निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को राहत, कोरोना में होम आइसोलेशन पर नहीं होगी वेतन कटौती

हर रोज कोरोना के केस सामने आ रहे है। सरकारी और प्राइवेट विभागों में कार्य करने वाले लोग भी कोरोना से संक्रमित हो रहे है। शासन की गाइडलाइन के अनुसार कोरोना से संक्रमित होने पर सात दिनों तक होम आइसोलेशन पर रहना है।

Parveen VashishtaPublish: Tue, 18 Jan 2022 07:59 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 07:59 PM (IST)
निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को राहत, कोरोना में होम आइसोलेशन पर नहीं होगी वेतन कटौती

बागपत, जागरण संवाददाता। कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है और लोगों को होम आइसोलेशन में रहना पड़ रहा है। कोरोना गाइडलाइन के अनुसार सात दिन का होम आइसोलेशन होता है। इस दौरान निजी क्षेत्र में कार्य करने वाले कर्मियों को परेशानी हो रही थी, क्‍योंकि नियोक्‍ता उनके वेतन में कटौती कर रहे थे। अब होम आइसोलेशन के सात दिनों में वेतन की कटौती नहीं की जाएगी। इस मामले में शासन के निर्देश जिलाधिकारी को मिल गए हैं।

कोरोना संक्रमित के लिए ये हैं नियम

हर रोज कोरोना के लगातार केस सामने आ रहे है। सरकारी और प्राइवेट विभागों में कार्य करने वाले लोग भी कोरोना से संक्रमित हो रहे है। शासन की गाइडलाइन के अनुसार कोरोना से संक्रमित होने पर सात दिनों तक होम आइसोलेशन पर रहना है। इस अवधि में वह अपने घर पर ही रहकर स्वास्थ्य को ठीक करने के लिए निर्धारित किया गया है। सरकारी कर्मचारी को इस अवधि में वेतन मिलता है, लेकिन प्राइवेट कर्मचारियों का कई जगह काम वेतन काटा जा रहा था।

मुख्य सचिव ने दिए निर्देश

शासन स्तर पर वेतन काटने की शिकायत पहुंची तो मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने बागपत समेत प्रदेश के सभी जिलों में आदेशित किया है कि निजी कार्यालय के कर्मचारी कोई कोरोना से पाजिटिव होते है वह सात दिन के होम आइसोलेशन पर घर पर रहेंगे। इस अवधि संबंधित निजी क्षेत्र के अधिकारी सात दिनों का वेतन नहीं काटेंगे। जिससे कर्मचारी के सामने किसी भी तरह की आर्थिक कठिनाई न हो। इसके लिए मंडल और जिला स्तर के अधिकारियों को आदेशित किया गया है।

10080 लोगों को लगाया कोरोनारोधी टीका

बागपत। जिले में स्वास्थ्य विभाग कोरोना का टीकाकरण वायरस से प्रतिरक्षित करने का काम कर रहा है। लगातार अभियान जारी है। मंगलवार को 10080 लोगों को टीकाकरण किया गया। सीएमओ डा. दिनेश कुमार ने बताया कि 15 से 18 वर्ष के 2131 लोगों को टीकाकरण किया गया। वहीं बूस्टर डोज 251 हेल्थ केयर वर्कर, 296 फ्रंटलाइन वर्कर और 60 वर्ष से अधिक के 136 लोगों को टीकाकरण किया गया। 149 सत्रों में 26000 लक्ष्य के सापेक्ष 10080 लोगों को टीकाकरण किया गया।

Edited By Parveen Vashishta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept