बलिदानियों के स्वजन किए सम्मानित, आंखें हुई नम

संस्कार भारती महानगर के समारोह में आतंकवाद विरोधी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनिदर जीत सिंह बिट्टा ने तीन बलिदानियों के स्वजन को अशोक स्तंभ प्रदान कर ब्रज गौरव की उपाधि से अलंकृत किया। अमर जवान ज्योति के समक्ष दीप और मोमबत्ती जलाकर बलिदानियों को श्रद्धांजलि दी।

JagranPublish: Mon, 27 Dec 2021 06:00 AM (IST)Updated: Mon, 27 Dec 2021 06:00 AM (IST)
बलिदानियों के स्वजन किए सम्मानित, आंखें हुई नम

संवाद सहयोगी, मथुरा : संस्कार भारती महानगर के समारोह में आतंकवाद विरोधी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनिदर जीत सिंह बिट्टा ने तीन बलिदानियों के स्वजन को अशोक स्तंभ प्रदान कर ब्रज गौरव की उपाधि से अलंकृत किया। अमर जवान ज्योति के समक्ष दीप और मोमबत्ती जलाकर बलिदानियों को श्रद्धांजलि दी।

ब्रज कला केंद्र के प्रेक्षागृह में हुए सार्वजनिक अभिनंदन समारोह का शुभारंभ राष्ट्रीय संरक्षक पद्मश्री बाबा योगेंद्र ने मां शारदा के चित्र के समक्ष दीप जलाकर कर किया। बिट्टा ने कहा, सैनिक जब मौत का कफन बांधकर मातृ-भूमि की रक्षा को निकलता है तो फिर वह अंजाम की परवाह नहीं करता। विशिष्ट अतिथि संस्कार भारती के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बांकेलाल गौड़ ने कहा, सरहद के प्रहरी वतन को जीते-मरते हैं। कवि रामेंद्र मोहन त्रिपाठी, डा. रमाशंकर पांडे, जितेंद्र विमल वीर रस की कविता प्रस्तुत की। कार्यक्रम संयोजक जुगलकिशोर अग्रवाल रहे। प्रतियोगिताओं के निर्णायक देवकी केशोरैया, खुशबू उपाध्याय, कल्पना सारस्वत व लोकेंद्र कौशिक को उमा शर्मा, ओमवती अग्रवाल व प्रेम गुप्ता ने स्मृति चिन्ह सम्मानित किया। संचालन चारू सिघल ने किया। ये हुए सम्मानित-- अक्टूबर 1987 को बलिदान देने वाले राइफलमैन प्रथम सिंह की पत्नी भगवान देवी, सेना से रिटायर रोहिताश कुमार, पुत्री मुकेश देवी। 30 जुलाई 2016 को कुपवाड़ा में आतंकियों की फायरिग में बलिदान देने वाले सिपाही विशाल चौधरी की पत्नी मधु देवी,उनके बच्चे हर्ष-खुशी व रिचा चौधरी। 8 नवंबर 2018 को आपरेशन रक्षक में बलिदान देने वाले संतरी नेम सिंह की पत्नी सीमा देवी व उनकी पुत्री नीतू, खुशी व खुशबू।

ये रहे मौजूद--

सुरेंद्र सक्सेना ने, ध्येय गीत अनिल सोनी और सुमन शर्मा, अजय जौहरी, भारत भूषण सिघल, ह्रदेश शर्मा, कृष्णगोपाल सिघल, जयप्रकाश शर्मा, गजेंद्र शर्मा, अतुल शोरावाला, रामकिशोर त्रिपाठी, नरेंद्र खंडेलवाल, वीरेंद्र शोरावाला, विपिन खंडेलवाल, मनीष शोरावाला, अमृत खंडेलवाल, मट्टोमल अग्रवाल, उमेश शोरावाला, शैलेंद्र माहेश्वरी मौजूद रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept