This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Route diversion In Meerut: ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिए NCRTC ने तैनात किए 100 मार्शल, 24 घंटे रहेंगे मुस्‍तैद

जागरूकता के लिहाज से एनसीआरटीसी ने ट्रैफिक मार्शल की तैनात करने के साथ-साथ यातायात सूचित करने वाले विभिन्न निर्देश जैसे नो पार्किंग उल्टी दिशा में वाहन ना चलाये निर्माण क्षेत्र में वाहन ना रोके और कई अन्य सांकेतिक व दिशात्मक संकेत भी लगाए हैं।

Prem Dutt BhattSun, 01 Aug 2021 07:00 PM (IST)
Route diversion In Meerut: ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिए NCRTC ने तैनात किए 100 मार्शल, 24 घंटे रहेंगे मुस्‍तैद

मेरठ, जागरण संवाददाता। Route diversion In Meerut रैपिड रेल के काम शुरू हो जाने के कारण दिल्ली-मेरठ रोड पर दिल्ली से मेरठ की ओर आने वाली ट्रैफिक के लिए डायवर्जन किया गया है। जो मेरठ सेंट्रल आरआरटीएस स्टेशन के पहले से प्रारंभ होता है। यह ट्रैफिक डायवर्जन करीब 3.5 किमी की लबाई का है और ट्रांसपोर्ट नगर गेट से लेकर बागपत रोड तक है। मेरठ से दिल्ली जाने के रास्ते का कोई डायवर्जन नही किया गया है। एनसीआरटीसी ने मेरठ की ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिये 100 के करीब ट्रैफिक मार्शल तैनात किये हैं जो 24 घंटे तैनात रहेंगे। ये ट्रैफिक मार्शल लाल और हरे झंडे, सीटी, रिफ्लेक्टिव जैकेट, हेलमेट और लाइटिंग बैटन के साथ लैस है और मेरठ ट्रैफिक पुलिस के सहयोग से ट्रैफिक की व्यवस्था संभाल रहे है।

लोगों के लिए विभिन्न निर्देश

एनसीआरटीसी ने ट्रैफिक मार्शल की तैनात करने के साथ-साथ यातायात सूचित करने वाले विभिन्न निर्देश जैसे नो पार्किंग, उल्टी दिशा में वाहन ना चलाये, निर्माण क्षेत्र में वाहन ना रोके, और कई अन्य सांकेतिक व दिशात्मक संकेत भी लगाए है जिससे सड़क पर कट और टर्न की सही जानकारी मिले। रात में चल रहे निर्माण की जगह पर लेजर लाइट स्ट्रिंग भी लगाई गई है। रंबल स्ट्रिप्स और अन्य ट्रैफ़िक कंट्रोल करने वाले उपकरणों की सहायता से गति नियंत्रण के उपायों की भी व्यवस्था की गयी है साथ ही क्रैश बैरियर भी स्थापित किए गये है।

यातायात जागरूकता के लिए पहल

एनसीआरटीसी के अनुसार डायवर्जन की योजना स्थानीय प्रशासन के सहयोग से बनाई है। कोई भी डायवर्जन लेने से पहले कुछ दिन उसका ट्रायल होता है। ट्रायल के समय अगर कोई भी कमी सामने आती है तो उससे दूर करके व कोई नया सुझाव भी आता है तो उससे डायवर्जन प्लान में शामिल करने के बाद ही लागू किया जाता है। आम जनता को ट्रैफिक के प्रति जागरूक करने और ट्रैफिक नियमों का पालन करने के लिए एनसीआरटीसी समय-समय पर नुक्कड़ नाटक और सामुदायिक संपर्क कार्यक्रम का आयोजन भी करता रहा है। हाल ही में एनसीआरटीसी ने यातायात जागरूकता के लिए बेगमपुल चौराहे पर एक एलईडी स्क्रीन लगाई है जो यातायात नियमों की जानकारी के अलावा रैपिड रेल प्रोजेक्ट की वीडियो भी दिखा रही है।

Edited By: Prem Dutt Bhatt

मेरठ में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
 
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner