तो अब ब्रह्मापुरी में सिर्फ बारिश आएगी.. 'आफत' नहीं

वर्षो से जलभराव का दंश झेल रहे ब्रह्मापुरी क्षेत्र को बारिश के जलभराव से अब निजात मिल सकती है। इसके लिए ओडियन नाले किनारे झंडे वाले चौराहे से भुमिया पुल के बीच सड़क काटकर दो स्थानों पर गहरे नाले बनाए जा रहे हैं।

JagranPublish: Fri, 28 Jan 2022 07:52 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 07:52 AM (IST)
तो अब ब्रह्मापुरी में सिर्फ बारिश आएगी.. 'आफत' नहीं

मेरठ, जेएनएन। वर्षो से जलभराव का दंश झेल रहे ब्रह्मापुरी क्षेत्र को बारिश के जलभराव से अब निजात मिल सकती है। इसके लिए ओडियन नाले किनारे झंडे वाले चौराहे से भुमिया पुल के बीच सड़क काटकर दो स्थानों पर गहरे नाले बनाए जा रहे हैं। नगर निगम अधिकारियों का दावा है कि इससे ब्रह्मापुरी के छोटे नाले सीधे ओडियन नाले में गिरेंगे। जिससे जलनिकासी सुनिश्चित होगी।

सड़क काटकर एक गहरा नाला व पुलिया निर्माण झंडे वाले चौराहे के पास किया जा रहा है। इससे शारदा रोड के नाले को जोड़ा गया है। बारिश में शारदा रोड नाला उफनाने से जलभराव होता रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए ओडियन नाले में यहां की जलनिकासी दी जा रही है। वहीं, शास्त्री की कोठी वाला रास्ता जहां पर ओडियन नाले किनारे वाली सड़क पर मिलता है। ठीक उसके पास सड़क काटकर दूसरा गहरा नाला बनाया गया है। इस पर पुलिया का निर्माण भी कर दिया गया है। चूंकि शास्त्री की कोठी वाले रास्ते का नाला उफनाकर बारिश का पानी ब्रह्मापुरी के घरों में भरता रहा है। अब ओडियन नाले से सीधे जलनिकासी होने से बारिश का पानी निकल जाएगा। इन दोनों स्थानों पर पहले डाट वाली पुलिया के नाले थे, जिससे ओडियन नाले में सीधे जलनिकासी संभव नहीं होती थी। हालांकि स्थानीय लोगों का कहना है कि जलनिकासी ओडियन नाले के जलस्तर पर निर्भर करेगी। क्योंकि बारिश में ओडियन नाला भी उफान पर होता है। ऐसे में ब्रह्मापुरी की जलनिकासी तभी संभव होगी, जब ओडियन नाले का जलस्तर नीचे रहे।

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को लेकर निगम अधिकारियों ने किया निरीक्षण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम को लेकर गुरुवार शाम को नगर आयुक्त मनीष बंसल ने अन्य अधिकारियों के साथ दोनों स्थानों पर हो रहे नाला व पुलिया निर्माण का निरीक्षण किया। ब्रह्मापुरी क्षेत्र में देर शाम सफाई अमला सफाई में जुटा रहा। इससे पहले कंकरखेड़ा में सुबह मार्शल पिच से 24 बेसहारा पशुओं को पकड़कर कान्हा उपवन गोशाला परतापुर भेजा गया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept