मेरठ में सुबह से ही घना कोहरा,अभी सताएगी शीतलहर, जानिए मौसम का हाल

Meerut Weather News Update मेरठ में ठंड का कहर अभी जारी है। गुरुवार को भी सुबह की शुरुआत कई स्‍थानों पर घने कोहरे के साथ ही हुई। वहीं बुधवार की रात को हुई बूंदाबांदी ने मौसम का मिजाज बिगाड़ दिया। अभी बारिश का दौर भी शुरू होगा।

Prem Dutt BhattPublish: Thu, 20 Jan 2022 08:10 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 10:00 AM (IST)
मेरठ में सुबह से ही घना कोहरा,अभी सताएगी शीतलहर, जानिए मौसम का हाल

मेरठ, जागरण संवाददाता। Meerut Weather Update मेरठ और आसपास के जिलों में गुरुवार की सुबह से ही घना कोहरा छाया हुआ है। वहीं शीतलहर का भी प्रकोप बढ़ गया है। घने कोहरे के कारण वाहन चालकों को दिक्‍कतों का सामना करना पड़ा। वहीं मेरठ में कड़ाके की ठंड के लंबे दौर ने लोगों को हलकान कर दिया है। बुधवार को लंबे समय के लिए धूप निकली। छह दिन बाद अधिकतम तापमान 15 के अंक को पार कर पाया। हालांकि शाम की दस्तक से पहले ही बादल घिर आए और कहीं-कहीं बूंदें भी गिरीं। वहीं सुबह धुंध की चादर ओढ़े हुए अवतरित हुई। वहीं गुरुवार को भी सुबह की शुरुआत ठंड और घने कोहरे के साथ ही हुई।

शीतलहर का सामना

मौसम विज्ञानियों के अनुसार आने वाले बारिश के दौर बाद एक बार फिर कड़ाके की ठंड के लिए जनपद वासियों को तैयार रहने की जरूरत है। गणतंत्र दिवस के आसपास शीतलहर का सामना करना पड़ सकता है। यानी अभी गणतंत्र दिवस तक सर्दी से कोई राहत नहीं मिलने जा रही है। पूर्वानुमान है कि गणतंत्र दिवस के बाद भी दिन में सर्दी का सितम थोड़ा कम भले हो जाए, लेकिन सूरज ढलने के बाद रात में कड़ाके की ठंड बनी रहेगी। बुधवार को अधिकतम तापमान सामान्य से सात डिग्री कम 15.8 रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 6.0 डिग्री रहा। सुबह के समय कोहरा पड़ा। गुरुवार को तापमान में और बढ़ोतरी देखने मिल सकती है।

21 से घिरने लगेंगे बादल, पश्चिमी विक्षोभ बिगाड़ेगा मौसम

स्काईमेट के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने बताया कि 21 जनवरी से एक प्रबल पश्चिमी विक्षोभ पहाड़ों के साथ मैदानों में बारिश लेकर आएगा। पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी भी देखने को मिल सकती है। कृषि प्रणाली संस्थान के प्रधान मौसम विज्ञानी डा. एन सुभाष ने बताया कि मेरठ में 21 जनवरी की रात से बारिश के अंतराल आने आरंभ हो जाएंगे। बादल और बारिश की स्थितियां 23 जनवरी तक जारी रहेंगी। मौसम विश्लेषक महेश ने बताया कि 23 के बाद न्यूनतम तापमान में कमी दर्ज की जाएगी। सुबह और शाम के बाद कड़ाके की ठंड रहेगी। हालांकि दिन में मौसम साफ रहेगा। धूप निकलेगी। बताते चलें कि दिन में धूप न निकलने से ठंड का प्रकोप बढ़ जाता है। जैसा कि एक सप्ताह से जनपदवासी भीषण ठंड झेल रहे हैं। कोल्ड डे और शीतलहर का प्रकोप बना हुआ है।

पिछले कुछ दिनों का अधिकतम तापमान डिग्री सेल्सियस में

13 जनवरी: 14.0

14 जनवरी: 13

15 जनवरी: 11.0

16 जनवरी: 13.2

17 जनवरी: 14.0

18 जनवरी: 14.2

19 जनवरी: 15.8 

बागपत में ठंड

बागपत में बुधवार रात में बूंदाबांदी और दिन निकलते ही चारों ओर कोहरे हो गया। इससे सड़क पर रेंग रेंगकर वाहन चल रहे हैं। न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं एक्यूआई 384 हो गया। वायु प्रदूषण में बढ़ोतरी हुई है। उधर चौगामा क्षेत्र में घने कोहरे के साथ बारिश शुरू हुई। इससे किसानों के चेहरों पर चिंता के बादल छाने लगे है। किसानों को उनके खेतों में खड़ी सरसों की फसल बर्बाद होने का डर सता रहा है। इस समय सरसों की फसल पर फलियां बनने से फसल गिरने का खतरा किसानों को सता रहा है।

मुजफ्फरनगर में बूंदाबांदी से ठिठुरन बढ़ी, शीतलहर से जनजीवन प्रभावित

मुजफ्फरनगर : मौसम का मिजाज आए दिन बदल रहा है। बुधवार रात्रि और गुरुवार सुबह बूंदाबांदी से ठिठुरन बढ़ गई है। सुबह के समय घना कोहरा भी छाया रहा, जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ है। एक सप्ताह से ठीक से धूप नहीं निकली है। इससे फसलों पर भी प्रभाव पड़ा है। शीतलहर का असर बाजारों पर भी पड़ा है। कृषि वैज्ञानिक गेहूं के लिए मौसम को अनुकूल मान रहे हैं। वहीं सब्जी फसल के लिए मौसम हानिकारक है।

Edited By Prem Dutt Bhatt

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept