Dengue in Moradabad : ज‍िले में लगातार म‍िल रहे डेंगू के मरीज, 22 और लोगों में हुई पुष्टि

Dengue in Moradabad गांव-देहात में डेंगू से होने वाली मौत का स्वास्थ्य विभाग के पास आंकड़ा नहीं है। डेंगू जांच के बाद नौ लोगों की मौत अब तक सरकारी आंकड़ों में दर्ज हुई है। जिले में अब तक 909 डेंगू के मरीज हो चुके हैं।

Narendra KumarPublish: Tue, 09 Nov 2021 12:41 PM (IST)Updated: Tue, 09 Nov 2021 12:41 PM (IST)
Dengue in Moradabad : ज‍िले में लगातार म‍िल रहे डेंगू के मरीज, 22 और लोगों में हुई पुष्टि

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Dengue in Moradabad : जिले में डेंगू का डंक लगने से लोग गंभीर हालत में पहुंच रहे हैं। सोमवार को भी 22 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। शहर के साथ ही गांव-देहात में भी डेंगू के मरीजों की संख्या अधिक है। इनमें ज्यादातर की संख्या की पुष्टि झोलाछाप की वजह से नहीं हो पा रही है।

गांव-देहात में डेंगू से होने वाली मौत का स्वास्थ्य विभाग के पास आंकड़ा नहीं है। डेंगू जांच के बाद नौ लोगों की मौत अब तक सरकारी आंकड़ों में दर्ज हुई है। जिले में अब तक 909 डेंगू के मरीज हो चुके हैं। 510 बुखार के रोगी मिले हैं। शहर से लेकर गांव-कस्बों तक में झोलाछाप डेंगू के मरीजों की जिंदगी खतरे में डाल रहे हैं। सरकारी से लेकर निजी अस्पतालों में बुखार, डेंगू के पीड़ित मरीजों की भरमार है। इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग झोलाछाप के खिलाफ कार्रवाई करने को तैयार नहीं है। सोमवार को जिला अस्पताल की ओपीडी खुलने के साथ ही पैथलैब में एलाइजा किट से मरीजों की जांच की गई तो उसमें 22 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। इसमें बिलारी के थावला के चुन्ना, कांठ रोड कासमास अस्पताल के पीछे विकास कुमार, किसरौल रानी के फाटक के नजदीक राजीव सक्सेना, रामगंगा विहार के रहने वाले सौरभ अग्रवाल, गौड़ ग्रेशियस के करन चौधरी, हाथीपुर बहाउद्दीन के ललित कुमार, लालबाग की जैनब, चौकी हसन खां के सरताज अली, देहरी गांव के जसवंत, मकबरा के रहमत अली, चौकी हसन खां के दानियाल, असालतपुरा के नासिर, 9वीं वाहिनी पीएसी के सुनील, जामा मस्जिद की हेमा, बंगला गांव के जाहिद नूर, मकबरा के जमालउद्दीन, पीरजादा की रुकीना, गोपाल नगर के मुबारक, पीतल नगरी की शीला वर्मा, जिला अस्पताल के अजय कुमार, लालबाग के ताहिर, कटघर के शाकिर में डेंगू की पुष्टि हुई है।

डेंगू के मरीजों की पुष्टि हो रही है। टीमें उन्हें दवा दे रहीं हैं। इसके साथ ही हम लोगों को भी सावधानियां बरतनी होंगी। फुल आस्तीन के कपड़े पहनने के साथ ही सफाई का भी विशेष ध्यान रखना है।

डाॅ. एमसी गर्ग, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

Edited By Narendra Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept