Year Ender 2021 : टोक्यो ओलिंपिक तक चमके मेरठ के सितारे, मिला खेल विश्वविद्यालय का तोहफा

Year Ender 2021 साल 2021 में मेरठ के कई खिलाडिय़ों ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। इसी साल मेरठ को खेल विश्वविद्यालय का मिलना बड़ी उपलब्धि रहा है। हाकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के नाम पर बनने वाला यह प्रदेश का पहला खेल विश्वविद्यालय होगा।

Parveen VashishtaPublish: Wed, 29 Dec 2021 11:21 PM (IST)Updated: Wed, 29 Dec 2021 11:21 PM (IST)
Year Ender 2021 : टोक्यो ओलिंपिक तक चमके मेरठ के सितारे, मिला खेल विश्वविद्यालय का तोहफा

मेरठ, जागरण संवाददाता। वर्ष 2021 में कोरोना के कारण लंबे अर्से तक खेलकूद गतिविधियां प्रभावित रहीं, लेकिन इस दौरान भी खिलाडिय़ों ने पसीना बहाना बंद नहीं किया। टोक्यो ओलिंपिक गेम्स में किसी एक जिले से सर्वाधिक खिलाडिय़ों की सहभागिता मेरठ से ही हुई। ओलिंपिक गेम्स में मेरठ के पांच और पैरालिंपिक गेम्स में एक खिलाड़ी ने हिस्सा लिया।

पदक नहीं मिला, प्रदर्शन को मिली सराहना

टोक्यो ओलिंपिक गेम्स में डिस्कस थ्रोअर सीमा अंतिल पूनिया, जैवलिन थ्रोअर अन्नू रानी, 20 किमी पैदल चाल एथलीट प्रियंका गोस्वामी, अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज सौरभ चौधरी और अंतरराष्ट्रीय हाकी खिलाड़ी वंदना कटारिया ने हिस्सा लिया। वहीं, पैरालिंपिक गेम्स में मेरठ के अंतरराष्ट्रीय पैरा तीरंदाज विवेक चिकारा ने हिस्सा लेकर नाम रोशन किया। पिछले कुछ समय से इन सभी खिलाडिय़ों के प्रदर्शन ने ओलिंपिक गेम्स में पदक की आस बढ़ा दी थी। हमें पदक भले नहीं मिले लेकिन सभी खिलाडिय़ों के प्रदर्शन की सराहना हुई। सौरभ चौधरी, प्रियंका गोस्वामी से पदक की अधिक उम्मीद थी इसलिए निराशा भी ज्यादा हुई। वहीं, महिला हाकी टीम में वंदना कटारिया के प्रदर्शन को देश भर में सराहना मिली। दमदार मैच में आस्ट्रेलियाई टीम को हराना बेहद रोमांचक रहा।

मेरठ में मिला खिलाडिय़ों को प्रशिक्षण का मौका

कोविड-19 के कारण तमाम गतिविधियां बंद रहने के दौरान भी मेरठ के राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय खिलाडिय़ों को कैलाश प्रकाश स्पोट्र्स स्टेडियम में प्रशिक्षण व अभ्यास करने का अवसर मिलता रहा।

हाकी के जादूगर के नाम पर होगा प्रदेश का पहला खेल विश्वविद्यालय

सरधना के सलावा में बनने जा रहा प्रदेश का पहला खेल विश्वविद्यालय हाकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के नाम पर होगा। लगभग 700 करोड़ रुपये की लागत से 36.98 हेक्टेयर जमीन में विश्वविद्यालय का निर्माण होगा। यहां ओलिंपिक खेल जैसे-हाकी, वालीबाल, ट्रैक एंड फील्ड, शूटिग रेंज, जैवेलिन थ्रो, भारोत्तोलन व कुश्ती आदि के लिए अत्याधुनिक सुविधाएं दी जाएंगी। भारत के परंपरागत खेल मलखंब, खो-खो आदि के प्रोत्साहन के लिए भी प्रशिक्षण होगा। प्रधानमंत्री आगामी दो जनवरी को इसका शिलान्‍यास करेंगे।

एस्ट्रोटर्फ लगभग तैयार, शूटिंग रेंज का कार्य शुरू

कैलाश प्रकाश स्पोट्र्स स्टेडियम में बन रहे हाकी एस्ट्रोटर्फ का काम बेहद धीमी गति से चलते हुए अब समाप्ति की कगार पर पहुंच चुका है। संभव है कि नए साल में चुनावों से पहले हाकी एस्ट्रोटर्फ का शुभारंभ हो और नए साल में खिलाडिय़ों को खेलने का मौका भी मिले।

साई ने मेरठ को चुना एथलेटिक्स प्रशिक्षण केंद्र

खेलो इंडिया योजना के अंतर्गत स्पोट्र्स अथारिटी आफ इंडिया ने मेरठ स्थित कैलाश प्रकाश स्पोट्र्स स्टेडियम को प्रशिक्षण केंद्र के लिए चयनित किया है। यहां एक कोच नियुक्त कर गांव-गांव से एथलेटिक्स की प्रतिभाएं तलाशने, प्रशिक्षण देने और प्रतिभागिता बढ़ाने की मुहिम चलाई जाएगी।

Edited By Parveen Vashishta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept