स्टेडियम विवाद ने तूल पकड़ा, सुशील फौजी की तलाश में दबिश

रोहटा के भदौड़ा गांव में शिव मंदिर की जमीन पर स्टेडियम बनाने के मामले में प्रधान और पूर्व प्रधान का विवाद तूल पकड़ गया है। प्रधान गुड्डी देवी के बेटे सुशील फौजी ने शिकायतकर्ता के घर पर जाकर जान से मारने की धमकी दी।

JagranPublish: Tue, 30 Nov 2021 06:23 AM (IST)Updated: Tue, 30 Nov 2021 06:23 AM (IST)
स्टेडियम विवाद ने तूल पकड़ा, सुशील फौजी की तलाश में दबिश

मेरठ, जेएनएन। रोहटा के भदौड़ा गांव में शिव मंदिर की जमीन पर स्टेडियम बनाने के मामले में प्रधान और पूर्व प्रधान का विवाद तूल पकड़ गया है। प्रधान गुड्डी देवी के बेटे सुशील फौजी ने शिकायतकर्ता के घर पर जाकर जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने प्रधान पुत्र के खिलाफ रंगदारी और जान से मारने की धमकी देने के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने सुशील फौजी के घर पर धरपकड़ को दबिश दी। प्रधान पक्ष का आरोप है कि पुलिस ने घर में घुसकर जमकर तोड़फोड़ की। उन्होंने तोड़फोड़ के फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिए।

भदौड़ा गांव की प्रधान गुड्डी देवी ने गांव में स्टेडियम निर्माण का काम शुरू कर दिया है। कुख्यात योगेश भदौड़ा की पत्नी पूर्व प्रधान सुमन ने इसका विरोध किया। साथ ही एसडीएम से इस मामले की शिकायत की। सुमन का आरोप है कि शिवमंदिर की जमीन में स्टेडियम बनाया जा रहा है। सुमन पक्ष इसका विरोध कर रहा है। योगेश भदौड़ा पक्ष के इरफान पुत्र सईद की तरफ से गत थाना दिवस पर सुशील फौजी की मां गुड्डी देवी की शिकायत की गई। शिकायत में बताया गया कि मंदिर की जमीन पर स्टेडियम नहीं बनने देंगे। सुशील फौजी को मामले की जानकारी मिली। आरोप है कि उसके बाद सुशील फौजी हथियारों से लैस होकर अपने साथियों के साथ इरफान के घर पर पहुंचा। उसने इरफान के मुंह में पिस्टल डालकर जान से मारने की धमकी दी। इरफान का आरोप है कि उससे रकम वसूली की मांग भी की गई। इरफान ने इसी की आडियो रिकार्डिंग भी पुलिस को दे दी है, जिस पर पुलिस ने इरफान की तहरीर पर सुशील फौजी के खिलाफ जान से मारने की धमकी और रंगदारी का मुकदमा दर्ज कर लिया है। रविवार को पुलिस की टीम ने सीओ के नेतृत्व में सुशील फौजी की गिरफ्तारी को लेकर घर पर दबिश डाली है। सुशील फौजी घर से फरार हो गया है। एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि सुशील के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य है। उसकी गिरफ्तारी जल्द ही की जाएगी। स्टेडियम बनाने का मामला सिविल का है, जिसकी जांच एसडीएम कर रहे है। कानून व्यवस्था कदापि प्रभावित नहीं होने देंगे।

पुलिस तोड़फोड़ की वीडियो वायरल :

सुशील फौजी की तरफ से इंटरनेट मीडिया पर कुछ वीडियो वायरल की गई हैं, जो उसके घर की हैं। घर का सभी सामान टूटा पड़ा हुआ है। सुशील फौजी पक्ष का आरोप है कि पुलिस ने दबिश के दौरान घर में तोड़फोड़ की है। एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि पुलिस ने सुशील को पकड़ने के लिए दबिश दी थी। सुशील फौजी पक्ष ने घर का सामान खुद तोड़ा है। वीडियो में कोई भी सामान पुलिस तोड़ती दिखाई नहीं दे रही है।

गांव में स्टेडियम बनाने को लेकर कानून व्यवस्था प्रभावित नहीं होने देंगे। कानून हाथ में लेने वाले पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सुशील फौजी के खिलाफ साक्ष्य मिलने पर मुकदमा लिखा गया है। उसकी गिरफ्तारी को पुलिस टीम लगा दी गई है।

प्रभाकर चौधरी, एसएसपी

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept