मेरठ के सोतीगंज में स्क्रैप खाली नहीं करने वाले कबाड़ियों पर पुलिस ने उठाया यह कदम

Meerut Sotiganj News मेरठ में सोतीगंज के कबाड़ियों पर पुलिस ने शिकंजा और कस दिया है। दुकानों को स्क्रैप खाली नहीं करने के लिए 160 सीआरपीसी में नोटिस जारी किया गया। उसके तहत कबाड़ियों को थाने बुलाकर बयान दर्ज किए जाएंगे।

Prem Dutt BhattPublish: Mon, 17 Jan 2022 09:20 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 09:20 AM (IST)
मेरठ के सोतीगंज में स्क्रैप खाली नहीं करने वाले कबाड़ियों पर पुलिस ने उठाया यह कदम

मेरठ,जागरण संवाददाता। एक माह बीतने के बाद भी मेरठ के सोतीगंज बाजार में स्क्रैप खाली नहीं करने वाली सभी दुकानों को चिन्हित कर लिया है। उन सभी दुकानों को स्क्रैप खाली नहीं करने के लिए 160 सीआरपीसी में नोटिस जारी किया गया। उसके तहत कबाडिय़ों को थाने बुलाकर बयान दर्ज किए जाएंगे। क्योंकि पुलिस को शक है कि उनकी दुकानों और गोदामों में भरे स्कै्रप में चोरी के वाहनों के उपकरण रखे हुए है।

एसएसपी की सख्‍त कार्रवाई

सदर बाजार थाना क्षेत्र के सोतीगंज बाजार में चोरी के वाहनों की कटान कर उनके हिस्सों, पुर्जों व उपकरणों को बेचा जा रहा था। तमाम शिकायतें मिलने पर एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने सोतीगंज में चोरी के वाहन कटान करने वालों पर कार्रवाई की। वाहन चोरों और वाहनों को काटने वाले आरोपितों की पूछताछ में सामने आया कि वे सोतीगंज की सभी दुकानों पर चोरी के वाहनों के कल-पुर्जे बेच चुके हैं, जिसके बाद 12 दिसंबर को सोतीगंज में वाहन कटान का बाजार बंद कर दिया था। उसके बाद 50 दुकानदारों से कारोबार बदलने के लिए शपथ पत्र दिया। पुलिस ने कबाडिय़ों को कारोबार बदलने के लिए बैंक से लोन तक दिलाने के प्रयास किए। हालांकि 70 फीसदी कबाड़ी अपने दुकान और गोदाम से स्क्रैप खाली कर चुके है। स्क्रैप खाली नहीं करने वाले तीस फीसदी दुकानदारों को 160 सीआरपीसी में नोटिस जारी कर दिया है। 160 सीआरपीसी में पुलिस को अधिकार है कि कबाडिय़ों को थाने बुलाकर पूछताछ कर सकती है।

साक्ष्य को बचाने के लिए जरूरी

चोरी के वाहन कटान के बाद उपकरण दुकानों में पहुंचाए और बेचे जाते थे। विवेचना में सामने आ चुका है। यदि दुकानों और गोदामों में स्क्रैप भरा हुआ है। तो सभी को 160 सीआरपीसी का नोटिस देकर बयान दर्ज किए जाएंगे। उनसे स्क्रैप के बारे पूछा जाएगा।

- प्रभाकर चौधरी, एसएसपी।

ये है सोतीगंज की कार्रवाई

- 1982 से घरों के अंदर तक वाहन कटान की दुकानें और गोदाम खुलते चले गए।

- 48 दुकानें सोतीगंज में वाहनों के उपकरणाों की पंजीकृत

- 800 दुकानें और 80 गोदाम सोतीगंज में स्क्रैप थे।

- 300 से ज्यादा कथित कांट्रेक्टर स्क्रैप हैं।

- 2500 मुकदमें सोतीगंज के कबाडिय़ों और चोरों पर दर्ज है।

- 321 मुकदमों की विवेचना विभिन्न थानों में चल रही है।

- 56 कबाड़ी गैंगस्टर के पांच मुकदमों में आरोपित बनाये गए है।

- 05 कबाडिय़ों की एक अरब से ज्यादा संपत्ति जब्त की जा चुकी है।

- 400 वाहनों के इंजन बरामद किये जा चुके हैं।

- 275 दुकानों की जांच आयकर विभाग की टीम कर रही है।

- 50 कबाडिय़ों ने करोबार बदलने को शपथ पत्र दिया है।

Edited By Prem Dutt Bhatt

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept