सैकड़ों घरों के लोग शुद्ध पेयजल से वंचित

जागरण संवाददाता वलीदपुर (मऊ) शासन ने नगर पंचायतों का गठन इसलिए किया कि लोगों को विकास

JagranPublish: Tue, 25 Jan 2022 03:50 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 03:50 PM (IST)
सैकड़ों घरों के लोग शुद्ध पेयजल से वंचित

जागरण संवाददाता, वलीदपुर (मऊ) : शासन ने नगर पंचायतों का गठन इसलिए किया कि लोगों को विकास के साथ-साथ शुद्ध पेयजल व सड़क सुविधा मिल जाएगी लेकिन मातहत इस पर पानी फेरते नजर आ रहे हैं। जनपद की नगर पंचायत वलीदपुर की हालत अब बद से बदतर होती जा रही है। यहां सैकड़ों घरों के लोग दूषित पानी पीने को विवश हैं। इनके घरों तक पहुंची जलनिगम की पाइप जर्जर होकर नष्ट हो चुकी है। इसे नगर पंचायत प्रशासन बनवाने की जहमत नहीं उठाया। यही वजह है कि यहां चार नंबर हैंडपंप का दूषित पानी पीने को लोग विवश हैं। यह किसी भी समय जानलेवा साबित हो सकता है। अभी हाल ही में यहां के एक दर्जन लोग दूषित पानी पीकर बीमार हो चुके हैं।

नगर वासियों की माने तो नगर की पेयजल आपूर्ति पूरी तरह से खत्म हो चुकी है। गिने चुने मोहल्लों में ही पेयजल आपूर्ति होती है। पेयजल का संकट दिन प्रतिदिन गहराता जा रहा है। आमजन की बढ़ती समस्याओं को देखते हुए संबंधित विभाग ने संज्ञान में लिया। इसमें नगर पंचायत के गठन के बाद 67 समबर्सिबल व नगर का चुनाव के बाद करीब 30 समबर्सिबल यानी कुल मिलाकर लगभग 100 सबमर्सिबल 29500 आबादी पर पेयजल के लिए लगाया गया है। लगभग एक दर्जन समबर्सिबल की वाटर सप्लाई व्यवस्था सभी के घरों में नहीं पहुंच पाई है। नगर पंचायत प्रशासन ने 64 जगहों पर बिल्डिग बनाकर उसके ऊपर एक-एक हजार लीटर की पानी टंकी रखा है। गर्मी के दिनों में शीतल पेयजल के लिए आधा दर्जन जगहों पर फ्रिजर भी लगाया गया है। बिजली न रहने पर आर्थिक रूप से कमजोर लोग छोटी मशीनों का गंदा पानी पीने के लिए मजबूर रहते हैं। इससे डायरिया, उल्टी दस्त आदि रोगों से लोग ग्रसित हो जा रहे हैं। नगर में गंदा पानी पीने से बीमार होने का मामला आए दिन देखने को मिलता रहता है।

नगर पंचायत विभाग द्वारा पेयजल व्यवस्था काफी जटिल है। इस समस्या को विभाग कभी गंभीरता से नहीं लेता है।

बच्चे लाल, भीरा पश्चिमी, वलीदपुर

----------------------

आपूर्ति को लेकर जिम्मेदार अधिकारियों से कई बार कहा गया परंतु वहां से उत्तर मिला कि इस कार्य के लिए काफी लंबा बजट की आवश्यकता है।

शमीम अख्तर, भीरा पूर्वी, वलीदपुर

--------------------

पेयजल मूलभूत आवश्यकता है। जब शुद्ध पानी नहीं मिलेगा तो तरह-तरह की बीमारी होने की संभावना बढ़ती जाएगी। नगर में आज भी कमजोर वर्ग के लोग दूषित पानी पीने को विवश हैं।

मतीउर्रहमान, भीरा, वलीदपुर

------------------------

नगर की जो मुख्य समस्या है उस पर आज तक विभाग ध्यान नहीं दिया। सिर्फ लाइट रास्ता आदि बनाने में लगी हुई है। आज भी लोग पेयजल के लिए परेशान रहते हैं।

गौरव गुप्ता बिचला पूरा, वलीदपुर

----------------

नगर पंचायत पेयजल आपूर्ति की पाइप लाइन काफी पुरानी एवं जर्जर हो चुकी है। फिर भी नगर के 204 घरों में वाटर सप्लाई होती है। इसके अतिरिक्त लोगों की पेयजल सुविधा के लिए करीब 100 समबर्सिबल सभी मोहल्लों में लगवाया गया है। कुछ लोग अपने आवास खेतों में बना लिए हैं। इसलिए उन्हें पानी की दिक्कत है।

नितेश कुमार गौरव, ईओ वलीदपुर

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम