मिलावटी शराब बनाने का भंडाफोड़, पुलिस के हत्थे चढ़े चार बदमाश

चुनाव से ठीक पहले मिलावटी शराब बनाने का भंडाफोड़ किया है। सर्विलांस आबकारी और कंकरखेड़ा पुलिस ने 70 हजार लीटर एक्स्ट्रा नेचुरल एल्कोहल (ईएनए) बरामद किया है जिससे मिलावटी शराब बनाई जाती।

JagranPublish: Wed, 19 Jan 2022 05:20 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 05:20 AM (IST)
मिलावटी शराब बनाने का भंडाफोड़, पुलिस के हत्थे चढ़े चार बदमाश

मेरठ, जेएनएन। चुनाव से ठीक पहले मिलावटी शराब बनाने का भंडाफोड़ किया है। सर्विलांस, आबकारी और कंकरखेड़ा पुलिस ने 70 हजार लीटर एक्स्ट्रा नेचुरल एल्कोहल (ईएनए) बरामद किया है, जिससे मिलावटी शराब बनाई जाती। दौराला शुगर मिल से ईएनए के दो टैंकर अलीगढ़ जा रहे थे, जिनमें से ईएनए निकाला गया था। पुलिस ने इस मामले में आसवक (दौराला शुगर मिल इंचार्ज) समेत आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है, जिसमें से चार आरोपितों को गिरफ्तार भी कर लिया है।

पुलिस लाइन में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी सिटी विनीत भटनागर और एसपी क्राइम अनित कुमार ने बताया कि सोमवार को दौराला शुगर मिल से ईएनए के दो टैंकर अलीगढ़ वेब डिस्टलरी जा रहे थे। पुलिस को सूचना मिली कि टैंकरों से ईएनए निकाला जा रहा है। टीम ने कंकरखेड़ा क्षेत्र में से दो टैंकरों को पकड़ा, जिनमें 70 हजार लीटर ईएनए था, जो शुगर मिल के टैंकरों से निकाला गया था। पुलिस ने विश्वास कुमार निवासी आजमपुर मूलरसम दोघट बागपत, करनैल सिंह निवासी चकफेरी रसूलपुर आबाद थाना अफजलगढ़ बिजनौर, आलोक निवासी दौराला और समयद्दीन निवासी जगमोहन नगर दौराला रोड सरधना को गिरफ्तार किया। पूछताछ में उन्होंने अपने साथियों के नाम सोनू निवासी लावड़, कुलदीप निवासी अगौता, अपिल बोहरा निवासी पंजाबी बाग दक्षिण दिल्ली बताए। सभी के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसपी सिटी ने बताया कि मुकदमे में आसवक को शामिल किया गया है। पुलिस ने दो टैंकर, दो सेंट्रो कार, 12 जरी कैन व एक पाइप भी बरामद किया है। आरोपित ईएनए के जरिए चुनाव में मिलावटी शराब बनाते, जिससे जनहानि भी हो सकती थी। पुलिस फरार आरोपितों की तलाश में दबिश दे रही है। जल्द ही उनको पकड़ लिया जाएगा। शासन तक पहुंचा मामला

विधानसभा चुनाव से पहले पुलिस ने हजारों लीटर ईएनए पकड़ा है, जिसकी जानकारी शासन तक पहुंच गई है। मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए गए हैं। इसके चलते ही एक एसआइटी को गठित किए जाने की बात की जा रही है, जो आबकारी और मिल के अफसरों की जांच करेगी। इसके साथ ही चोरी का मामला कब से चल रहा है, इसका भी पता लगाया जाएगा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept