यूपी चुनाव 2022: इंटरनेट मीडिया में हजारों युवाओं को मिला चुनावी रोजगार, बस करना होगा ये काम

UP Assembly Election 2022 यूपी चुनाव में पार्टी से लेकर प्रत्याशी तक ने अपने लिए रखी युवाओं की टीम। वीडियो व पोस्टर बनाकर वायरल करना मतदाताओं तक वाइस मैसेज भेजने का काम। एक डिजिटल कंपनी के अनुसार पश्चिम उप्र में ही हजारों युवाओं को रोजगार मिल चुका है।

Taruna TayalPublish: Tue, 25 Jan 2022 07:00 AM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 08:02 AM (IST)
यूपी चुनाव 2022: इंटरनेट मीडिया में हजारों युवाओं को मिला चुनावी रोजगार, बस करना होगा ये काम

मेरठ, प्रदीप द्विवेदी। इस बार चुनाव प्रचार का रंग-ढंग बदला है तो इस समय रोजगार पाने वालों का भी स्वरूप बदला है। चुनाव आयोग ने जब वर्चुअल रैली और वर्चुअल प्रचार-प्रसार का निर्देश दिया। भीड़ लेकर रैली या प्रचार प्रसार करने पर रोक लगा दी तो पार्टी से लेकर प्रत्याशियों तक को इस डिजिटल माध्यम पर आना पड़ा। सभी पार्टियों ने दिल्ली, लखनऊ से लेकर स्थानीय स्तर तक आइटी सेल में युवाओं की संख्या बढ़ा दी। विधानसभा स्तर पर इंटरनेट मीडिया पर प्रचार-प्रसार को तेजी से करने के लिए तैनात कर दिए गए। प्रत्याशियों ने पार्टी से अलग हटकर भी अपनी टीम बना ली। किसी के पास संख्या कम है तो किसी के पास ज्यादा, मगर इनके वार रूम का माहौल गजब का है। इन युवाओं की टोली प्रत्याशी के जनसंपर्क के वीडियो बनाती है। उसमें गाने सेट करती है। फिर उसे एडिट करके वायरल करती है। विभिन्न माध्यमों पर पोस्टर व वीडियो शेयर किए जाते हैं। मतदाताओं की सूची लेकर उन्हें फोन किया जाता है। वाइस मैसेज व टेक्स्ट मैसेज भेजे जाते हैं। एक डिजिटल कंपनी के अनुसार पश्चिम उप्र में ही हजारों युवाओं को इस कार्य के लिए रोजगार मिल चुका है।

किसी के पास 20 तो किसी के पास हैं 40 सदस्यों की टोली

कैंट से ही भाजपा के प्रत्याशी अमित अग्रवाल ने 40 युवाओं की टीम बनाई है। 20 युवाओं की टीम दिल्ली व लखनऊ से पार्टी स्तर से भेजी गई सामग्री को अपने मतदाताओं तक भेजने में जुटी है तो वहीं 20 युवाओं की अन्य टीम उनके संपर्क अभियान का प्रचार इंटरनेट मीडिया पर कर रही है। सपा जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह ने बताया कि यहां पर जिला स्तरीय वार रूम तैयार किया जा रहा है। इसमें करीब 25 युवा रहेंगे। साथ ही प्रत्याशियों ने अपने स्तर पर भी टीम बना ली है। कांग्रेस के कैंट सीट प्रत्याशी व जिलाध्यक्ष अवनीश काजला ने बताया कि जिला स्तरीय वार रूम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। यहां पर 20 युवा रहेंगे। अन्य प्रत्याशियों ने अपने स्तर पर भी टीम बनाई है। कैंट से ही बसपा प्रत्याशी अमित शर्मा का कहना है कि उन्होंने अपनी 20 युवाओं की टीम बनाई है। यह टीम हर समय सक्रिय रहती है। यह पांच हिस्से में कार्य कर रही है। रालोद के क्षेत्रीय अध्यक्ष यशवीर सिंह ने बताया कि उनकी सबसे बड़ी टीम दिल्ली में कार्य कर रही है। लखनऊ में भी है। बाकी विधानसभा स्तर पर प्रत्याशियों ने अपनी टीम बनाई है।

इंटरनेट मीडिया पर अब रोजगार हमेशा मिलेगा

नोएडा स्थित डिजिटल मीडिया के लिए कार्य करने वाली कंपनी रेड हाट मीडिया हाउस के सीईओ सर्वेश मिश्रा का कहना है कि ये न प्रत्याशियों ने सोचा था और न ही पार्टियों ने कि उन्हें वर्चुअल रैली या प्रचार के मोड में आना पड़ेगा। लेकिन हमारे यहां का युवा हमेशा नई चीजें बिना किसी झिझक के सीखता है। इसलिए इस मौके पर युवाओं को असमय रोजगार मिल गया। उन्होंने बताया कि डिजिटल मीडिया के कार्य को लगभग हर युवा जानते हैं। इसके लिए कंपनियों को भी काम मिला है और कुछ लोगों ने कंपनियों से युवाओं की मांग की। हजारों युवाओं को सिर्फ पश्चिमी उप्र में ही काम मिल चुका है। इनमें से कुछ पहले से ही रोजगार पर थे कुछ ने पहली बार शुरुआत की है। अब समय इसी माध्यम का है और आनलाइन अब बहुत मिलने लगा है। ऐसे में यह चुनावी रोजगार आगे भी कायम रहने वाला है।

Edited By Taruna Tayal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept