, कानपुर नगर के रविषेक, फैजाबाद के रवींद्र, अयोध्या के संजीव, देवरिया के विवेका नंद यहां पर रात गुजार चुके हैं। इसके अलावा सुलतानपुर के कूड़ेभार के विकास तिवारी सहित कई अन्य लोग कामकाज के सिलसिले में आए। रात रैन बसेरा में बिताने के बाद चले गए। गैर जनपदों के अलावा जिले के कुंडा, संडवा चंद्रिका, आसपुर देवसरा सहित अन्य स्थानों के कई लोग ठंड के चलते यहां पर रात बिताया है। हालांकि एक ही रात रुकने के बाद यह लोग अपने गंतव्य को चले गए। अगले दिन कामकाज करने के बाद अपने घर चले गए। ईओ मुदित सिंह ने बताया कि बाबागंज स्थित हादीहाल के रैन बसेरे में बिस्तर, कंबल, शुद्ध पानी कर व्यवस्था के साथ सैनिटाइज आदि भी रखवाया गया है।

----

कहर ढा रही ठंड, जल रहे अलाव पर्याप्त नहीं

संवाद सूत्र, प्रतापगढ़ : पिछले एक सप्ताह से ठंड कहर ढा रही है। गलन से आम जनजीवन अस्त व्यस्त है। लोग ठंड से बचने के लिए अलाव जलाकर तापते नजर आ रहे हैं। नगर पालिका शहर में दो दर्जन स्थानों पर अलाव जलाने का दावा कर रही है,लेकिन यह अलाव अपर्याप्त है। नतीजा यह रहा कि लोग पॉलीथिन, कागज की दफ्ती आदि जलाकर ठंड से बचने का प्रयास कर रहे हैं। नगर पालिका क्षेत्र में 25 वार्ड है। इसमें भैरोपुर, करनपुर सिविल लाइन, महुली, घोसियाना, बेगम वार्ड, अस्पताल वार्ड, विवेक नगर, टक्करगंज, मकंद्रूगंज, सहोदरपुर पश्चिमी, अचलपुर, मीराभवन, धर्मशाला वार्ड, बलीपुर सहित अन्य वार्ड हैं। नगर पालिका के सीमा विस्तार के बाद आबादी एक लाख से अधिक हो गई। इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। गलन भी काफी है। नगर पालिका के भंगवा चुंगी, चौक, मीराभवन चौराहा, आंबेडकर चौराहा, रेलवे जंक्शन, ट्रेजरी चौराहा, चिलबिला चौराहा, सदर मोड़, भैरोपुर, भाजपा कार्यालय, हादीहाल सहित दो दर्जन स्थानों पर अलाव जल रहा है। हालांकि आबादी के हिसाब से यह अलाव पर्याप्त नहीं है। शहर के सैयाबांध से लेकर भंगवा चुंगी के बीच प्रयागराज हाइवे के किनारे लोग सुबह व शाम कागज, कपड़े, टॉयर आदि जलाकर ठंड से बचने के लिए तापते नजर आते हैं। ईओ मुदित सिंह ने बताया कि शहर में दो दर्जन स्थानों पर अलाव जल रहा है। कई और स्थानों पर अलाव जलवाया जाएगा। ---

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept