परीक्षा हुई रद, अभ्यर्थियों ने कोसी व्यवस्था

संवाद सहयोगी मथुरा उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 (यूपीटीईटी) पेपर लीक होने के

JagranPublish: Mon, 29 Nov 2021 04:52 AM (IST)Updated: Mon, 29 Nov 2021 04:52 AM (IST)
परीक्षा हुई रद, अभ्यर्थियों ने कोसी व्यवस्था

संवाद सहयोगी, मथुरा : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 (यूपीटीईटी) पेपर लीक होने के कारण निरस्त होने से अभ्यर्थी मायूस हो गए। आंसर शीट वापस लेने पर अभ्यर्थी व्यवस्थाओं को कोसने लगे। परीक्षा केंद्रों पर अफरा-तफरी का वातावरण बन गया। परीक्षा केंद्र पर लगा स्टाफ भी परीक्षा रद होने की जानकारी करने लगा। अभ्यर्थी कहने लगे कि अब फिर से परीक्षा के लिए मेहनत करनी होगी। इससे समय भी खराब होता है और मानसिक तनाव बढ़ता है। अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा अभ्यर्थियों को भुगतना पड़ता है।

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा दो पालियों में आयोजित होनी थी। प्राथमिक स्तर की परीक्षा सुबह की पाली में सुबह दस बजे से दोपहर 12.30 बजे तक होनी थी। इस पाली में परीक्षा 45 परीक्षा केंद्रों पर होनी थी और 21,079 अभ्यर्थी पंजीकृत थे। शाम की पाली दोपहर ढाई बजे से शाम पांच बजे तक होनी थी। यह परीक्षा 28 परीक्षा केंद्र पर होनी थी और 13,062 अभ्यर्थी पंजीकृत थे। नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए परीक्षा केंद्रों पर सेक्टर मजिस्ट्रेट, स्टेटिक मजिस्ट्रेट, पर्यवेक्षक तैनात किए गए थे। प्रथम पाली की परीक्षा सुबह दस बजे शुरू हुई और करीब आधा घंटा अभ्यर्थी परीक्षा दे चुके थे। इसी दौरान प्रदेश स्तर पर पेपर लीक होने की सूचना फैलने लगी। इसके बाद प्रदेश में परीक्षा रद करने के आदेश दे दिए गए। डीएम नवनीत सिंह चहल ने भी जिले में परीक्षा निरस्त करने के आदेश जारी कर दिए। इस आदेश के बाद परीक्षा रद कर दी गई और अभ्यर्थियों से आंसर शीट वापस ले ली गई। अभ्यर्थी परीक्षा स्थगित होने पर मायूस हुए और व्यवस्थाओं को कोसते रहे। दूसरे जिलों से आए अभ्यर्थियों का कहना था कि परीक्षा के लिए आवागमन में होने वाली परेशानी भी अधिकारियों को समझनी चाहिए। आए दिन प्रश्न पत्र लीक होने के मामले सामने आते हैं, इसके बाद भी ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। डीएम नवनीत सिंह चहल ने बताया कि उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा का पेपर लीक होने के कारण रद कर दिया गया है । क्या कहते हैं अभ्यर्थी

1. परीक्षा के लिए आधी रात बस स्टैंड पर ही ठंड में काटी है। परीक्षा पास करने के लिए दिन-रात पढ़ाई की थी। अब फिर से तैयारी करनी पड़ेगी।

रामकृपाल यादव, सीतापुर 2. प्रश्न पत्र लीक होना सरकार की असफलता भी है। आए दिन परीक्षाओं के पेपर लीक होने की सूचनाएं आती हैं, इसके बाद भी ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं।

दीपक, मथुरा 3. यह आवश्यक नहीं हैं कि हर बार परीक्षा के लिए बेहतर तैयारी हो सके। लापरवाही के कारण प्रश्न पत्र लीक हो जाते हैं और पढ़ने वाले अभ्यर्थियों को परेशानी झेलनी पड़ती है।

मो. मिनहाजुल, भरतपुर 4. अगर प्रश्न पत्र लीक होने का पता न चलता तो नकल करने वाले अभ्यर्थियों के ज्यादा नंबर आते और पढ़ने वाले अभ्यर्थी पीछे रह जाते। यह पढ़ने वाले अभ्यर्थियों के भविष्य से खिलवाड़ होता।

वैशाली, मथुरा

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम