This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

मुजफ्फरनगर में मारपीट पर संजीव बालियान का बड़ा बयान, कहा- जयंत व अखिलेश के इशारे पर बिगाड़ा जा रहा माहौल

केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ संजीव बालियान ने पत्रकार वार्ता में कहा कि सोरम में साजिश के तहत मारपीट कराई गई। दिल्ली में बैठे रालोद के बड़े नेता (जयंत चौधरी) ने प्रकरण के चंद मिनटों में ट्वीट कर दिया ।

Taruna TayalWed, 24 Feb 2021 06:23 AM (IST)
मुजफ्फरनगर में मारपीट पर संजीव बालियान का बड़ा बयान, कहा- जयंत व अखिलेश के इशारे पर बिगाड़ा जा रहा माहौल

मुजफ्फरनगर, जेएनएन। शामली के गांव भैंसवाल में केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान के खिलाफ नारेबाजी और गांव सोरम में मारपीट प्रकरण से मंगलवार को सियासी तूफान खड़ा हो गया। संजीव बालियान ने रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर माहौल खराब करने का आरोप लगाते हुए कहा कि नफरत फैलाने वालों को जनता माफ नहीं करेगी। मस्जिद से मेरे विरोध का एलान किया गया। वहीं, रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह ने सोरम पहुंचकर कहा कि वह किसानों के साथ हैं।

सोरम प्रकरण को लेकर केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान ने पहले पत्रकार वार्ता की, फिर गांव में पहुंचकर लोगों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे रालोद के बड़े नेता (जयंत चौधरी) ने प्रकरण के चंद मिनट बाद ट्वीट कर दिया। इससे पूर्व भैंसवाल में अखिलेश यादव के इशारे पर माहौल खराब करने का प्रयास किया गया। विपक्षी मुजफ्फरनगर को आग में झोंकना चाहते हैं, लेकिन वह ऐसा नहीं होने देंगे। वर्ष 2013 में हुए दंगों में ये लोग कहां थे? तब जनता की सुध नहीं ली और आगे भी नहीं लेंगे। लाल किले पर लाइव दिखाई देने वाले रालोद कार्यकर्ता भी मारपीट में मौजूद रहे। कहा कि लोगों को आपस में लड़वाकर समाज को तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। इस मामले की विस्तृत जांच होनी चाहिए। कहा कि चौ. अजित सिंह जिस सड़क से आए हैं, वह उन्होंने ही बनवाई है। किसान मेरा परिवार है। हमेशा परिवार के बीच रहूंगा।

चौधरी साहब ने कानून बनाया, मोदी ने खत्म किया : अजित

रालोद प्रमुख चौ. अजित सिंह ने कहा कि मैं यह नहीं कहता कि किसान मेरे साथ है, बल्कि मैं किसानों के साथ हूं। कहा कि चौ. चरण सिंह ने कानून बनाया था कि शुगर मिल किसानों का बकाया न दें तो मिल को जब्त कर लो, लेकिन मोदी सरकार ने यह कानून खत्म कर दिया। चौ. साहब ने सबसे बड़ा काम किया कि किसानों का वोटबैंक बना दिया, जिसमें जाति और धर्म के लोग हैं। कहा कि किसानों को एकजुट रहना होगा। किसान आंदोलन रुकने वाला नहीं है। आगामी पंचायत को लेकर किसान खुद निर्णय लें। किसान जब भी कहेंगे वह उनके साथ खड़े होंगे।

यह था सोरम प्रकरण

संजीव बालियान सोमवार को गांव सोरम में एक रस्म तेरहवीं में गए थे। रालोद कार्यकर्ताओं ने पुलिस की मौजूदगी में भाजपा और केंद्रीय राज्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी की थी। इससे दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी, जिसमें चार लोग घायल हुए थे। इसके विरोध में रालोद नेताओं ने पहले सोरम की चौपाल पर पंचायत की, फिर शाहपुर थाने का घेराव कर संजीव बालियान समेत मारपीट करने वालों के खिलाफ तहरीर दी थी।

यह भी पढ़ें: RLD सुप्रीमो अजित सिंह ने भाजपा सरकार पर साधा निशाना, बोले- कुछ भी कर लो, नहीं रुकेगा विरोध

मेरठ में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!