सहारनपुर: सीसीटीवी में कैद महिला अस्पताल की बेरहमी, गर्भवती को बाल पकड़कर घसीटते हुए पीटा

सहारनपुर जिला महिला अस्पताल में गर्भवती महिला को भर्ती करने के नाम पर पैसे मांगे गए। विरोध पर जमकर अभद्रता की गई। महिला के साथ आए तीमारदार महिलाओं को भी पीटा गया। सीसीटीवी फुटेज ने अस्पताल कर्मियों की पोल खोल कर रख दी है।

Taruna TayalPublish: Sat, 27 Nov 2021 07:30 AM (IST)Updated: Sat, 27 Nov 2021 07:30 AM (IST)
सहारनपुर: सीसीटीवी में कैद महिला अस्पताल की बेरहमी, गर्भवती को बाल पकड़कर घसीटते हुए पीटा

सहारनपुर, जेएनएन। उप्र सरकार सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का हाल बदलने की कोशिश में लगी है, लेकिन भ्रष्टाचार के पहरुये बन चुके कुछ अस्पतालकर्मी सरकार की कोशिशों पर पानी फेरने में लगे हैं। गुरुवार को गर्भवती से हुई मारपीट के मामले में भी ऐसा ही हुआ। महिला अस्पताल में गर्भवती महिला को भर्ती करने के नाम पर पैसे मांगे गए। विरोध पर जमकर अभद्रता की गई। सीसीटीवी फुटेज ने अस्पताल कर्मियों की पोल खोल कर रख दी है।

फुटेज में साफ दिख रहा है कि एक महिला कर्मचारी गर्भवती महिला को पहले बुरी तरह पीटती है। इसके बाद कई महिलाएं आकर उसके बाल पकड़कर कमरे में ले जाती है। अस्पताल की महिला कर्मचारी यहीं नहीं रुकती है। वह गर्भवती महिला के साथ आई महिलाओं को भी पीटना शुरू कर देती है। एक मिनट आठ सेकेंड की इस फुटेज में साफ है कि किस तरह से महिला अस्पताल में मरीजों के साथ व्यवहार किया जा रहा है। दरअसल, सदर बाजार थानाक्षेत्र के गांव पिंजोरा निवासी काजल को उसका पति सुधीर और अन्य परिजन महिला अस्पताल लेकर पहुंचे थे।

काजल गर्भवती थी। जिसे भर्ती करने के लिए अस्पताल के कर्मचारियों से कहा गया। आरोप है कि भर्ती करने के नाम पर उनसे पांच हजार रुपये मांगे गए। रुपये नहीं दिए तो भर्ती करने से साफ इन्कार कर दिया। इसी बात लेकर गर्भवती महिला और महिला कर्मचारी के बीच बहस हो लगी। जिसके बाद गर्भवती महिला को घसीट-घसीटकर पीटा गया।

सुधीर बजरंग दल संगठन का कार्यकर्ता है। बजरंग दल के लोगों ने इसी के विरोध में आंबेडकर चौक पर जाम लगा दिया था। देर रात महिला कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आश्वासन पर जाम खोला गया था। वहीं, इस मामले में काजल के परिजनो ने सीएमओ को एक तहरीर देकर जांच कर कार्रवाई की मांग की गई है। अस्पताल में मरीजों के साथ होती है बदतमीजीजिला अस्पताल हो या फिर महिला अस्पताल। बजरंग दल के पदाधिकारी कपिल मोहड़ा का कहना है कि दोनों ही स्थानों पर मरीजों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जा रहा है। यहां पर सर्जरी तक करने के लिए पैसे लिए जाते हैं। कई बार उनके सामने शिकायत आ चुकी है। दवाईयों को अधिकतर बाहर से लिखा जाता है।

इन्‍होंने बताया...

महिला अस्पताल में हुई मारपीट के प्रकरण की जांच के लिए एक कमेटी बना दी गई है। जिस पक्ष की गलती होगी, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सीसीटीवी फुटेज को भी जांच में शामिल किया जाएगा।

- डा. संजीव मांगलिक, सीएमओ 

Edited By Taruna Tayal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept