Year Ender 2021 : जानिए दिल्ली और मेरठ को कैसे करीब ले आया 2021

Year Ender 2021 वर्ष 2021 ने कोरोना की बुरी यादों को भुलाने में काफी मदद की। इस साल ने मेरठ को कई अच्छी खबरें भी दीं। विकास के नजरिए से सबसे बड़ी उपलब्धि की बात की जाए तो वह दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का शुरू होना रही।

Parveen VashishtaPublish: Tue, 28 Dec 2021 08:45 PM (IST)Updated: Tue, 28 Dec 2021 09:23 PM (IST)
Year Ender 2021 : जानिए दिल्ली और मेरठ को कैसे करीब ले आया 2021

मेरठ, जागरण संवाददाता। वर्ष 2021 में विकास का पहिया घूमा। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे शुरू हो गया। मेरठ से प्रयागराज तक के सफर को आसान करने वाले गंगा एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास हुआ। साल के अंत में आइटी पार्क का शुभारंभ युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर लेकर आया है।  

पूरी हुई 45 मिनट में दिल्ली पहुंचने की हसरत

कोरोना संक्रमण और उसकी मार के बीच वर्ष 2021 की सबसे बड़ी उपलब्धि की बात की जाए तो वह दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का शुरू होना रही। वर्ष 2015 तक इस योजना को मूर्त रूप दिया गया था। लक्ष्य रखा गया 45 मिनट में मेरठ से हजरत निजामुद्दीन तक की यात्रा पूरी कराना। 23 दिसंबर को भव्य समारोह के बीच केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस एक्सप्रेस-वे को औपचारिक रूप से जनता को सौंप दिया।

रैपिड रेल प्रोजेक्ट ने पकड़ी स्पीड, घटा लक्ष्य

दिल्ली से मेरठ के बीच रीजनल रैपिड रेल कारीडोर तथा मेरठ शहर में मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के काम ने भी इस साल में खासी रफ्तार पकड़ी। हालांकि रैपिड रेल प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य के चलते मेरठ शहर का ट्रैफिक पूर्ण रूप से प्रभावित रहा। एनसीआरटीसी ने मेरठ तक रेल संचालन का लक्ष्य एक साल कम कर दिया। दिसंबर 2023 तक दिल्ली से परतापुर तक तथा दिसंबर 2024 तक मेरठ शहर के भीतर से गुजरते हुए मोदीपुरम तक पूरे प्रोजेक्ट का संचालन करने का दावा किया जा रहा है।

शुरू हो गया गंगा एक्सप्रेस-वे का निर्माण

वर्ष 2021 में मेरठ को एक और उपहार प्रदेश सरकार से मिला। मेरठ से प्रयागराज तक के सफर को आसान बनाने के लिए सरकार ने 594 किमी लंबे गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण की घोषणा की। साल के अंत तक लगभग 36 हजार करोड़ लागत वाले इस मार्ग के लिए 95 फीसद से ज्यादा जमीन की खरीद कर ली गई और प्रधानमंत्री ने शाहजहांपुर में इसका शिलान्यास भी कर दिया।

खिंच गया जाम से मुक्ति का खाका

जाम से हलकान शहर को इस वर्ष जाम से मुक्ति मिलने की उम्मीद मिली। एनएचएआइ ने शहर से निकलने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों को आपस में लिंक करके शहर के चारो ओर रिंग रोड का खाका खींच दिया।

आइटी पार्क से आएगी नौकरियों की बहार

मेरठ में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए आइटी पार्क का निर्माण किया गया। पार्क का काम साल की शुरूआत में ही पूरा कर लेने का दावा किया गया लेकिन उसके उद्घाटन के लिए पूरे साल इंतजार ही करना पड़ा। हालांकि आज 28 दिसंबर को यह कार्य भी हो गया। इसी के साथ रियल एस्टेट और होटल-रेस्टोरेंट इंडस्ट्री में अगस्त महीना आते आते दोनों क्षेत्रों में बूम आ गया।

Edited By Parveen Vashishta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept