चाइनीज एप स्नैपचैट से महिला के प्यार में फंसा नाबालिग, लखनऊ में प्रेमिका संग बिताए चार दिन, पढ़ें किशोर की प्रेम कहानी

Minor boy Love Story इंटरनेट मीडिया पर चैट करने के दौरान अश्लील वीडियो का भी आदान प्रदान हुआ। जिसके बाद किशोर चार दिन पहले घर से चला गया और लखनऊ में महिला के साथ रहने लगा। इधर परिवार वालों ने पुलिस में गुमशुदगी दर्ज करा दी।

Samanvay PandeyPublish: Tue, 18 Jan 2022 05:26 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 07:17 AM (IST)
चाइनीज एप स्नैपचैट से महिला के प्यार में फंसा नाबालिग, लखनऊ में प्रेमिका संग बिताए चार दिन, पढ़ें किशोर की प्रेम कहानी

सम्भल, जेएनएन। Minor boy Love Story : चीन से भारत के संबंधों में आई खटास और चाइनीस एप के जरिए परोसी जा रही अश्लीलता के बाद केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया था। स्नैपचैट समेत चार सौ से अधिक एप देश में प्रतिबंधित कर दिए थे। इसके बाद भी कई युवा इसको चला रहे हैं। जिसमें अश्लीलता परोसी जा रही है। इसके जरिए युवा गलत राह पर जा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के जनपद सम्भल में आया है। यहां का रहने वाला एक नाबालिग स्नैपचैट और इंस्टाग्राम जरिए लखनऊ की महिला को दिल दे बैठा।

इंटरनेट मीडिया के इन दोनों प्लेटफार्म पर चैट करने के दौरान अश्लील वीडियो का भी आदान-प्रदान हुआ। जिसके बाद किशोर चार दिन पहले घर से चला गया और लखनऊ में महिला के साथ रहने लगा। इधर परिवार वालों ने पुलिस में गुमशुदगी दर्ज करा दी। जिस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए किशोर को लखनऊ से पकड़ लिया। किशोर सम्भल जिले के एक रेलवे स्टेशन के अधीक्षक का 16 वर्षीय बेटा है। जो बहजोई के ही एक स्कूल में कक्षा 11 का छात्र है। 11 जनवरी को वह घर से निकला और देर शाम तक वापस नहीं पहुंचा।

48 घंटे तक परिवार वाले उसको संभावित ठिकानों और सगे-संबंधियों में तलाश करते रहे लेकिन जब उसका कोई सुराग नहीं लगा तो इसकी शिकायत बहजोई कोतवाली में की। जिसके बाद पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज करते हुए छात्र के मोबाइल नंबर के जरिए उसे ट्रेस करना शुरू कर दिया। उसके मोबाइल नंबर की लोकेशन लखनऊ में पाई गई। इससे पूर्व तीन दिन तक पुलिस उसके मोबाइल नंबर के बंद होने के चलते भी परेशान रही थी।

आखिर कोतवाली बहजोई में तैनात उपनिरीक्षक व पूर्व में साइबर एक्सपर्ट के रूप में एटीएस में काम कर चुके अजीत सिंह के नेतृत्व में सम्भल जिले की टीम लखनऊ पहुंची। जहां पुलिस ने स्थानीय इंटेलिजेंस की मदद ली। जिन्होंने वहां एक निजी मकान से लापता छात्र को बरामद कर लिया। जिससे पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह अपनी मर्जी से महिला के पास आया था और वहां रह रहा था। पुलिस ने उसे स्वजन के हवाले कर दिया।

स्नैपचैट के जरिए हुई शुरुआत, इंस्टाग्राम पर मिली रफ्तार : किशोर के मुताबिक नवंबर 2021 में स्नैपचैट के जरिए बातचीत की शुरुआत हुई थी। उसने अपने वीडियो और फोटो महिला को भेजे थे जबकि महिला के द्वारा भी उसको वीडियो व फोटो भेजे गए थे। पुलिस के मुताबिक स्नैपचैट एक ऐसा ऐप था जो कि चाइनीस था। जिस पर अश्लील वीडियो और फोटो भी भेजे जाते हैं। जिसे सरकार की ओर से बैन कर दिया गया था। उसके बाद छात्र के द्वारा इंस्टाग्राम पर बातचीत की शुरुआत की गई। बाद में अलग-अलग माध्यमों से आडियो और वीडियो काल की गई।

11 जनवरी को वह लखनऊ के लिए ट्रेन से गया था। बहजोई से लिंक एक्सप्रेस के जरिए मुरादाबाद और मुरादाबाद से लखनऊ पहुंचा था। जहां महिला के द्वारा अपनी कार से उसे ले जाया गया और निजी मकान में उसके साथ रहने लगी थी। पुलिस के मुताबिक, महिला विधवा है, जिसकी उम्र 30 वर्ष से अधिक है। उसका सामाजिक रिकार्ड सही नहीं है और वह अक्सर ऐसे नाबालिक किशोर को अपने प्रेम जाल में फांसती रहती है। 

स्नैपचैट जैसे एप से रहें सावधान : साइबर एक्सपर्ट उपनिरीक्षक अजीत सिंह ने बताया कि सरकार की ओर से फिलहाल स्नैपचैट एप को बंद करा दिया गया है, लेकिन वर्तमान में भी कुछ ऐसे हैं, जो इसके समानांतर काम करते हुए उपलब्ध हैंं, जिन्हें कुछ प्रयोग करते हुए बातचीत करते हैं, जो खतरनाक साबित हो सकते हैं। कई बार ऐसे एप पर बातचीत करते हुए लोगों से या तो वसूली की जाती है। कई बार जान भी चली जाती है। इससे बचाव के लिए लोगों को सावधान रहना चाहिए। बहजोई कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक विकास सक्सेना ने बताया कि स्टेशन मास्टर का बेटा घर से लापता हो गया था। जिसकी पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज की थी। उसके मोबाइल नंबर की लोकेशन सर्विलांस की मदद से निकालते हुए उसे बरामद किया गया है और परिवार वालों के सुपुर्द कर दिया गया है। किशोर की ओर से कोई भी शिकायत महिला के विरुद्ध नहीं की गई है।

Edited By Samanvay Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept