मौसम ने भी ली यूपीटीईटी अभ्यर्थियों की परीक्षा

रविवार को उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) में अभ्यर्थियों की मौसम ने भी परीक्षा ली। बूंदाबांदी से बढ़ी ठंड के बावजूद अभ्यर्थियों की उपस्थिति ठीक रही।

JagranPublish: Mon, 24 Jan 2022 09:16 AM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 09:16 AM (IST)
मौसम ने भी ली यूपीटीईटी अभ्यर्थियों की परीक्षा

मेरठ, जेएनएन। रविवार को उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) में अभ्यर्थियों की मौसम ने भी परीक्षा ली। बूंदाबांदी से बढ़ी ठंड के बावजूद अभ्यर्थियों की उपस्थिति ठीक रही। दोनों पालियों में करीब 87 प्रतिशत अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। हालांकि देर से पहुंचे बहुत से अभ्यर्थियों को परीक्षा कक्ष में प्रवेश नहीं दिया गया, इसे लेकर कुछ केंद्रों पर हंगामा भी हुआ। 46548 में 40171 अभ्यर्थियों ने दी परीक्षा

मेरठ में प्राथमिक वर्ग की 54 और उच्च प्राथमिक वर्ग के अभ्यर्थियों की 41 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा हुई। पहली पाली सुबह 10 बजे से 12.30 बजे तक हुई। दूसरी पाली 2.30 से पांच बजे तक हुई। दोनों पालियों में 46548 अभ्यर्थी पंजीकृत थे, इसमें 40171 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। परीक्षा शुरू होने से डेढ़ घंटा पहले अभ्यर्थियों को केंद्रों पर बुलाया गया था। कई केंद्रों पर हंगामा

सुबह 10 बजे से परीक्षा शुरू हुई। परतापुर बाइपास स्थित बीआइटी, लालकुर्ती स्थित एसएसडी ब्वायज इंटर कालेज, दिल्ली रोड स्थित केके इंटर कालेज, कनोहर लाल कालेज सहित कई केंद्रों पर कुछ अभ्यर्थी 10 बजे पहुंचे, जिन्हें परीक्षा कक्ष में प्रवेश नहीं मिला। जिसे लेकर कुछ जगह अभ्यर्थियों ने हंगामा भी किया। अभ्यर्थियों ने मौसम का हवाला दिया, फिर भी उन्हें परीक्षा कक्ष में प्रवेश नहीं मिला। बाहर खड़े रहे स्वजन

दिन में ठंड और रिमझिम बारिश के बीच बहुत से स्वजन परीक्षा केंद्रों के बाहर दुकानों के सहारे खड़े रहे। केंद्र के अंदर प्रवेश नहीं देने से उन्हें परेशानी रही। किसी भी केंद्र के बाहर जिला प्रशासन की ओर से अलाव की भी व्यवस्था नहीं थी। ब्वायज कालेज में महिलाओं को परेशानी

परीक्षा में महिला अभ्यर्थियों की संख्या अधिक थी। ब्वायज कालेजों में महिला टायलेट न होने की वजह से महिलाओं को परेशानी हुईं, उन्हें शिक्षकों के टायलेट में जाना पड़ा, कुछ जगह इसके लिए लंबी लाइन भी लगी रही। दोनों पालियों में परीक्षा

वर्ग पंजीकृत परीक्षार्थी परीक्षा दी अनुपस्थित प्राथमिक 26375 22844 3531 उच्च प्राथमिक 20173 17327 2846

ऐसे रहे सवाल

बाल विकास व शिक्षण विधि में अवधारणा आधारित सवाल पूछे गए थे। हिदी में वर्तनी, समास, हिदी की बोलियों, शुद्ध शब्द आदि से सवाल रहे। गणित के सवाल कठिन रहे। पर्यावरणीय अध्ययन में ज्यादातर सामान्य ज्ञान से संबंधित सवाल पूछे गए थे। संविधान से भी जुड़े कुछ सवाल पूछे गए थे।

-------------------

ये बोले परीक्षार्थी

प्राथमिक और उच्च प्राथमिक दोनों वर्ग की परीक्षा दिया हूं। 28 नवंबर को जो परीक्षा निरस्त हुई थी, उसी की तरह इस बार भी पेपर रहा। पेपर लीक होने से जो समय मिला, उसका लाभ भी हुआ है, पहले से पेपर अच्छा हुआ है।

-----

पेपर नार्मल था, पिछली बार तैयारी की थी। निगेटिव मार्किंग नहीं होने की वजह से प्रश्नपत्र करने में आसानी रही है।

------

28 नवंबर के पेपर की तुलना में इस बार का पेपर टफ रहा है। मौसम की वजह से परीक्षा केंद्र पर समय से पहुंचने को लेकर दिक्कत रही।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept