This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

मोबाइल पर गेम खेलकर ईवीएम की निगरानी कर रहे कार्यकर्ता

अभी मतगणना को कई दिन बचे हैं। कताई मिल के गेट पर ईवीएम की रखवाली में तैनात बसपा कार्यकर्ताओं की दिनचर्या इन दिनों मोबाइल पर गेम खेलकर एवं उपन्यास पढ़कर कट रही है।

Taruna TayalMon, 22 Apr 2019 05:11 PM (IST)
मोबाइल पर गेम खेलकर ईवीएम की निगरानी कर रहे कार्यकर्ता

मेरठ, [राजेंद्र शर्मा]। लोकसभा चुनाव 2019 की मतगणना में काफी दिन बचे हैं। आगामी 23 मई को परतापुर स्थित कताई मिल पर जिले की सातों विधानसभा सीटों की मतगणना होगी। ऐसे में कताई मिल के गेट पर ईवीएम की रखवाली में तैनात बसपा कार्यकर्ताओं की दिनचर्या इन दिनों मोबाइल पर गेम खेलकर एवं उपन्यास पढ़कर कट रही है।
कताई मिल पर बना है कैंप
जिले की सातों विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम परतापुर स्थित कताई मिल में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रखी गई हैं। राजनीतिक दलों की मांग पर जिला प्रशासन ने कताई मिल चौकी परिसर एवं मिल के मुख्य गेट के पास ही कैंप भी बनाया है। यहां किसी भी दल के अलावा कोई भी निर्दलीय प्रत्याशी अथवा उनके समर्थक भी 24 घंटे ईवीएम की निगरानी के लिए रह सकते हैं।
तीन शिफ्टों में कर रहे ड्यूटी
ईवीएम जमा होने के बाद गत 12 अप्रैल से बसपा कार्यकर्ता 24 घंटे कैंप में डटे हुए हैं। प्रशासन की अनुमति मिलने पर गर्मी से बचने एवं मौसम आदि खराब होने पर गेट के पास ही अपना अलग कवर्ड कैंप भी बनाया है। प्रशासन के कैंप में प्रतिदिन बसपा कार्यकर्ता आठ-आठ घंटे की ड्यूटी निभा रहे हैं। जिसमें पहली शिफ्ट सुबह छह से दोपहर दो बजे, दूसरी दो से रात 10 बजे व तीसरी रात 10 से सुबह छह बजे तक है। प्रशासन से क्योंकि दो कार्यकर्ताओं के ही एक साथ रुकने की अनुमति मिली है, ऐसे में इतने ही कार्यकर्ता वहां एक समय में रहते हैं।
चाय व अखबार से शुरू होती दिनचर्या
आठ घंटे का समय बिताने के लिए इन कार्यकर्ताओं की दिनचर्या सुबह की चाय व अखबार से शुरू होती है। इसके बाद दिन में कभी मोबाइल पर गेम खेलकर तो कभी उपन्यास पढ़कर वहां समय व्यतीत कर रहे हैं। जहां तक खाने-पीने का सवाल है, उसके लिए दो से तीन कार्यकर्ता उसी तरह मिलकर उनका खाना देकर आते हैं। यह सब पार्टी की तरफ से आता है जबकि चाय आदि की व्यवस्था पास में ही स्थित चाय की दुकान से हो जाती है।
कांग्रेस मंगलवार तक लेगी निर्णय
हापुड़ लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में हरेंद्र अग्रवाल चुनाव लड़े हैं। परतापुर कताई मिल में ईवीएम जमा होने के बाद अभी तक कांग्रेस पार्टी की ओर से कोई पदाधिकारी अथवा कार्यकर्ता कैंप में रहने के लिए तैनात नहीं किया गया है। कांग्रेस पार्टी के प्रेस प्रवक्ता हरिकिशन आंबेडकर बताते हैं कि जल्दी ही ईवीएम की निगरानी के लिए कार्यकर्ताओं की तैनाती की जाएगी। सोमवार अथवा मंगलवार तक इस बारे में अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा।
भाजपा कार्यकर्ताओं का कैंप आज से
भारतीय जनता पार्टी की ओर से मेरठ-हापुड़ लोकसभा सीट से सांसद राजेंद्र अग्रवाल चुनाव लड़े हैं। हालांकि अभी भाजपा की ओर से यहां कैंप में किसी पदाधिकारी या कार्यकर्ता को निगरानी के लिए तैनात नहीं किया गया है। भाजपा महानगर उपाध्यक्ष विवेक रस्तोगी बताते हैं कि पार्टी की ओर से चार पास बनाने के लिए आवेदन किया गया था। शनिवार देर शाम चार पास मिल गए हैं, अब सोमवार सुबह से ही कैंप में कार्यकर्ताओं को तैनात किया जाएगा।
कभी नहीं होते बोर
कैंप पर तैनात दीपक व इमरान का कहना है कि यहां आठ घंटे की ड्यूटी में हम कभी बोर नहीं होते क्योंकि पार्टी ने हम कार्यकर्ताओं पर भरोसा जताकर यह अहम जिम्मेदारी सौंपी है। उसी जिम्मेदारी से हम भी अपने कार्य को यहां बखूबी अंजाम दे रहे हैं। 

Edited By: Taruna Tayal

मेरठ में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!