संजीव बालियान ने सिसौली पहुंचकर नरेश टिकैत का लिया हालचाल, सियासी सरगर्मी तेज

UP Chunav 2022 मुजफ्फरनगर के सिसौली पहुंचे डा.संजीव बालियान ने जाना भाकियू अध्यक्ष का हाल। लंबे समय बाद हुई मुलाकात के मायने सियासी सरगर्मी हुई तेज। वहीं भाकियू अध्यक्ष ने किसी दल को समर्थन नहीं देने की घोषणा की। हालांकि फैसला पंचायत में होगा।

Prem Dutt BhattPublish: Mon, 17 Jan 2022 12:11 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 02:06 PM (IST)
संजीव बालियान ने सिसौली पहुंचकर नरेश टिकैत का लिया हालचाल, सियासी सरगर्मी तेज

मुजफ्फरनगर,जागरण संवाददाता। लंबे समय का गतिरोध सोमवार सुबह टूटता नजर आया। केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान ने सिसौली के किसान भवन पहुंचकर भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत से मुलाकात की। किसान आंदोलन के दरम्यान आई तल्खी और सिसौली समेत गांवों से परहेज रखने की भाकियू अध्यक्ष की सलाह के बावजूद विधानसभा समर में हुई इस मुलाकात के अलग सियासी मायने हैं।

किसी को समर्थन नहीं देने की घोषणा

सियासी सरगर्मी तेज हुई तो एक दिन पहले गठबंधन प्रत्याशियों को सिंबल देने वाले भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने चुनाव में किसी को समर्थन नहीं करने की घोषणा कर दी। इसका फैसला इलाहाबाद पंचायत में लिया जाएगा। उधर, भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भी बयान जारी किया कि विधानसभा चुनाव में भाकियू किसी को समर्थन नहीं करेगा। सोमवार की सुबह नए राजनीतिक घटनाक्रम के साथ शुरू हुई। पिछले दिनों भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत बाथरूम में फिसलकर गिर गए थे। इसके चलते उनके कंधे का आपरेशन किया गया था। खाप चौधरी का हाल जानने रोजाना सैकड़ों लोग पहुंच रहे थे।

नरेश टिकैत का हाल चाल जाना

सोमवार सुबह केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान पीजेंट वेलफ़ेयर एसोशिएसन के चेयरमैन अशोक बालियान, सुभाष चौधरी व भाजपा किसान नेता राजू अहलावत के साथ सिसौली स्थित भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत के निवास पर पहुंचे। यहां उन्होंने भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत का हाल जाना। चौधरी नरेश टिकैत ने बताया कि चिकित्सकों के मुताबिक फिलहाल वह स्वस्थ हैं और पूरी तरह ठीक होने में समय लगेगा। किसान आंदोलन के शुरू होने से लंबे समय बाद हुई इस मुलाकात ने सियासी गलियारे में चर्चाओं का माहौल गर्म कर दिया।

भाजपा नेताओं को दी थी गांव में नहीं आने की सलाह

किसान आंदोलन के चलते गुस्से से बचने के लिए भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने भाजपा नेताओं को गांवों में नहीं आने की सलाह दी थी। चौधरी टिकैत के बयान के बाद गांवों में गुस्से का आलम जहां सिसौली में भाजपा के बुढ़ाना विधायक उमेश मलिक के काफिले पर कालिख से हमला हुआ था, वहीं सौरम में खुद केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान को विरोध झेलना पड़ा था।

इनका कहना है

चौधरी नरेश टिकैत हमारी खाप के चौधरी हैं। परिवार के मुखिया हैं। पिछले दिनों वह अस्वस्थ हो गए थे। मैं उनका हालचाल जानने आज सुबह सिसौली गया था। बहुत ही खुशनुमा माहौल में बातचीत हुई। हम सब एक हैं।

- डा. संजीव बालियान, केंद्रीय राज्यमंत्री

केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान हाल जानने आए थे। अच्छे माहौल में बातचीत हुई। फिलहाल हमने किसी को समर्थन नहीं दिया है। मुझे अकेले को अधिकार नहीं किसी को समर्थन करने या नहीं करने का। इलाहाबाद में पंचायत होनी है। इस पर वहीं फैसला लिया जाएगा।

- चौधरी नरेश टिकैत, अध्यक्ष भाकियू

Edited By Prem Dutt Bhatt

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम