एक जुर्म छुपाने के लिए युवक ने कर दीं तीन हत्याएं, गिरफ्तारी के बाद सुनाई तीनों वारदात की कहानी

Murder in Sambhal सम्भल में पिछले डेढ़ माह के अंदर दो महिलाओं और एक युवक की हत्या करके नग्न शवों को बोरे में भरकर फेंकने वाले एक आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों महिलाओं की अवैध संबंध में हत्या की थी।

Samanvay PandeyPublish: Sat, 22 Jan 2022 05:29 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 05:29 PM (IST)
एक जुर्म छुपाने के लिए युवक ने कर दीं तीन हत्याएं, गिरफ्तारी के बाद सुनाई तीनों वारदात की कहानी

सम्भल, जेएनएन। Murder in Sambhal : सम्भल में पिछले डेढ़ माह के अंदर दो महिलाओं और एक युवक की हत्या करके नग्न शवों को बोरे में भरकर फेंकने वाले एक आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दूसरा अभी भी फरार है। युवक की हत्या कबाड़े के दुकान से चोरी करने और दोनों महिलाओं की अवैध संबंध में हत्या की थी। शवों की शिनाख्त न हो इसलिए तीनों के शव नग्न करके बोरे में भरकर अलग-अलग स्थान पर फेंका था।

26 नवंबर वर्ष 2021 को गांव फुलसिंघा के जंगल में एक शव बोरे में भरा हुआ मिला था। युवक की हत्या सिर पर लोहे की राड से बार करके की गई थी। उसके बाद शव के कपड़़े निकालकर बोरे में भरकर फेंक दिया था। काफी प्रयास के बाद पुलिस ने इसकी शिनाख्त शाकिब पुत्र अकरम निवासी पीला खदाना सरायतरीन के रूप में हुई। उसके बाद 30 दिसंबर वर्ष 2021 को थाना कैलादेवी क्षेत्र के गांव मूसापुर के जंगल में बोरे में भरा शव मिला था।

महिला के सिर पर धारदार हथियार से बार करके हत्या की गई थी। इसके बाद शव को नग्न करके बोरे में भरकर फेंक दिया था। दो दिन बाद इसकी शिनाख्त शहाना पत्नी वसीर निवासी रुकनुद्दीन सराय थाना नखासा के रूप में हुई। तीसरा शव महिला का नखासा थाना क्षेत्र के चंदावली इंटर कालेज के पास सम्भल-हसनपुर मार्ग किनारे खंदक में 6 जनवरी को पड़ा मिला था। यहां भी शव बोरे में था और नग्न था।

इस शव की शिनाख्त दो दिन बाद नाजमीन उर्फ गब्बर पुत्री जफर इकबाल के रूप में हुई थी। तीनों शवों को नग्न करके हाथ पैर बांधकर बोरे में भरकर फेंका गया था। किसी तरह पुलिस ने तीनों शवों की शिनाख्त की थी। इसके बाद एसपी चक्रेश मिश्रा ने एएसपी आलोक कुमार जायसवाल, सीओ जितेंद्र कुमार के नेतृत्व में नखासा, सर्विलासं, एसओजी, हजरतनगर गढ़ी और कैला देवी थाने की पुलिस की टीम गठित कर आरोपितों को पकड़ने के लिए लगा दिया था।

पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद आरोपित फहीम उर्फ बाबा निवासी देहली दरवाजा को मंडलाई बाइपास से गिरफ्तार कर लिया। जबकि इसका साथी फूल उर्फ जैनअल आबेदीन निवासी मुहल्ला कोट गर्वी थाना कोतवाली फरार हो गया। शनिवार को एसपी ने पूरे मामले का पर्दाफाश करते हुए बताया कि फहीम उर्फ बाबा लोहे के कबाड़ा की दुकान हैं। यहां पर शाकिब काम करता था। उसने वहां पर चोरी कर ली थी।

इसी बात को लेकर उसे धक्का दिया तो वह गिर गया और उसकी पसली टूट गई। रिपोर्ट दर्ज होने के डर से आरोपित शाकिब के सिर में लोहे की राड से वार करके उसकी हत्या कर दी। बाद में शव को नग्न करके फुलसिंघा के जंगल में फेंक दिया। एसपी ने बताया कि 29 जनवरी की रात फहीम उर्फ बाबा अपने साथी फूल उर्फ जैनअल के साथ अपने अपने भाई के मकान पर बैठा था और शराब पी रहा था। वहां पर दोनों महिलाएं पहुंच गई।

नाजमीन उर्फ गब्बर से फहीम उर्फ बाबा की कहासुनी हो गई और शराब के नशे में सिर पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। इससे उसकी मौत हो गई। वहां पर मौजूद शहाना ने शोर मचाने का प्रयास किया तो उसकी भी हत्या कर दी। दोनों के शवों को नग्न करके बोरे में भरकर एक कैला देवी थाना क्षेत्र तो दूसरे का शव नखासा थाना क्षेत्र में फेंक दिया।

शहाना का शव अगले दिन मिल गया जबकि नाजमीन उर्फ गब्बर का शव छह जनवरी को मिला। एसपी ने बताया कि आरोपित के कब्जे से बाइक, एक तमंचा, कारतूस, लोहे की राड और नाजमीन के कपड़े बरामद कर लिए है। जबकि फरार आरोपित की तलाश की जा रही है। अब डीएनए जांच भी कराई कराएगी।

Edited By Samanvay Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept