गुलाब देवी को फिर से उम्मीदवार बनाने का भाजपाई कर रहे विरोध, चन्दौसी में कार्यकर्ताओं ने सामूहिक रूप से दिए त्यागपत्र

UP Vidhan Sabha Election 2022 अमरोहा में जिस तरह से विधायक महेंद्र सिंह खडगवंशी को फिर से उम्मीदवार घोषित किए जाने का विरोध हो रहा है उसी तरह से सम्भल के चन्दौसी में शिक्षा मंत्री और फिर से प्रत्याशी घोषित की गईं गुलाब देवी का हो रहा है।

Samanvay PandeyPublish: Mon, 17 Jan 2022 03:40 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 03:40 PM (IST)
गुलाब देवी को फिर से उम्मीदवार बनाने का भाजपाई कर रहे विरोध, चन्दौसी में कार्यकर्ताओं ने सामूहिक रूप से दिए त्यागपत्र

सम्भल, जेएनएन। UP Chunav 2022 :  योगी सरकार में शिक्षा राज्य मंत्री को फिर से भाजपा के द्वारा अपना प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद पार्टी के ही कार्यकर्ताओं में भारी असंतोष है। विधानसभा क्षेत्र के नगर बहजोई में बड़े स्तर पर कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने सामूहिक इस्तीफे सौंप कर विरोध जताया है। इतना ही नहीं एक दिन पूर्व पुतला फूंक कर भी नारेबाजी की जा चुकी है। इस विधानसभा क्षेत्र के चारों मंडल अध्यक्षों ने बड़े स्तर पर कार्यकर्ताओं के त्यागपत्र का जिक्र किया है।

विधानसभा क्षेत्र चन्दौसी के अंतर्गत नगर बहजोई में रविवार को भारतीय जनता पार्टी के अलग-अलग मोर्चा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता नगर अध्यक्ष रजनीश कुमार के आवास पर एकत्रित हुए जहां उन्होंने अपने अपने पैड पर इस्तीफा लिख कर दिया और पार्टी के द्वारा घोषित किए गए प्रत्याशी पर एतराज जताया। इसके अलावा नरौली के मंडल अध्यक्ष सुखवीर पाल के द्वारा दिए गए त्याग पत्र में बताया गया है कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के द्वारा विधानसभा चन्दौसी में वर्तमान विधायक को प्रत्याशी बनाकर बड़ी भूल की गई है जो कि कार्यकर्ताओं और जनता के हित में नहीं है।

जिससे पार्टी को नुकसान होगा उन्होंने कहा है कि मंडल के पदाधिकारी बूथ अध्यक्ष सेक्टर संयोजक विभिन्न मोर्चा के पदाधिकारी ने मंत्री और उनके पति पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। जिसमें लोगों की जमीन हड़पने से लेकर थाने और निर्दोष कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे का भी जिक्र किया गया है। इस मंडल में करीब 160 पदाधिकारियों के इस्तीफे होने का दावा किया है। जिसमें मुख्य तौर पर रामपाल सिंह, ओमपाल सिंह, चंद्रवीर, लोकेंद्र सिंह, हीरा देवी, सचिन राघव, सौरभ कठेरिया, अजीत सिंह आदि हैं। बहजोई देहात मंडल अध्यक्ष राजू राणा ने बताया है कि उनके मंडल से करीब 120 पदाधिकारियों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दिया है और टिकट पर एतराज जताया है।

बनियाखेड़ा मंडल अध्यक्ष गिर्राज किशोर के द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज होने और विधायक के पति पर गंभीर आरोप लगाते हुए एतराज जताया गया है। जिसमें हरेंद्र यादव, नरेश मौर्य, बाबी प्रजापति, राम प्रकाश प्रजापति, रामखिलाड़ी, सतीश जैन, पूरन मौर्य, शिवलाल कश्यप, अशोक मौर्य, चंद्रपाल प्रजापति आदि ने अपना इस्तीफा दिया है। वहीं नगर अध्यक्ष रजनीश कुमार ने बताया कि उनके नगर से 23 पार्टी पदाधिकारियों ने त्यागपत्र 100 पर हैं। जिन्हें वह जिला अध्यक्ष को भेज रहे हैं। इसके अलावा भारतीय जनता युवा मोर्चा की टीम के 12 पदाधिकारी पिछड़ा वर्ग मोर्चा के छह पदाधिकारी महिला मोर्चा के 18 पदाधिकारियों ने अपना त्यागपत्र सौंपा है। जिसमें नगर महामंत्री से शेषकर वार्ष्णेय, प्रेम शंकर कश्यप, नगर उपाध्यक्ष कौशल वार्ष्णेय, अंकित, शैलेंद्र, जितेंद्र यादव आदि शामिल हैं।

भाजपा जिलाध्यक्ष ओमवीर सिंह खडगवंशी ने बताया कि चन्दौसी में पार्टी के 18 कार्यकर्ताओं ने टिकट की मांग की थी। स्वाभाविक है कि कुछ कार्यकर्ताओं को टिकट नहीं मिला है, उन्हें एतराज होगा। सामूहिक रूप से या फिर मंडल अध्यक्षों के द्वारा इस्तीफा देने की जानकारी मुझे नहीं है। अगर कार्यकर्ता या पदाधिकारी नाराज हैं तो उनकी नाराजगी को लेकर उनसे वार्ता की जाएगी और सभी को चुनाव में साथ लाया जाएगा।

शिक्षा मंत्री गुलाब देवी का कहना है कि मैंने विधायक या मंत्री रहते हुए किसी भी कार्यकर्ता को हतोत्साहित नहीं किया है। अगर कुछ कार्यकर्ताओं की नाराजगी है तो हो सकता है वह किसी और के लिए टिकट की मांग कर रहे होंं। इस वजह से इस्तीफा दे रहे हैं। अगर उनकी नाराजगी है तो उनसे बात कर नाराजगी दूर की जाएगी।

Edited By Samanvay Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept