स्वर, लय और ताल की त्रिवेणी पर झूम उठा वृंदावन

स्वामी हरिदास की भूमि पर जब शास्त्रीय संगीत के स्वर गूंजे तो संगीत प्रेमी

JagranPublish: Thu, 09 Dec 2021 09:51 AM (IST)Updated: Thu, 09 Dec 2021 09:51 AM (IST)
स्वर, लय और ताल की त्रिवेणी पर झूम उठा वृंदावन

संवाद सहयोगी, वृंदावन: स्वामी हरिदास की भूमि पर जब शास्त्रीय संगीत के स्वर गूंजे तो संगीत प्रेमी खुद को ठगा सा महसूस करने लगे। स्वामी हरिदास संगीत व नृत्य महोत्सव के मंच पर लगा कि कृष्ण अपने बाल स्वरूप की लीला को साक्षात आ गए हों। कथक नृत्य में सांवरे की लीला के दर्शन में मानों यमुना की लहरें अपने प्रिय के चरण छूने को मचल रही हैं। स्वर, लय और ताल की त्रिवेणी के महोत्सव में तबला की तबला से और कभी सितार पर जुगलबंदी से निकलते स्वर और राग-रागनियों का संगीत प्रेमियों ने तो लुत्फ उठाया ही, वृंदावन भी झूम उठा।

फोगला आश्रम के आडीटोरियम में स्वामी हरिदास संगीत एवं नृत्य अकादमी द्वारा आयोजित स्वामी हरिदास संगीत एवं नृत्य महोत्सव में बुधवार को शुरुआत पद्मश्री मालिनी अवस्थी ने अपनी आवाज का जादू बिखेरा। अवस्थी ने राग झींझोटी में ठुमरी गायन करते हुए श्याम मोरी नैया कैसे लागे पार.. सुनाया तो वातावरण झंकृत हो उठा। अवस्थी ठुमरी गायन करते हुए अंखियां रसीली तोरी श्याम.. और फिर दादरा में श्याम तोहे नजरिया लग जाएगी.. सुनाया तो माहौल में एकदम शांति छा गई। संगीतप्रेमियों ने तालियां बजाकर मालिनी अवस्थी के स्वरों का अभिवादन किया। स्वरों के जादू ने हर संगीतप्रेमी को अपने आगोश में ले लिया। इसके बाद द्रुत ख्याल में अवस्थी ने ठा. बांकेबिहारी के प्राकट्योत्सव पर बधाई गायन करते हुए मालिनी अवस्थी ने जशोदा के भए नंदलाल बधावा लाई मालिनया.. सुनाया तालियों की गड़गड़ाहट थमने का नाम नहीं ले रही थी।

पद्मविभूषण बिरजू महाराज के पुत्र और पौत्री कथक नृत्यांगना रागिनी महाराज और दीपक महाराज ने भगवान श्रीकृष्ण को अर्पित प्रस्तुति जाकी महिमा है सुखदाई.. की प्रस्तुति देने के बाद लगातार भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं पर आधारित प्रस्तुतियां दीं। कथक नृत्य में ठुमरी भाव का ²श्य देख संगीतप्रेमी सुधबुध खो बैइे मानों दर्शन खुद को ठगा सा महसूस करने लगे। लखनऊ घराने का पारंपरिक नृत्य जब कथक नृत्य में संगीत प्रेमियों ने देखा तो आडीटोरियम में बैठे संगीतप्रेमियों ने बार-बार तालियां बजाकर कलाकारों का अभिवादन किया। इससे पहले संगीत सम्राट स्वामी हरिदास समिति के कलाकारों ने मंच पर प्रस्तुति देकर संगीतप्रेमियों को मुग्ध कर दिया। इससे पूर्व समारोह का उद्घाटन संत सियाराम बाबा, विधायक पूरनप्रकाश, पूर्व विधायक प्रदीप माथुर, पद्मश्री कृष्णा कन्हाई, आरसी गोयल ने स्वामी हरिदास एवं ठा. बांकेबिहारीजी के चित्रपट के समक्ष दीप प्रज्वलन कर किया। संचालन अर्चना सतीश, संयोजन अनूप शर्मा तथा धन्यवाद ज्ञापन आचार्य गोपी गोस्वामी ने किया। -पद्म विभूषण बिरजू महाराज की गैरमौजूदगी खली

स्वामी हरिदास संगीत एवं नृत्य महोत्सव में प्रस्तुति देने आ रहे पद्म विभूषण बिरजु महाराज मंगलवार की देर शाम अचानक अस्वस्थ हो गए। जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ गया। चिकित्सकों की सलाह पर उन्होंने कार्यक्रम में शामिल होने की योजना निरस्त कर दी। लेकिन, संगीत प्रेमियों के लिए अस्पताल से वीडियो संदेश भेजकर तबीयत खराब होने पर मंच पर मौजूद न होने के लिए दुख जताया।

----

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept