ठा. बांकेबिहारी के अनन्य भक्त थे बाबा रसिका पागल

भजन गायक बाबा चित्र विचित्र ने कहा उनके सद्गुरुदेव रसिक संत भजन

JagranPublish: Wed, 22 Dec 2021 05:04 AM (IST)Updated: Wed, 22 Dec 2021 05:04 AM (IST)
ठा. बांकेबिहारी के अनन्य भक्त थे बाबा रसिका पागल

संवाद सहयोगी, वृंदावन (मथुरा): भजन गायक बाबा चित्र विचित्र ने कहा उनके सद्गुरुदेव रसिक संत भजन सम्राट बाबा रसिका पागल संगीत जगत की बहुमूल्य निधि थे। वे ठा. बांकेबिहारी महाराज के अनन्य भक्त थे। उनके गाए हुए भजनों ने सारी दुनिया में धूम मचाई है।

चामुंडा कालोनी स्थित रसिकधाम में मंगलवार को भजन सम्राट निकुंजवासी बाबा रसिका पागल का दो दिवसीय निकुंजोत्सव आस्था व श्रद्धा के साथ शुरू हुआ। निकुंजोत्सव का शुभारंभ भजन गायक चित्र विचित्र महाराज, संत बाबा मोहिनी शरण एवं प्रमुख संतों के द्वारा ठाकुर ठा. बांकेबिहारी, स्वामी हरिदास व बाबा रसिका पागल महाराज के चित्रपट के पूजन-अर्चन व माल्यार्पण के साथ हुआ। चतु:संप्रदाय के महंत फूलडोल बिहारी दास की अगुवाई में संत-महंतों ने बाबा मोहिनी शरण को आश्रम संचालन का दायित्व संभालने का आशीर्वाद दिया। महंत फूलडोल बिहारी दास, बिहारी दास भक्तमाली ने कहा, भजन सम्राट बाबा रसिका पागल ने भजन गायिकी में जो कीर्तिमान स्थापित किए वे सदैव अजर व अमर रहेंगे। बाबा मोहिनी शरण महाराज, महंत लाड़िली शरण, महंत सुंदर दास ने कहा, भजन सम्राट के न रहने से रस गायिकी के क्षेत्र की रिक्तता की भरपाई असंभव है। भजन गायक नंदू भैया, बाबा चित्र विचित्र व संगीताचार्य देवकीनंदन ने भजनों का गायन कर बाबा महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित की। महंत हेमकांत, डा. गोपाल चतुर्वेदी, वनबिहारी पाठक, डा. सर्वेशदेव द्विवेदी, महंत वेणुगोपाल, महंत जगन्नाथ दास शास्त्री, महंत रामदास शास्त्री, बिहारी दास, राधाकांत शर्मा, बाबा रासबिहारी दास, संजय शुक्ला, नागरी दास, मुखिया किशोरी शरण भक्तमाली, ललिता दास, भरत दास, रसिया बाबा, गोपेश बाबा, देव दास, बाबा श्रवण दास, प्रेमप्रकाश दास, अमरबिहारी दास मौजूद रहे।

विश्व कल्याण के लिए की गई प्रार्थना: पंच यज्ञ प्रचारिणी सभा व सहयोगी संस्थाओं के सहयोग से आयोजित चतुर्वेद परायण महायज्ञ में दूसरे दिन आहुतियां दी गईं। विश्व कल्याण के लिए प्रार्थना की गई।

ब्रह्मा आर्य प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष विपिन बिहारी आर्य, मुख्य अतिथि कोकिलावन के महंत प्रेमदास महाराज ने आहुतियां देकर यज्ञ का शुभारंभ किया। विवेक उपाध्याय ने आयोजन पर प्रकाश डाला। डा. एलपी शर्मा ने कहा कि यज्ञ का संकल्प व उद्देश्य वातावरण को प्रदूषण मुक्त करना है। कन्हैयालाल गोयल, योगेंद्र शर्मा, योगेश, प्रदीप लोहकना, तनिस्क मंगला, अंकित मौजूद रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम