मेरठ में कोरोना मरीज खोजने को स्वास्थ्य विभाग ने बनाई यह रणनीति

Meerut Coronavirus News मेरठ में 7141 मरीज आइसोलेशन में हैं वहीं 7187 सक्रिय मरीज हैं। 1977 मरीज ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि ये एक दिन में डिस्चार्ज किए गए मरीजों की सबसे बड़ी संख्या है।

Parveen VashishtaPublish: Wed, 19 Jan 2022 10:08 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 10:08 AM (IST)
मेरठ में कोरोना मरीज खोजने को स्वास्थ्य विभाग ने बनाई यह रणनीति

मेरठ, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण पर पूरी तरह नियंत्रण लगने तक लापरवाही न करें। मरीज भले ही एक हजार से कम मिल रहे, लेकिन संक्रमण की दर 13 प्रतिशत से ज्यादा बनी हुई है। मंगलवार को 6562 सैंपलों की जांच में 885 मरीज मिले हैं। गढ़ रोड निवासी 52 साल के ब्रेन हैमरेज के मरीज की मौत भी हुई है। पल्हेड़ा में 122 जबकि कंकरखेड़ा में 112 मरीज मिले हैं। वहीं, 46 मरीजों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। उधर, प्रदेश सरकार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर कोविड मरीज खोजने के काम में जुटेगी।  

भारी पड़ सकती है लापरवाही 

सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि 885 मरीजों में से 523 नए मामले, जबकि 362 कांटैक्ट केस हैं। डाक्टरों का कहना है कि सर्दी के मौसम में संक्रमण से ज्यादा बचाव की जरूरत है। जरा सी लापरवाही सीओपीडी, अस्थमा एवं कोमार्बिड मरीजों को भारी पड़ सकती है। 7141 मरीज आइसोलेशन में हैं, वहीं 7187 सक्रिय मरीज हैं। 1977 मरीज ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि ये एक दिन में डिस्चार्ज किए गए मरीजों की सबसे बड़ी संख्या है।

पोलियो की तर्ज पर घर-घर पहुंचेगी टीम

प्रदेश सरकार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर कोविड मरीज खोजेगी। बुखार, खांसी एवं अन्य लक्षणों वाले मरीजों की स्क्रीनिंग कर उन्हें दवा एवं किट दी जाएगी। अभियान सात दिन तक चलेगा।

टीकाकरण ने गति पकड़ी  

मेरठ, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज होने के साथ-साथ कोरोनारोधी टीकाकरण ने भी गति पकड़ी है। टीकाकरण में 15 से 18 आयु वर्ग के किशोरों को मौका मिलना अभियान के लिए उत्प्रेरक का काम कर रहा है। किशोर सुबह से ही केंद्रों पर भाई-बहन, दोस्तों के साथ टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। इनके उत्साह के आगे ठंड के तेवर भी ढीले पड़ गए हैं। वहीं, मंगलवार को बीते दिनों की अपेक्षा धूप की चमक तेज रही। इसके असर यह रहा कि 23650 लोग केंद्रों पर टीका लगवाने पहुंचे। बीते दो दिनों से दोपहर के समय कुछ देर के लिए ही सही, लेकिन हल्की धूप रहने से टीकाकरण का ग्राफ चढ़ा है। टीका लगवाने के लिए लोग घरों से बाहर कदम रखने की हिम्मत जुटा पा रहे हैं। इसके चलते सोमवार को कुल 20966 और मंगलवार को 23650 लोगों ने टीका लगवाया। जबकि शनिवार को खराब मौसम के चलते महज 16300 लोगों को ही टीका लगा था। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रवीण कुमार गौतम ने बताया कि मंगलवार को हुए टीकाकरण में 18 से ऊपर आयु के 6603 को पहली और 10950 को दूसरी डोज दी गई। 1146 लोगों को सतर्कता डोज दी गई। इनमें 60 से अधिक आयु के 601 लोग, 206 स्वास्थ्यकर्मी और 339 फ्रंटलाइन वर्कर शामिल हैं। वहीं, 15 से ऊपर आयु के किशोरों में 4951 किशोरों को टीका लगाया गया। 81277 यानी 33.7 फीसद किशोरों को पहली डोज दी चुकी है।

इन्‍होंने कहा

कोविड का नया वैरिएंट गले में असर कर रहा, लेकिन यह फेफड़ों तक नहीं जा रहा। इसीलिए निमोनिया के केस कम हैं। फिर भी लगातार तेज बुखार रहने पर डाक्टर से संपर्क कर जांच कराएं। थर्मामीटर व आक्सीमटर जरूर रखें। थकान, गले में चुभन, दर्द एवं डायरिया भी उभर सकता है। घबराएं न। हल्का गुनगुना पानी पीएं। उच्च प्रोटीन खानपान करें।

-डा. तनुराज सिरोही, वरिष्ठ फिजिशियन

Edited By Parveen Vashishta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept