लठ खायें रालोद वाले और फल पाएं सपाई, दिल्ली में डटे रहे सिवालखास और छपरौली के लोग, रालोद मुखिया का जवाब

टिकट बंटवारे से असंतुष्ट रालोद कार्यकर्ता बुधवार को पूरे दिन पार्टी प्रमुख चौ. जयंत सिंह के दिल्ली स्थित आवास पर डेरा डाले रहे। रालोद मुखिया से उनकी दो दौर की वार्ता भी हुई। कोई सकारात्मक हल नहीं निकलने पर लोग लौट आए।

Taruna TayalPublish: Thu, 20 Jan 2022 01:00 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 01:06 AM (IST)
लठ खायें रालोद वाले और फल पाएं सपाई, दिल्ली में डटे रहे सिवालखास और छपरौली के लोग, रालोद मुखिया का जवाब

मेरठ, जागरण संवाददाता। टिकट बंटवारे से असंतुष्ट रालोद कार्यकर्ता बुधवार को पूरे दिन पार्टी प्रमुख चौ. जयंत सिंह के दिल्ली स्थित आवास पर डेरा डाले रहे। रालोद मुखिया से उनकी दो दौर की वार्ता भी हुई। कोई सकारात्मक हल नहीं निकलने पर लोग लौट आए।

छपरौली विधानसभा सीट पर अचानक हुए फेरबदल के चलते बुधवार सुबह बागपत जिले के लोग बसंत कुंज स्थित रालोद सुप्रीमो के आवास पर पहुंच गए। सिवालखास सीट पर पुनर्विचार को लेकर मेरठ से भी लोग पहुंचे। बागपत से पहुंचे लोग जयंत चौधरी या उनकी पत्नी चारू को छपरौली सीट से चुनाव लड़वाने का आग्रह कर रहे थे। इस पर जयंत ने साफ इन्कार कर दिया। सिवालखास सीट पर भी परिवर्तन करने से मना कर दिया।

'लठ खायें रालोद वाले और फल पाएं सपाई'

बुधवार सुबह छपरौली सीट पर बदलाव का संदेश जारी होते ही सिवालखास में भी बदलाव की मांग जोर पकड़ने लगी। इंटरनेट मीडिया पर भी मेरठ में सपा के गलत निर्णय का प्रभाव मुजफ्फरनगर और अन्य जनपदों में पड़ने के संदेश वायरल होते रहे। कई संदेशों में लोगों ने धैर्य बनाए रखने और मजबूती से जयंत का साथ देने की बात कही। वहीं अजय चौधरी नाम के ट््िवटर हैंडल से एक संदेश में कहा गया-किसान आंदोलन में लठ खाएं रालोद वाले और फल पाएं सपाई।

 

Edited By Taruna Tayal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept