UP Election 2022: नेहा सिंह राठौड़ के यूपी में काबा गीत का मेरठ की कवयित्री अनामिका अंबर ने इस तरह दिया जवाब

UP Vidhan Sabha Election 2022 भोजपुरी गायिका नेहा सिंह राठौड़ के यूपी में काबा गीत का मेरठ की कवयित्री अनामिका अंबर ने दिया जवाब।उनका यूपी में बाबा हैं गीत इंटरनेट मीडिया पर हो रहा वाइरल। चुनाव में गीतों के बहाने भी घेराबंदी का दौर जारी है।

Taruna TayalPublish: Fri, 28 Jan 2022 10:00 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 03:06 PM (IST)
UP Election 2022: नेहा सिंह राठौड़ के यूपी में काबा गीत का मेरठ की कवयित्री अनामिका अंबर ने इस तरह दिया जवाब

मेरठ, जागरण संवाददाता। यूपी में का बा... का जवाब यूपी में बाबा प्रदेश में विधानसभा चुनाव में वर्चुअल प्रचार के साथ कविताओं और गीतों के माध्यम से एक दूसरे पर प्रहार हो रहा है। इसमें भोजपुरी गायिका नेहा सिंह राठौर के गीत यूपी में का बा... की सबसे अधिक हो रही है। जिसके जवाब में गोरखपुर के सांसद व अभिनेता रविकिशन, सांसद व अभिनेता मनोज तिवारी के गीत भी खूब वायरल है।

https://www.youtube.com/watch?v=7G0b85ErfMU&feature=youtu.be

अब इसमें मेरठ की कवयित्री अनामिका अंबर भी कूद गईं हैं। उन्होंने बुंदेली भाषा में यूपी में का बा.. के जवाब में यूपी में बाबा.. के नाम से गीत दिया है। गीत में अनामिका जैन अंबर ने साड़ी में गीत गाते हुए खुद को बुंदेलखंड की बेटी बताया है। जिसमें उन्होंने यूपी में का बा.. का जवाब देते हुए कहा कि यूपी में बाबा है। बुंदेली भाषा में अनामिका का गीत प्रदेश भर में वायरल हो रहा है।

बुंदेलखंड के ललितपुर की रहने वाली अनामिका जैन अंबर कवयित्री और गायिका हैं। वह खुद गीत लिखतीं हैं। देश और विदेश के कई मंचों पर वह कविता पाठ कर चुकी हैं। उनकी शादी मेरठ के कवि सौरभ सुमन से हुई है। जो भी कविता पाठ करते हैं। यूपी में का बा... भोजपुरी गीत के जवाब में अनामिका जैन अंबर ने अपने बुंदेलखंडी आवाज और अंदाज में यूपी में बाबा हैं.. का गीत गणतंत्र दिवस पर लिखा। उसके अगले दिन इसका वीडियो बनाकर वायरल किया है। जो पूरे प्रदेश में तेजी से वायरल हो रहा है।

बचपन से कर रहीं कव‍िता पाठ

बाल कवयित्री रहीं अनामिका। बहुत कम उम्र से लेखन शुरू। 12 वर्ष की आयु से ही टूटा फूटा लिखती थी। सन 2000 में पूरे देश से जैन कवि बड़ागाँव(बागपत) में बुलाये गए थे उसमें बतौर बाल कवयित्री आई जिसमें मेरठ से युवा कवि सौरभ जैन सुमन ने भी शिरकत की थी। दोनो की प्रथम भेंट वहीं हुई। लगातार कवि सम्मेलन करते रहे फिर 2006 में 15 दिसम्बर को विवाह हुआ। शादी के कार्ड पर निमंत्रण में भी 7 कवि जिनमें मरहूम ओम प्रकाश आदित्य, पद्मश्री सुरेंद्र शर्मा, कुमार विश्वास, संतोषानंद आदि ने कविता लिखकर सभी को निमंत्रण दियाथा। कवि कुल में प्रथम विवाह था। 2006 से मेरठ में राह रहीं हैं। कविता की एक किताब "अनामिका" प्रकाशित।

Read more जयंत चौधरी ने दंगा, जिन्ना और पलायन पर भाजपा को घेरा, कार्यकर्ताओं को द‍िया अहम संदेश

Edited By Taruna Tayal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept