Dengue in Moradabad : एलाइजा मशीन खराब होने से डेंगू की जांच प्रभाव‍ित, केवल दो मरीजों में ही हो पाई पुष्टि

Dengue in Moradabad निजी पैथलैब से मिली रिपोर्ट में सिर्फ दो ही लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। हालात ये हैं कि अब तक जिले में 1159 डेंगू की जांच जिला अस्पताल की पैथलैब में हो चुकी है।

Narendra KumarPublish: Sun, 28 Nov 2021 09:53 AM (IST)Updated: Sun, 28 Nov 2021 09:53 AM (IST)
Dengue in Moradabad : एलाइजा मशीन खराब होने से डेंगू की जांच प्रभाव‍ित, केवल दो मरीजों में ही हो पाई पुष्टि

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Dengue in Moradabad : डेंगू का प्रकोप बरकरार है। शनिवार को निजी पैथलैब से मिली रिपोर्ट में सिर्फ दो ही लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। हालात ये हैं कि अब तक जिले में 1159 डेंगू की जांच जिला अस्पताल की पैथलैब में हो चुकी है। शुक्रवार की शाम मशीन खराब होने की वजह से डेंगू की जांच रुक गई।

इन दिनों शहर में डेंगू का प्रकोप फैला हुआ है। हालात ये हैं कि शहर के नागफनी, बगला गांव, दीवान का बाजार, जयंतीपुर, पीरजादा, मुगलपुरा, कटघर, छोटी मंडी, मकबरा, रोजे वाली जियारत, चक्कर की मिलक आदि क्षेत्रों से जिला अस्पताल में बुखार के मरीज पहुंच रहे हैं। प्रतिदिन 18 से 25 मरीजों की जांच एलाइजा से हो रही है। इसमें तकरीबन 10 15 लोग डेंगू पाजिटिव भी आ रहे हैं। शुक्रवार की शाम मशीन खराब होने से एक भी जांच नहीं हो पाई है। अब तक तकरीबन 1159 की जांच हो चुकी है। जिला अस्पताल चिकित्सा अधीक्षक डा. राजेंद्र कुमार ने बताया कि मशीन खराब हुई है। सोमवार को इंजीनियर जिला अस्पताल पहुंचेंगे। इसके बाद मशीन ठीक हो पाएगी। फिलहाल एनएस-1 किट से डेंगू की जांच की व्यवस्था है। मरीजों को किसी तरह की दुश्वारी नहीं होगी।

ओपीडी में बुखार के निकले 273 मरीज, चार में डेंगू की पुष्टि : अमरोहा में सीएमओ डाॅ. संजय अग्रवाल ने बताया कि शनिवार को जिला अस्पताल समेत सभी सीएचसी, पीएचसी में दोपहर तक 3309 मरीजों की ओपीडी हुई। इनमें से 273 मरीज बुखार के पाए गए हैं। जबकि टाइफाइड के तीन और डायरिया के 25 मरीज निकले। गंभीर मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि सामान्य मरीजों को दवा देकर घर भेजा गया है। वहीं एलाइजा जांच में चार व्यक्ति और डेंगू संक्रमित निकले हैं। जिनका इलाज सरकारी अस्पताल में चल रहा है। जिससे जिले में डेंगू केसों की संख्या बढ़कर 784 हो गई है।

Edited By Narendra Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept