मेरठ में हदें पार कर रही सर्दी, कोल्‍ड डे के बीच बारिश की भी आशंका

Meerut Weather News Update इनदिनों मेरठ और आसपास ठंड सारे रिकार्ड तोड़ने पर अमादा है। मेरठ में सामान्य से नौ डिग्री कम रहा अधिकतम तापमान सोमवार को भी ऐसे ही सताएगी ठंड। आने वाले दिनों में बारिश भी हो सकती है।

Prem Dutt BhattPublish: Mon, 17 Jan 2022 07:53 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 12:58 PM (IST)
मेरठ में हदें पार कर रही सर्दी, कोल्‍ड डे के बीच बारिश की भी आशंका

मेरठ, जागरण संवाददाता। Meerut Weather Update मेरठ और आसपास के जिलों में ठंड जमकर कहर बरपा रही है। मेरठ जनपद में लगातार तीसरा दिन भी गंभीर कोल्ड डे की श्रेणी में रहा। अधिकतम तापमान सामान्य से नौ डिग्री कम रहा। 21 और 22 जनवरी को फिर से बारिश की संभावना है। मौसम विभाग के मानकों के अनुसार अगर अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री कम हो और न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से कम हो तो कोल्ड डे की स्थिति होती है। रविवार को दिन में हल्की धूप निकली। आसमान में बादल छाए रहे। अधिकतम तापमान 13.2 डिग्री रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 5.8 दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी कोल्ड डे की स्थिति रहेगी। सुबह के समय कोहरा छाने की भी आशंका है।

घर से निकल नहीं पा रहे लोग

इस बीच भीषण सर्दी से जनपदवासी हलकान हैं। वहीं शनिवार को जनपद प्रदेश में न सिर्फ सबसे ठंडा रहा, बल्कि यहां का अधिकतम तापमान कुल्लू और मनाली जैसे हिल स्टेशनों से भी कम रहा। दिन में गलन के मारे लोगों की हिम्मत घर से बाहर निकलने की नहीं हुई। सूर्य देव सुबह से छाए कुहासे से बाहर नहीं आ सके। कब सुबह हुई और कब शाम घिर आई पता ही नहीं चला। वहीं रविवार को भी सुबह की शुरुआत घने कोहरे के साथ ही हुई। सड़कों पर वाहना चलाने में चालकों को दिक्‍कतों का सामना करना पड़ा।

तीसरे दिन भी कोहरे की चादर ओढ़ रहे सूर्यदेव, ठंड बढ़ी

बिजनौर : पिछले कई दिनों से मौसम में बार-बार बदलाव हो रहा है। सुबह सवेरे ही आसमान में कोहरा छाया रहा और शीत लहर चलने से ठंड बढ़ी। तीन दिन लगातार कोहरा छाया रहने से धूप दिखाई नहीं दी। गत रविवार कोहरा बारिश बनकर बरसा। कोहरा एवं शीतलहर चलने से ठंड में काफी इजाफा हुआ। ठंड होने के चलते तापमान में भी गिरावट देखी जा रही है। आसमान में बादल हाय रहने से अभी तक सूर्य देव के भी दर्शन नहीं हुए हैं, जिससे ठंड का ज्यादा एहसास हो रहा है। मौसम में ज्यादा ठंड होने के कारण सड़कों पर आवाजाही कम दिखाई दी और बाजार में भी लोगों की चहल-पहल कम रही। किसानों को भी पशुओं का चारा का प्रबंध करने में परेशानी का सामना करना पड़ा।

शाम घिरते ही ठंड का कहर

मेरठ में शनिवार को तापमान का अनूठा संयोग रहा। अधिकतम तापमान सामान्य से 11 डिग्री कम दर्ज किया गया। दिन भर अधिक ऊंचाई वाले बादल छाए रहे। दिन में कंपकंपी बंद होने का नाम नहीं ले रही थी, शाम घिरते ही ठंड कहर बन गई। दिन में जनपद में ठंड ने इस कदर पैर पसारे कि उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के हिल स्टेशनों के अधिकतम तापमान से मेरठ का तापमान कम दर्ज किया गया। मसूरी, शिमला और जम्मू से कहीं अधिक ठंडा मेरठ का दिन रहा। प्रदेश में मेरठ के बाद मुजफ्फरनगर में अधिकतम तापमान 11.9 डिग्री रहा। मेरठ का न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री रहा। यह सामान्य से दो डिग्री कम रहा।

42 वर्षों में रिकार्ड गिरावट

दिन के तापमान में इतनी गिरावट यदा कदा ही देखी गई है। कृषि प्रणाली संस्थान के प्रधान मौसम विज्ञानी डा. एन सुभाष ने बताया कि 1980 से अगर आकलन करते हैं तो केवल वर्ष 2011, 2004, 2003 और 1999 में अधिकतम तापमान 11 डिग्री से कम रहा था। डा. सुभाष ने कहा कि आगे भी मौसम की स्थितियां अनुकूल नहीं हैं। 16 से 22 जनवरी के बीच तीन पश्चिम विक्षोभ सक्रिय हो रहे हैं। इससे 20 से 22 जनवरी के बीच एनसीआर में बारिश होने की आशंका है। 

Edited By Prem Dutt Bhatt

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept